सूजी अथवा दर्दनाक जीभ

आमतौर से सूजी अथवा दर्द दायक जीभ किसी प्रत्यक्ष और स्पष्ट कारण से होती है, हालांकि इसके कुछ कम प्रत्यक्ष कारण भी हैं जिनका आपको ज्ञात होना चाहिए और और जिनका उचित उपचार भी होना चाहिये।

यदि आपको निरंतर दर्द हो रहा है और आपने दुर्घटनावश अपनी जीभ काटी अथवा जलायी नहीं है तो अपने डॉक्टर अथवा डेन्टिस्ट से संपर्क करें।

ऐसी कुछ अन्तर्निहित समस्या हो सकती है जिसका उचित उपचार होना चाहिये, और आपका डॉक्टर अथवा डेन्टिस्ट दर्द-निवारण हेतु आपको कोई परामर्श दे सकता है।

इस पृष्ठ में जीभ दर्द के कुछ अत्यंत सामान्य और असामान्य कारणों का वर्णन किया गया हैं।

आप इस जानकारी को स्वयं के रोग-निदान के लिये प्रयोग न करें – इसे सदैव किसी पेशेवर स्वास्थ्यकर्मी को करने दें।

भौगोलिक जीभ

भौगोलिक जीभ ऐसी स्थिति है जिसमें जीभ पर सफ़ेद अथवा हल्के-रंग के बार्डर से युक्त असामान्य समतल लाल चक्कते हो जाते हैं। इसे भौगोलिक जीभ कहते हैं क्योंकि चक्कतों का आकार मानचित्र-जैसा होता है।

चक्कतों के माप अलग-अलग हो सकते हैं, शुरुआत में यह जीभ के किसी एक भाग में हो सकते हैं और फिर कुछ दिनों, सप्ताहों अथवा महीनों के पश्चात किसी अन्य भाग की ओर सरक सकते हैं।

कुछ व्यक्तियों में कोई आहार अथवा पेयजल लेते समय ये चक्कते सूजे अथवा नाजुक महसूस हो सकते हैं।

कुछ लोगों में समय के साथ इस स्थिति में सुधार हो जाता है जबकि अन्य व्यक्तियों में ये काफी समय तक बने रहते हैं।

यदि आपकी जीभ पर दीर्घस्थायी, बेरंग अथवा दर्दनाक चक्कते हैं तो अपने डॉक्टर अथवा डेन्टिस्ट से संपर्क करें।

भौगोलिक जीभ के कारण स्पष्ट नहीं हैं और इसका कोई विशिष्ट उपचार भी उपलब्ध नहीं है।

हालांकि आप बिना नुस्खे के दर्द-निवारक औषधियाँ लेकर दर्द को नियंत्रित कर सकते हैं – सलाह प्राप्ति हेतु अपने औषधि विक्रेता से बात करें।

खट्टे, मसालेदार अथवा गरम आहार इन्हें और अधिक खराब कर सकते हैं इसलिए इन्हें खाने से आपको बचना चाहिए।

मुखीय छाला

मुखीय छाला (ओरल कंडियासिस) एक संक्रमण है जो कंदीदा नाम के फंगस से होता है।

इससे मुंह में सफ़ेद चक्कते विकसित होते हैं। आपको स्वाद की कमी अथवा अप्रिय स्वाद महसूस हो सकता है। यह पीड़ादायक भी हो सकता है जिससे खाना और पीना कठिन हो जाता है।

मेडियन रंबोयड ग्लोसिटिस एक ऐसी स्थिति है जो मुखीय छाला होने पर आपकी जीभ को प्रभावित कर सकती है। इसमें आपकी जीभ के ऊपरी भाग के बीच में लाल, समतल चक्कता अथवा गांठ बन सकती है और जो पीड़ादायक हो सकती है।

निम्न स्थितियों में आपमें मुखीय छाला होने की संभावना अधिक होती है :

यदि आपके विचार में आपको मुखीय छाला है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यदि इसे बिना उपचार किये छोड़ दिया जाता है तो इसके लक्षण बने रहेंगे और आपको असुविधा होती रहेगी।

मुखीय छाले का उपचार अक्सर जैल अथवा तरल ऐंटिफंगल दवाइयों से किया जाता है, जिसे आप सीधा ही अपने मुंह के भीतर लगा सकते हैं।

आम तौर पर लगभग 7 से 14 दिनों तक दिन में कई बार आपको इसके उपयोग की आवश्यक्ता होगी।

मुंह के छाले (एफ्थस)

मुंह के छाले (एफ्थस) दर्दनाक गोल अथवा अंडाकार फोड़े होते है जो मुंह में कहीं भी हो सकते हैं और प्राय: पर जीभ के नीचे की ओर होते हैं।

कभी कभी मुंह के छाले मुंह में चोट लगने, जैसे की दुर्घटनावश जीभ को काटने या सख्त और तीखी वस्तु खाने के कारण हो जाते हैं।

कभी कभी तनाव, चिन्ता, कुछ विशिष्ट आहार खाने, धूम्रपान बंद करने अथवा हारमोन में बदलाव के कारण यह छाले बार-बार हो जाते हैं – कुछ स्त्रियाँ में उनकी मासिक अवधि के दौरान मुंह में छाले हो जाते हैं।

मुंह के छालो के कारण के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें।

ज्यादातर मुंह के छाले बिना उपचार के एक-दो सप्ताह में स्वयं ही ठीक हो जाते हैं। इस दौरान, बिना नुस्खे की दर्द-निवारक औषधियाँ लेकर और मसालेदार आहार खाने से दूर रह कर, आप खुद की देख-भाल कर सकते हैं।

यदि आपके मुंह के छालों में कुछ सप्ताहों में सुधार नहीं होता है या वह बार-बार हो जाते हैं तो अपने डॉक्टर अथवा डेन्टिस्ट से संपर्क करें।

असामान्य कारण

असामान्य रूप से, जीभ में निम्न कारणों से दर्द हो जाता है :

  • वायरल संक्रमण –ऐसा संक्रमण जिससे हाथ, पैर और मुंह में रोग अथवा ठंडे फोड़े हो जाते हैं
  • विटामिन की कमी और रक्तक्षीणता (एनीमिया) – कभी-कभी सूजी हुई जीभ आईरन डिफिशिएंसी एनीमिया और विटामिन B12 अथवा फ़ोलेट की कमी रक्तक्षीणता का लक्षण हो सकती है
  • ग्लोसोडाइनिया अथवा "मुंह जलने का लक्षण” – जीभ के अग्रभाग पर ज्वलनशील दर्द जो अक्सर निराश व्यक्तियों में होता है
  • ग्लोसोफ़ारिनजील निउरागिया – नाड़ी में जलन के कारण बारंबार अत्यधिक जीभ दर्द अवस्थायें
  • लिचन प्लेनुस – त्वचा की एक दीर्घकालीन स्थिति जो खुजली खराश उत्पन्न करती है और मुंह को भी प्रभावित कर सकती है, जिससे एक सफ़ेद लेसदार पैटर्न और जीभ पर दर्दनाक चकक्ते बनते हैं
  • बेहसेत का रोग – एक दुर्लभ स्थिति जो रक्त कोशिकाओं में सूजन उत्पन्न करती है और मुंह में दर्दनाक छाले भी बना सकती है
  • पेमफ़िगस वलगरिस – एक दुर्लभ और गंभीर स्थिति जिसमें त्वचा, मुंह के भीतर, नाक, गले, गुदा और गुप्तांगो में दर्दनाक फफोले हो जाते हैं
  • दवाइयां – मुंह के छाले नॉन-स्टेरोइडल एंटी-इंफ़लेमेटरी ड्रग्स (NSAIDs) और बीटा-ब्लोकर दवाइयों के साइड इफैक्ट हो सकते हैं; माउथवॉश भी कुछ व्यक्तियों में जीभ का दर्द उत्पन्न कर सकते हैं
  • मोएल्लेर ग्लोस्सिटिस – एक प्रकार की जीभ की सूजन
  • जीभ का कैंसर – यद्यपि यह दुर्लभ है

यदि आपके शरीर पर अव्यक्त स्थानों और जीभ पर भी छाले होते हैं तो आपको पेमफ़िगस वलगरिस अथवा लिचन प्लेनुस जैसे त्वचिय रोग हो सकते हैं।

NHS Logo
शीर्ष पर लौटें