क्या आप कोरोना वायरस को लेकर चिंतित हैं? इसके बारे में जानकारी हासिल करने के लिए हमारे कोरोनावायरस हब पर जाएँ.

×
Your.MD के सभी लेखों (A-Z) की समीक्षा प्रमाणित डॉक्टरों द्वारा की जाती है

Polyhydramnios (too much amniotic fluid)

पॉलीहाइड्रमनिओस(Polyhydramnios) गर्भावस्था की एक सामान्य समस्या है। इसका मतलब है कि अजन्मे बच्चे(भ्रूण) के आसपास एमनियोटिक द्रव की अधिक मात्रा है।

आपकी गर्भावस्था के 30 सप्ताह के बाद एक प्रसवकालीन परामर्श के दौरान आपके स्वास्थ्य विशेषज्ञ द्वारा द्रव की असामान्य मात्रा पर संदेह किया जा सकता है और इसकी निगरानी और जांच की जानी चाहिए।

पॉलीहाइड्रमनिओस(Polyhydramnios) का कारण अक्सर ज्ञात नहीं होता है, लेकिन कभी-कभी बच्चे के विकास के साथ एक समस्या का संकेत मिलता है (कारण के लिए नीचे देखें)। हालांकि, पॉलीहाइड्रमनिओस की समस्या वाली अधिकांश महिलाएं स्वस्थ शिशुओं को जन्म देती हैं।

यदि आप गर्भवती हैं और महसूस करती हैं कि आपका पेट बहुत जल्दी (अक्यूट पॉलीहाइड्रमनिओस) बढ़ रहा है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। ऐसा अचानक से होना दुर्लभ है, लेकिन यह भ्रूण(अजन्मे बच्चे) के साथ असामान्यता का संकेत दे सकता है और समय से पहले जन्म देने के आपके जोखिम को बढ़ा सकता है।

इस पृष्ठ में निम्न शामिल है:

  • पॉलीहाइड्रमनिओस(Polyhydramnios) का परीक्षण कैसे किया जाता है?
  • इसके क्या कारण हैं?
  • आपको किन जोखिमों से अवगत होना चाहिए?
  • इसकी जांच और प्रबंधन कैसे की जाती है?

पॉलीहाइड्रमनिओस का परीक्षण:

पॉलीहाइड्रमनिओस की समस्या वाली अधिकांश महिलाओं में, अतिरिक्त तरल पदार्थ धीरे-धीरे बनता है। गर्भावस्था के 30 सप्ताह के बाद, इस अतिरिक्त तरल पदार्थ के बारे में आपके डॉक्टर या प्रसूति-विशेषज्ञ द्वारा आपकी प्रसव पूर्व परामर्श के दौरान ध्यान दिया जाना चाहिए।

दुर्लभ मामलों में, जब पॉलीहाइड्रमनिओस बहुत जल्दी विकसित होता है, तो अतिरिक्त द्रव गर्भावस्था में पहले स्पष्ट हो सकता है, या 18-22 सप्ताह में विस्तृत स्कैन के समय नोट किया जा सकता है।

यदि बढ़े हुए एम्नियोटिक द्रव का संदेह है, तो आपको एक अल्ट्रासाउंड स्कैन के लिए भेजा जा सकता है, ताकि भ्रूण के आसपास के एम्नियोटिक द्रव की गहराई को मापा जा सके।

पॉलीहाइड्रमनिओस(Polyhydramnios) के कारण:

अक्सर, पॉलीहाइड्रमनिओस के लिए कोई कारण नहीं पाया जाता है। हालाँकि, इसे निम्नलिखित में से किसी एक के साथ जोड़ा जा सकता है:

  • जुड़वाँ बच्चों को जन्म देने वाली माँ(जुड़वां बच्चों को जन्म देने के बारे में पढ़ें)।
  • वो माँ जिसको मधुमेह है, जिसमें जेस्टेशनल डायबिटीज़(गर्भावस्था से जुड़ी डायबिटीज़) भी शामिल है। कभी-कभी, यदि मधुमेह ही कारण होता है, तो बच्चा का विकास अपेक्षा से अधिक होगा।
  • बच्चे की आंत(आंत एट्रेसिया नामक एक स्थिति) के हिस्से में रुकावट, जो उन्हें एमनियोटिक द्रव की सामान्य मात्रा को अवशोषित करने से रोकता है। बच्चे के जन्म के बाद आंत एट्रेसिया में अक्सर ऑपरेशन की आवश्यकता होती है(शिशुओं में (गट अट्रेसिया) के बारे में अधिक पढ़ें)।
  • यदि मां को रीसस(rhesus disease) की बीमारी है, जहां मां के रक्त में एंटीबॉडी प्लेसेंटा को पार करते हैं, कभी-कभी भ्रूण में एनीमिया पैदा करते हैं।
  • प्लेसेंटा पर रक्त वाहिकाओं की वृद्धि, जिसे कोरियोन्जिओमा(Chirioangioma) कहा जाता है।
  • बच्चे के शरीर के विशिष्ट क्षेत्रों में तरल पदार्थ का निर्माण, जैसे कि पेट और छाती की कैविटी , जिसे हाइड्रोप्स फेटालिस(hydrops fetalis) कहा जाता है
  • भ्रूण के साथ एक आनुवंशिक समस्या

पॉलीहाइड्रमनिओस(Polyhydramnios) से होने वाला जोखिम:

पॉलीहाइड्रमनिओस होने का मतलब है कि आपके अजन्मे बच्चे का जन्म से कोई दोष होने का थोड़ा अधिक जोखिम है, खासकर अगर तरल पदार्थ का निर्माण गंभीर रूप से अधिक है। आपको अन्य समस्याओं जिन्हें अतिरिक्त तरल पदार्थ के साथ जोड़ा जा सकता है के बारे में स्वास्थ्य कर्मियों से चर्चा करनी चाहिए।

हालांकि, घबराएं नहीं - पॉलीहाइड्रमनिओस के साथ अधिकांश महिलाएं स्वस्थ बच्चों को जन्म देती हैं।

आपका प्रसव निम्नलिखित तरीकों से प्रभावित हो सकता है:

  • गर्भ पर पड़ रहे अतिरिक्त दबाव के कारण आप समय से पहले प्रसव में जा सकती हैं
  • आपका बच्चा गलत स्थिति में हो सकता है और आपको सिजेरियन(Caesarean) सेक्शन की आवश्यकता पड़ सकती है
  • अगर आपका बच्चा गलत पोज़ीशन में है, तब झिल्ली फट जाती है और उम्ब्रिकल कॉर्ड(गर्भनाल) बर्थ कनाल में चली जाती है(एक बढ़ी हुई गर्भनाल के बारे में और पढ़ें)
  • आपको प्रसव के बाद रक्तस्राव का खतरा बढ़ सकता है

जांच और नियंत्रण कैसे किया जाता है?

पॉलीहाइड्रमनिओस वाली अधिकांश महिलाओं को एक कारण की जांच कराने और किसी एक कारण की पहचान कराने और गर्भकालीन मधुमेह की जांच करने के लिए एक अल्ट्रासाउंड जांच और एक ग्लूकोज सहिष्णुता परीक्षण(glucose tolerance test) की आवश्यकता होगी।

यदि आपकी स्थिति गंभीर नहीं है, तो यह डॉक्टर के क्लीनिक में भी किया जा सकता है और आपको अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड स्कैन के बारे में और पढ़ें।

यदि अल्ट्रासाउंड स्कैन में भ्रूण के साथ कोई समस्या दिखाई देती है, तो डॉक्टर इस बात पर चर्चा कर सकते हैं कि क्या आप भ्रूण में क्रोमोसोमल या आनुवंशिक समस्याओं का परीक्षण करने के लिए एक एमनियोसेंटेसिस(जहां एक सुई का उपयोग करके तरल पदार्थ का नमूना निकाला जाता है) करवाना चाहते हैं।

प्रसव के दौरान और बाद में

डॉक्टर यह सलाह दे सकते हैं कि आप बच्चे को अस्पताल में जन्म दें, और प्रसव में शिशु की हृदय गति की निगरानी रखी जाए।

यदि आपका बच्चा जन्म के बाद सामान्य दिखाई देता है, तो डॉक्टर आंतरिक समस्याओं को जाँचने के लिए आपके बच्चे के गले के नीचे एक ट्यूब डालने का सुझाव दे सकते हैं, जैसे कि उनके गले(Gullet) के विकास के साथ एक समस्या(Oesophageal Atresia)।

आपके बच्चे के जन्म के बाद की सामान्य जानकारी पढ़ें।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk

क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

ऊपर जाएँ

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।