पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम

परिचय

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) एक आम स्थिति है जो एक महिला के अंडाशय की कार्यप्रणाली को प्रभावित करती है।

इस स्थिति की तीन मुख्य विशेषताएं हैं:

  • अल्सर जो आपके अंडाशयों में विकसित होता है (पॉलीसिस्टिक ओवरी)
  • आपके अंडाशय नियमित रूप से अंडे (ओव्यूलेट) नहीं छोड़ते हैं
  • आपके शरीर में एंड्रोजन नामक “पुरूष हार्मोनों” का उच्च स्तर होना

यदि आपके अंदर इनमें से कम से कम दो विशेषताएं हैं तो आमतौर पर आपका PCOS के लिए रोग-निदान किया जाता है।

इसके बारे में और पढ़ें पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम का रोग-निदान करना.

पॉलीसिस्टिक ओवरी क्या होती हैं?

पॉलीसिस्टिक ओवरी में बड़ी संख्या में 8 mm तक आकार के हानिरहित सिस्ट या अल्सर होते हैं। ये सिस्ट अल्प-विकसित कोषों में होते हैं जिनमें अंडे विकसित होते हैं। अक्सर, PCOS में कोष अंडे छोड़ने में असमर्थ होते हैं, इसका मतलब डिंबोत्सर्जन या ओवल्यूशन नहीं होता है।

चिह्न और लक्षण

PCOS के लक्षण अमतौर पर आपकी किशोरावस्‍था के आखिर में या बीसवें वर्ष की शुरूआत में स्पष्ट होते हैं। इनमें शामिल हो सकते हैं:

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के साथ जीवन में बाद में समस्याएं बढ़ने के जोखिम जुडे़ हैं, जैसे टाइप 2 डायबिटीज और कॉलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर।

यदि आपके विचार में आपको PCOS है तो आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

इसके बारे में और पढ़ें पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के लक्षण.

यह क्यों होता है

PCOS के सही कारण ज्ञात नहीं है, लेकिन ये परिवारों में निरंतर जारी रहता है।

यह स्थिति शरीर में असामान्य हार्मोन स्तरों से जुड़ी है, जिसमें इंसुलिन का उच्च स्तर होना शामिल है।

इंसुलिन एक हार्मोन है जो शरीर में शुगल के स्तर को नियंत्रित करता है। PCOS से ग्रस्त बहुत सी महिलाओं के शरीर में बहुत अधिक मात्रा में इंसुलिन होता है, जो टेस्टोस्टेरोन जैसे हार्मोनों के उत्पादन और गतिविधियां बढ़ने में योगदान करता है। वजन का बढ़े हुए होना आपके शरीर में पैदा होने वाले इंसुलिन की मात्रा में वृद्धि करता है।

इसके बारे में और पढ़ें पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के कारण.

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम का उपचार करना

PCOS के लिए कोई इलाज नहीं है, लेकिन लक्षणों का उपचार किया जा सकता है।

यदि आप PCOS से पीड़ि‍त हैं और अधिक वजन है तो वजन कम करना और एक स्वस्थ आहार लेना कुछ लक्षणों में कमी करने में सहायक हो सकता है।

अत्यधिक बालों का उगना, अनियमित मासिक धर्म और प्रजनन क्षमताओं जैसे लक्षणों का उपचार करने के लिए दवाइयां भी उपलब्ध हैं।

य‍दि प्रजनन संबंधी दवाएं अप्रभावी रहती हैं, एक सामान्य सर्जिकल प्रक्रिया जिसे लेप्रोस्कोपिक ओवेरियन ड्रिलिंग (LOD) कहते हैं, की सिफारिश की जा सकती है। इसमें अंडाशय में अल्सर को नष्ट करने के लिए उष्मा या लेजर का इस्तेमाल करना शामिल है जो टेस्‍टोस्टेरोन जैसे एंड्रोजन पैदा करता है।

इस उपचार के साथ, PCOS से पीड़ि‍त अधिकतर महिलाएं गर्भधारण करने में समर्थ होती हैं।

इसके बारे में और पढ़ें पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम का उपचार करना.

लक्षण

Try checking your symptoms with our AI-powered symptom checker.

हमारे AI-शक्तियुक्त लक्षण चैकर से अपने लक्षणों की जांच करने का प्रयास करें।

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) के लक्षण अमतौर पर आपकी किशोरावस्‍था के आखिर में या बीसवें वर्ष की शुरूआत में स्पष्ट होते हैं।

PCOS से पीड़ि‍त सभी महिलाओं में सभी लक्षण नहीं होते हैं। प्रत्येक लक्षण हल्के से गंभीर होने तक भिन्नता लिए हो सकता है। ज्यादातर महिलाओं में, केवल मासिकधर्म की समस्याओं या गर्भधारण करने में असफलता के लक्षण होते हैं।

PCOS के सामान्य लक्षणों में शामिल हैं:

  • अनियमित मासिक-धर्म या मासिक-धर्म बिल्कुल नहीं होना
  • गर्भधारण में कठिनाई (अनियमित डिंबोत्सर्जन या ओव्यूलेट करने में विफल रहने के कारण)
  • अत्यधिक बाल उगना (अतिरोमता) - अक्सर चेहरे, वक्ष, कमर या नितंबों पर
  • वजन बढ़ना
  • बालों का पतला होना और सिर पर बाल उड़ना
  • तैलीय त्वचा या मुँहासे

यदि आपमें इनमें से कोई लक्षण हैं या संदेह है कि आपको PCOS हो सकता है तो आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

प्रजनन समस्याएं

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम महिला बांझपन के सबसे आम कारणों में से एक है। बहुत सी महिलाओं को उस समय पता लगता है कि उन्हें PCOS है जब वे गर्भधारण करने की कोशिश करती हैं और असफल रहती हैं।

प्रत्येक मासिक धर्म चक्र के दौरान अंडाशय एक अंडाणु (डिंब) को गर्भाशय में छोड़ते हैं। यह प्रक्रिया ओव्यूलेशन कहलाती है और आमतौर पर महीने में एक बार होती है। PCOS से पीड़ि‍त महिलाएं आमतौर पर डिंबउत्सर्जन करने में असफल होती हैं या अनियमित डिंबउत्सर्जन होता है, जिसका मतलब है मासिक-धर्म अनियमित या बिल्कुल नहीं होना और गर्भधारण करना मुश्किल होता है।

बाद के जीवन में जोखिम

PCOS से पीड़ि‍त होना बाद के जीवन में अन्य स्वास्थ्य समस्याएं पैदा होने के जोखिम को बढ़ा देता है। उदाहरण, PCOS से पीड़ि‍त महिलाओं में इनके विकसित जाखिम बढ़ जाते हैं:

  • टाइप 2 डायबिटीज - एक स्थिति जो किसी व्यक्ति के रक्त शर्करा लेवल को बहुत उच्च होने का कारण बनती है
  • अवसाद और मूड बदलते रहना, क्योंकि PCOS के लक्षण आपके आत्मविश्वास और स्व-प्रतिष्ठा को प्रभावित कर सकते हैं
  • उच्च रक्तचाप और उच्च कालेस्ट्रॉल, जो हृदय रोग और स्ट्रोक का कारण बनती है
  • महिलाएं जिनका वजन अधिक है उनमें नींद अश्वसन विकसित हो सकता है - एक स्थिति जो निद्रा के दौरान श्वसन में बाधा का कारण बनता है

महिलाएं जिनमें अनेक वर्षों तक मासिक-धर्म अनुपस्थित या बहुत अनियमित (एक वर्ष में तीन या चार मासिक-धर्म से कम) होता है उनमें औसत से अधिक - गर्भ अस्तर कैंसर (अन्तगर्भाशयी कैंसर) होने का जोखिम होता है।

परंतु, अन्तगर्भाशयी कैंसर होने के अवसर अभी कम होते हैं और मासिक-धर्म को नियमित करने के उपचारों जैसेगर्भनिरोधक गोली या एक अंतर्गर्भाशयी प्रणाली(IUS) उपयोग करके न्यूनतम किया जा सकता है।

कारण

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) का सटीक कारण ज्ञात नहीं है, परंतु यह माना जाता है कि यह असाान्य हार्मोन स्तरों से जुड़ा हुआ है।

इंसुलिन के प्रति प्रतिरोधकता

इंसुलिन एक हार्मोन है जो रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए अग्नाशय द्वारा उत्पन्न किया जाता है। यह ग्लुकोज को रक्त से कोशिकाओं में ले जाने में मदद करता है, जहां ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए इसके टुकड़े होते हैं।

इंसुलिन प्रतिरोधकता का मतलब है शरीर के ऊतक इंसुलिन के प्रभावों के प्रति प्रतिरोधक हैं। इसलिए शरीर को क्षतिपूर्ति के लिए अतिरिक्त इंसुलिन पैदा करना पड़ता है।

इंसुलिन का उच्च स्तर अंडाशयों द्वारा बहुत अधिक टेस्टोस्टेरोन हार्मोन उत्पन्न करने का कारण बनता है, जो फोलिकल्स (अंडाशयों में कोष जहां अंडा विकसित होता है) के विकास में हस्तक्षेप करता है और सामान्य डिंबोत्सर्जन को रोकता है।

इंसुलिन की प्रतिरोधकता वजन बढ़ने का भी कारण हो सकती है, जो PCOS के लक्षणों को और भी खराब बना सकता है क्योंकि अतिरिक्त वसा शरीर को और अधिक इंसुलिन पैदा करने का कारण बनता है।

हार्मोन असंतुलन

PCOS से ग्रस्त बहुत सी महिलाओं में विभिन्न हार्मोनों का असंतुलन पाया जाता है, जिनमें शामिल हैं:

  • टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का बढ़ा हुआ स्तर - एक हार्मोन जिसे अक्सर पुरूष हार्मोन माना जाता है, यद्यपि सभी महिलाएं सामान्यत: थोड़ी मात्रा में इसका उत्पादन होता है
  • ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन (LH) का बढ़ा हुआ स्तर- एक हार्मोन जो डिंबोत्सर्जन को प्रेरित करता है, परंतु यदि स्तर बहुत अधिक हो तो अंडाशयों पर असामान्य प्रभाव डाल सकता है
  • सेक्स हार्मोन बाइंडिंग ग्लोब्यूलिन (SHBG) का निम्न स्तर - एक हार्मोन जो टेस्टोस्टेरोन के प्रभाव को कम करने में मदद करता है
  • प्रोलेक्टिन का बढ़ा हुआ स्तर (PCOS से ग्रस्त केवल कुछ महिलाओं में) - एक हार्मोन जो गर्भावस्था में स्तन ग्रंथियों को दुग्ध पैदा करने के लिए उत्प्रेरित करता है

ये हार्मोन संबंधी बदलाव क्यों होते हैं इसका सही कारण ज्ञात नहीं है। यह सुझाव दिया जाता है कि समस्या अंडाशय के अंदर ही, इन हार्मोनों को पैदा करने वाली अन्य ग्रं‍थियों में, या मस्तिष्क के उस हिस्से में हो सकती है जो इनके उत्पादन को नियंत्रित करता है। ये बदलाव इंसुलिन की प्रतिरोधकता के कारण भी हो सकते हैं।

आनुवांशिकी

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) कभी-कभी परिवारों में चलता रहता है। यदि किसी रिश्तेदार, जैसे आपकी माता, बहन या मौसी को PCOS है तो आपमें इसके विकसित होने का जोखिम अक्सर बढ़ जाता है।

यह सुझाव दिया जाता है कि PCOS की आनुवंशिक कड़ी हो सकती है, यद्यपि इस स्थिति से जुड़े विशेष जीन की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है।

यदि आपके अंदर कोई विशेष पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के लक्षण (PCOS) हैं तो आपके डॉक्टर से मुलाकात करें।

यदि आपके अंदर कोई विशेष पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के लक्षण (PCOS) हैं तो आपके डॉक्टर से मुलाकात करें।

आपके डॉक्टर अन्य कारणों का पता लगाने के लिए आपके लक्षणों के बारे में पूछेंगे और आपके रक्तचाप की जाँच करेंगे।

आपके डॉक्टर या स्पेशलिस्ट इसके बाद एक अल्ट्रासाउंड स्कैन की सिफारिश कर सकते हैं, जो दर्शा सकता है कि क्या आपके अंडाशय (पोलिससिस्टिक ओवरी) में अल्सरों की संख्य बहुत अधिक है। ये सिस्ट अल्प-विकसित कोष होते हैं जिनमें अंडे विकसित होते हैं।

आपको एक रक्त परीक्षण की जरूरत हार्मोन स्तरों को मापने के लिए और डायबिटीज या एक उच्च कोलेस्ट्रॉल लेवल की स्क्रीनिंग करवाने के लिए भी जरूरत हो सकती है।

रोग-निदान मापदंड

आमतौर पर एक PCOS का रोग‍-निदान किया जाता है यदि उसी लक्षण के अन्य दुर्लभ कारण पता कर लिए जाते हैं और अपन निम्नलिखित तीन मापदण्डों में कम से कम दो को पूरा करते हों:

  • आपके मासिक-धर्म अनियमित और बेतरतीब होते हैं - यह संकेत करता है कि आपके अंडाशय नियमित रूप से अंडा नहीं छोड़ते (ओव्यूलेट)
  • रक्त परीक्षण दर्शाते हैं कि आपमें “पुरूष हार्मोनों” (एंड्रोजन) जैसे टेस्टोस्टेरॉन का स्तर बहुत उच्च है (या कभी-कभी रक्त परीक्षण सामान्य होते हुए भी पुरूष हार्मोनों की अधिकता के संकेत)
  • स्कैन दर्शाता है कि आपकी पॉलीसिस्टिक ओवरी हैं

क्योंकि PCOS का रोग-निदान करने के लिए इनमें से दो मौजूद होने की जरूरत है, आपको स्थिति की पुष्टि होने से पहले एक अल्ट्रासाउंड स्कैन और रक्त परीक्षण करवाना आवश्यक नहीं हे।

एक स्पेशलिस्ट रैफरल

यदि आपका PCOS के लिए रोग-निदान किया जाता है, आपके डाक्टर द्वारा आपका उपचार किया जा सकता है या एक स्पेशलिस्ट – एक स्त्रीरोग विशेषज्ञ (महिला प्रजनन तंत्र की स्थितियों का उपचार करने में विशेषज्ञ) या एक एंडोक्राइनोलॉजिस्ट (हार्मोन समस्याओं का उपचार करने में विशेषज्ञ) को रेफर किया जा सकता है।

आपके डॉक्टर या विशेषज्ञ आपके लक्षणों का प्रबंधन करने के बेहतर तरीके पर आपके साथ चर्चा करेंगे। वे जीवनशैली में बदलावों की सिफारिश करेंगे, और आपके लिए कोई आवश्यक दवा की शुरूआत करेंगे।

फॉलो-अप

यदि आपको PCOS के लिए रोग-निदान किया जाता है तो आपकी आयु और वजन जैसे कारकों के आधार पर आपको अपने रक्तचाप और डायबिटीज की वार्षिक जाँच करवाने की पेशकश की जा सकती है।

उपचार

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) का इलाज नहीं हो सकता, लेकिन लक्षणों का प्रबंधन किया जा सकता है।

उपचार विकल्पों में अन्तर हो सकता है क्योंकि पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) से ग्रस्त एक व्यक्ति में लक्षणों की श्रृंखला हो सकती है, या केवल एक हो सकता है।

मुख्य उपचार विकल्पों की अधिक विस्तार के साथ नीचे चर्चा की गई है।

जीवनशैली में परिवर्तन

अधिक वजन वाली महिलाओं में, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) के कारण लक्षणों और लंबी अवधि की स्वास्थ्य समस्याएं पैदा होने के समग्र जोखिम में अतिरिक्त वजन को कम करके काफी सुधार किया जा सकता है। केवल 5% वजन कम करना PCOS में एक बहुत महत्वपूर्ण सुधार कर सकता है।

आप अपना बॉडी मास इंडेक्स (BMI) की गणना करके ज्ञात कर सकते हैं कि क्या आपका वजन स्वस्थ है, जो आपकी ऊंचाई के संबंध में आपके वजन का मापन है। एक सामान्य BMI 19-25 है।

आप नियमित रूप से व्यायाम करने और एक स्वस्थ संतुलित आहार लेने के द्वारा वजन कम कर सकते हैं। आपके आहार में बहुत से फल और सब्जियों, साबुत अनाज (जैसे साबुत अनाज के ब्रेड, साबुत अन्न और ब्राउन राइस), चर्बी रहित मांस, मछली और चिकन होने चाहिएं। आपके डॉक्टर आमतौर पर आपको एक आहार विशेषज को रेफर कर सकते हैं जो आपको विशेष आहार सलाह प्रदान कर सकता है।

दवाइयां

PCOS से जुड़े विभिन्न लक्षणों का उपचार करने के लिए अनेक दवाइयां उपलब्ध हैं। इन्हें नीचे वर्णित किया गया है।

मासिक-धर्म अनियमित या नहीं होना

नियमित मासिक-धर्म उत्प्रेरित करने के लिए गर्भनिरोधक गोली की सिफारिश की जा सकती है या प्रोजेस्टेरोन गोलियों के द्वारा मासिक-धर्म प्रेरित किया जा सकता है (जो नियमित या अंतरालों में दी जा सकती है)। यह गर्भाशय भित्ती कैंसर (अन्त:गर्भाशयी कैंसर) के लंबी अवधि के जोखिम में भी कमी करता है जो नियमित मासिक-धर्म नहीं होने से जुड़ा है। एक IUS (अन्त: गर्भाशयी प्रणाली) भी इस जोखिम को कम करेगी लेकिन इसके कारण मासिक-धर्म नहीं होंगे।

प्रजनन समस्याएं

इस उपचार के साथ, PCOS से पीड़ि‍त अधिकतर महिलाएं गर्भधारण करने में समर्थ होती हैं।

क्लोमिफेन और मेटीफोर्मिन नाम की दवाइयां आमतौर पर PCOS ग्रस्त उन महिलाओं के लिए पहला उपार हैं जो गर्भधारण के लिए प्रयास कर रही हैं। ये दवाइयां अंडाशयों से एक मासिक रूप से अंडा छोड़ने (ओव्ल्यूशन) को प्रोत्साहित करती हैं। आपको एक या दोनों दवाइयां साथ लेना प्रस्तावित किया जा सकता है।

यदि आप क्लोमिफेन और/या मेटफोर्मिन लेने के बावजूद भी गर्भधारण करने में असमर्थ हैं, गोनाडोट्रोफिन्स नाम की एक अलग प्रकार की दवाई की सिफारिश की जा सकती है। परंतु, इसके साथ एक जोखिम है यह दवा आपके अंडाशय को अति उत्प्रेरित कर सकती है और परिणाम अनेक गर्भधारण के रूप में हो सकता है।

गोनाडोट्रोफिन्स का एक विकल्प सर्जिकल प्रक्रिया है जिसे लेप्रोस्कोपिक ओवेरियन ड्रिलिंग (नीचे देखें) कहा जाता है। यह उपचार गोनाडोट्रोफिन्स उपयोग करने समान ही प्रभावी है, लेकिन यह आपके अनेक गर्भधारण करने के जोखिम को नहीं बढ़ाता है।

यह संभावना है कि इनमें से अधिकांश उपचारों का उपयोग करने से पहले एक प्रजनन विशेषज्ञ यह जांच करेगा कि आपके फैलोपियन ट्यूब अवरुद्ध नहीं हैं क्योंकि यह उन्हें काम करने से रोक देगा।

अवांछित बालों का उगना और बालों की क्षति

अत्यधिक बालों का उगना (हिरसुटिज्म) और बालों के उड़ने (ए‍लोपेसिया) के नियंत्रण करने की दवाइयों में शामिल हैं:

  • विशेष प्रकार की संयोजन में मुख से ली जाने वाली गर्भनिरोधक गोलियां (जैसे को-साइपरिनडिओल, डायनेट. मारवेलोन और यास्मिन)
  • साइप्रोटेरोन एसिटेट
  • स्पाइरोनोलेक्टोन
  • फ्लुटामाइड
  • फिनास्टेराइड

यह दवाइयां “पुरूष हार्मोनों” जैसे टेस्टोस्टेरोन के प्रभावों को रोकने के द्वारा कार्य करती हैं और कुछ अंडाशयों द्वारा इन हार्मोनों के उत्पादन का दमन भी करती हैं।

एक क्रीम [एफ्लोरिनथाइन] का उपयोग भी चेहरे पर अवांछित बालों के उगने की गति को धीमा करने के लिए किया जा सकता है। यह क्रीम बालों को नहीं निकालती है या चेहरे पर अवांछित बालों का इलाज नहीं करती हैख्‍ इसलिए इसका उपयोग बालों को हटाने वाले उत्पादों के साथ करने की इच्छा कर सकते हैं। इन दवाओं के साथ उपार करने के चार से आठ सप्ताह बाद सुधार दिखाई दे सकते हैं।

यदि आपके अवांछित बाल उगे हुए हैं तो आप संभवतः अतिरिक्त बालों को हटाने की भौतिक विधि (जैसे प्लकिंग, शेविंग, थ्रेडिंग, क्रीम या लेजर हटाने) का उपयोग करना चाहेंगे।

अन्य लक्षण

PCOS के साथ जुड़ी कुछ अन्य समस्याओं का उपचार करने में भी दवाइयों का उपयोग किया जा सकता है, जिनमें शामिल हैं:

  • वजन कम करने की दवा, जैसे ओरलिस्टेट, यदि आप अधिक वजन से ग्रस्त हैं
  • कॉलेस्ट्राल कम करने की दवा (स्टेटिन), यदि आपके रक्त कॉलेस्ट्राल का उच्च स्तर है,
  • मुंहासों का उपचार

सर्जरी

एक छोटी सी सर्जिकल प्रक्रिया जिसे लेप्रोस्कोपिक ओवेरियन ड्रिलिंग (LOD) कहा जाता है PCOS से जुड़ी प्रजनन समस्याओं के लिए एक उपचार विकल्प हो सकता है।.

एक जनरल एनेस्थेटिक के अंतर्गत, आपका डॉक्टर आपके उदर (पेट) के निचले हिस्से में एक छोटा सा कट लगाएंगे और आपके उदर के अंदर तक एक लंबी, पतली माइक्रोस्कोप डालेंगे जिसे माइक्रोस्कोप कहा जाता है। इसके बाद अंडाशयों का उष्मा या लेजर का इस्तेमाल करके उपचार किया जाता है जो एंड्रोजन (पुरूष हार्मोन) पैदा करने वाले ऊतकों को नष्ट करता है।

लेप्रोस्कोपिक ओवेरियन ड्रिलिंग को टेस्टोस्टेरोन और ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन (LH) के स्तरों को कम करने और फालिकल-प्रेरक हार्मोन (FSH) को स्तर बढ़ाने के लिए किया जाता है। यह आपके हार्मोन असंतुलन को ठीक करता है और आपके अंडाशयों की सामान्य कार्यप्रणाली को पुर्नस्थापित कर सकता है।

NHS Logo
शीर्ष पर लौटें