लिंग का आकार

पुरुषों को सर्वत्र यह चिंता रहती है कि उनका लिंग आपेक्षित आकार से छोटा है अथवा यह अपनी प्रेमिका को संतुष्ट नहीं कर पाएगा। लेकिन शोध ने यह दर्शाया है कि अधिकांश पुरुष अपने आत्मसम्मान और आनन्द के आकार को वास्तविकता से कम आँकते है।

पुरुष ने सदैव अपने लिंग के आकार को अत्यधिक महत्वता दी है। कई संस्कृतियाँ लिंग के आकार को पुरुषत्व से जोड़ती हैं। सभी युगों में यह कौमार्य, प्रजनन, शक्ति, क्षमता और साहस जैसे गुणों का प्रतीक रहा है।

अपने लिंग के आकार को बढ़ाने के लिए कुछ पुरुष कई प्रकार के प्रयास करते हैं। साधुओं के रूप में पहचाने जाने वाले भारतीय रहस्यवादियों के बारे में यह जाना जाता है कि अपने लिंग की लंबाई बढ़ाने के लिए वे कम उम्र से ही उस पर वजन लटकाना आरंभ कर देते हैं, जबकि ब्राज़ील के टोपिनामा आदिवासियों ने अपने लिंग को बड़ा करने के लिए उसे जहरीले सांपों से कटवाने की प्रथा का समर्थन किया है।

वास्तव में अपर्याप्त महसूस करना किसी पुरुष के आत्मसम्मान को हानि पहुंचा सकता है एवं उसके सामाजिक जीवन को प्रभावित कर सकता है। इससे सार्वजनिक मूत्रालयों अथवा सांझे शावर कक्षों का प्रयोग न कर पाने से लेकर अंतरंग संबंधों से बचना तक की समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

विश्व भर में कंपनियों ने इस चिंता का शोषण किया है एवं गोलियां, लिंग वर्धन और अन्य लिंग बढ़ाने वाले उत्पादों को यह कहते हुए बेचा है कि “अपने पुरुषत्व की लंबाई और परिधि को शीघ्र बढ़ाएं अथवा अपना धन वापिस पायें!”।

अपने लिंग को नापना

अधिकांश पुरुषों में, उनके बचपन के दौरान ही, लिंग के बारे में धारणा बन जाती है। बड़े होते हुए, वे अपने बड़े भाई, मित्र अथवा पिता का लिंग देख सकते हैं और मानसिक रूप से उसकी तुलना अपने स्वयं के लिंग से कर सकते हैं।

किशोरावस्था के दौरान अन्य व्यक्तियों के कटाक्ष अथवा किसी यौन साथी द्वारा की गई टिप्पणियों के कारण लिंग के आकार के बारे में डर और चिंता भी उत्पन्न हो सकती है।

हालांकि, पुरुषों में उनके लिंग के बारे में अक्सर गलत दृष्टिकोण होता है, यौन स्वास्थ्य विशेषज्ञ डा. डैविड डेलविन कहते हैं। “जब आप अपने स्वयं के इन्‍द्रिय पर नीचे देखते हैं, तो यह वास्तविक आकार से छोटा दिखता है”, वे कहते हैं। “इसके विपरीत, जब आप कपड़े बदलने वाले कक्षों अथवा शावर कक्षों में अन्य लोगों की ओर नज़र दौड़ाते हैं, तो आपको उनका एक साइड का दृश्य देखने को मिलता है। इसलिए आमतौर से वे आपके लिंग की तुलना में लंबे प्रतीत होते हैं।”

अपने लिंग को दूसरों की नज़र से देखने के लिए, एक पूर्ण-लंबाई के दर्पण के सामने स्वयं को नंगा देखें। ऊपर से देखे गए आकार की तुलना में आपका लिंग लंबा और बड़ा दिखाई देगा।

किसी अवस्था में, अधिकांश लड़के अपने लिंग की लंबाई जानने के लिए एक फुटा अथवा नापने की टेप का प्रयोग करते हैं। डा. डेलविन कहते हैं कि जब लिंग शिथिल होता है तो ऐसा करने का कोई औचित्य नहीं है क्योंकि एक ढीले लिंग की लंबाई भिन्न हो सकती है, जैसे की कक्ष में कितनी ठंडक है।

एक सटीक नाप लेने के लिए, ऐसा तब करें जब यह उत्तेजित हो। लिंग को शीर्ष की ओर नापना, आधार से अग्रभाग की ओर, एक सामान्य बात है।

लिंग का औसत आकार

किशोरों के लिए लंबाई की कोई औसत माप उपलब्ध नहीं है क्योंकि लोगों का विकास भिन्न दरों पर होता है।

2015 में 15,000 पुरुषों पर किए गए एक अध्ययन के अनुसार, एक वयस्क लिंग की औसत माप निम्न प्रकार से होती है :

  • लंबाई : 13.12से.मी. (5.16 इंच) जब उत्तेजित हो
  • परिधि : 11.66 से.मी. (4.59 इंच) जब उत्तेजित हो

एक उत्तेजित लिंग के कोण में बड़ी भिन्नता होती है। कुछ उत्तेजित लिंग सीधे ऊपर की ओर दिखते हैं, अन्य सीधे नीचे की ओर। कुछ में बायीं अथवा दायीं ओर थोड़ा सा झुकाव होता है। आकार निश्चित नहीं होता है। यदि आपके लिंग में अधिक महत्वपूर्ण झुकाव है तो संभोग करते समय दर्द अथवा कठिनाई हो सकती है, अपने डॉक्टर से संपर्क करें। कभी-कभी, यह पीरोनी रोग के लक्षण हो सकते हैं।

प्रत्येक लिंग अद्वितीय होता है और लड़कों में भिन्न आयु और दरों से विकास होता है। यौवन के दौरान, आमतौर पर 11 से 18 वर्ष की आयु के बीच, लिंग और अंडकोष अधिक तीव्रता से बढ़ते हैं, हालांकि 21 वर्ष की आयु तक लिंग का बढ़ना रुकता नहीं है।

असंतुष्ट पुरुष

वास्तविक आकार के बावजूद, कई पुरुष अभी भी अपने पुरुषत्व के आकार से असंतुष्ट हैं।

50,000 पुरुषों और महिलाओं के एक इंटरनेट-आधारित सर्वे के परिणामों पर आधारित अध्ययन से यह मालूम पड़ा है कि 45% पुरुष एक बड़ा लिंग पसन्द करते हैं। प्रोफेसर केवन विली, शेफ़्फील्ड विश्वविद्यालय में यौन चिकित्सा के परामर्शदाता, की रिपोर्ट में यह निष्कर्ष निकाला गया है कि छोटे-आकार के लिंग-धारकों की तुलना में औसत-आकार के लिंग-धारकों में लिंग के आकार के प्रति अत्यधिक चिंता रहती है।

महिलाएं क्या सोचती हैं

प्रोफेसर विली की रिपोर्ट में महिलाओं और पुरुषों की सोच में अंतर के बारे में भी बताया गया है। महिलाओं की 85% प्रतिशतता अपने साथी के लिंग के आकार से संतुष्ट थी जबकि स्वयं के लिंग के आकार से संतुष्ट पुरुषों की प्रतिशतता 55% थी।

प्रोफेसर विली के अनुसार, महिलाओं को आकर्षक दिखने का मामला जटिल है। हालांकि, अधिकांश अध्ययनों के अनुसार महिलाओं के लिए उनकी प्राथमिकताओं की सूची में पुरुष के व्यक्तित्व और प्रतिभा जैसे विषयों की तुलना में लिंग के आकार का विषय अत्यंत नीचे आता है।

प्रोफेसर विली कहते हैं : "कुछ नवयुवकों के लिए यह अप्रत्याशित तथ्य हो सकता है, परन्तु अधिकांश महिलाओं को उनके लिंग के आकार में बहुत कम रुचि होती है और यह काफी समय से कई अध्ययनों में दर्शाया भी गया है।"

वे कहते हैं कि शोध से यह ज्ञात हुआ है कि संभोग करते समय महिलाओं की रुचि आपके लिंग के आकार की तुलना में आपके रोमांटिक, प्रेमी एवं उनकी आवश्यकताओं और इच्छाओं के प्रति संवेदनशील होने में होती है।

यदि आप अभी भी चिंतित हैं

लिंग की चिंता करते पुरुषों के लिए परामर्श देना लाभकारी सिद्ध हुआ है। उपचार से रोगियों को अपने लिंग के बारे में विकृत धारणाओं की पहचान व ठीक करने में सहायता मिलती है, आत्म-विश्वास बनता है और यौन सम्बन्धों के बारे में आशंकायें दूर होती हैं।

प्रोफेसर विली कहते हैं : "थेरेपी से उन पुरुषों को किसी संभाव्य साथी से मिलने के बारे में चिंताओं से मुक्ति पाने में सहायता प्राप्त होती है, जबकि अपने डर के कारण पहले वे मिलने से भी घबराते थे।“

सेक्स चिकित्सक के कार्यों के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें।

कई शारीरिक उपचार लिंग के आकार को बढ़ाने का दावा करते हैं, परन्तु इनके प्रभावकारी होने का कोई साक्ष्य उपलब्ध नहीं है। लिंग वर्धन उपचारों के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें।

NHS Logo
शीर्ष पर लौटें