सिरदर्द

कई लोगो को अक्सर सिरदर्द की शिकायत रहती है, जो उनकी अत्यंत सामान्य स्वास्थ्य शिकायतों में से एक है। परन्तु अधिकतर यह चिंताजनक नहीं होती हैं और उनका सरलता से उपचार हो जाता है।

ज्यादातर आप अपने सिरदर्दों का घर पर ही बिना नुस्खे वाली औषधियों और जीवनशैली में परिवर्तन करने से उपचार कर सकते हैं, जैसे की अधिक विश्राम करके और उपयुक्त मात्रा में पेय पीकर।

यदि बिना नुस्खे वाली औषधियों से उपचार करने से सिरदर्द ठीक नहीं हो रही हैं या वे इतनी दर्दनाक अथवा बारंबार है कि वे आपकी दैनिक गतिविधिओं को प्रभावित कर रही हैं अथवा आपको ऑफिस से दूर रख रहीं है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करना सही विचार है।

इस पृष्ठ के विषय :

टेंशन सिरदर्द

माइग्रेन

गुच्छा सिरदर्द

चिकित्सा और दर्द-निवारक सिरदर्द

हारमोन सिरदर्द

सिरदर्द के अन्य कारण

गंभीर समस्या के संकेत

टेंशन सिरदर्द

टेंशन सिरदर्द अत्यंत सामान्य प्रकार का सिरदर्द है और हम नॉर्मल, “प्रतिदिन” सिरदर्द के रूप में मानते हैं। वे निरंतर दर्द जैसे लगते हैं जो सिर केे दोनों ओर प्रभावित करते है और ऐसा लगता है कि सिर पर एक कसा हुआ पट्टा खिंचा हुआ है।

प्राय: टेंशन सिरदर्द इतना कष्टदाई नहीं होता है कि यह आपको दैनिक गतिविधियां करने से रोक सके। समान्यत: यह 30 मिनट से कई घंटों तक रहता है, लेकन कभी कभी यह कई दिनों तक भी रह सकता है।

सटीक कारण अस्पष्ट है, परन्तु टेंशन सिरदर्दों को दबाव, गलत मुद्रा, खाना छोड़ना और डीहाईड्रेशन (पानी की कमी) जैसे कारणों से जोड़ा जाता है।

प्राय: टेंशन सिरदर्द का पैरासिटामोल और इबुप्रोइफेन जैसे साधारण दर्द-निवारकों से उपचार किया जा सकता है। नियमित नींद, चिंता या टेंशन में कमी और पूर्णत: हाइड्रेटेड रहने (पानी पीने) जैसे जीवनशैली परिवर्तन भी सहायता कर सकते हैं।

टेंशन सिरदर्दों के बारे में अधिक अध्ययन करें।

माइग्रेन

टेंशन सिरदर्दों की तुलना में माइग्रेन असामन्य है। सामान्यत: इनके कारण सिर के अग्रभाग अथवा साइड में कष्टदायी, थपथपाती दर्द महसूस होती है। कई व्यक्तियों में मिचली, उल्टी और प्रकाश अथवा ध्वनि के प्रति संवेदनशीलता में वृद्धि जैसे अन्य लक्षण भी पाये जाते हैं।

टेंशन सिरदर्दों की तुलना में माइग्रेन अधिक कष्टदायी होता हैं और आपको अपनी सामान्य दैनिक गतिविधियां करने से वंचित कर सकता हैं। समान्यत: ये दर्द कम से कम दो घंटों तक रहता है और कुछ व्यक्तियों को एक समय में कई दिनों तक बिस्तर पर रहने की आवश्यकता होती है।

अथिकांश व्यक्ति अपने माइग्रेन सिरदर्द को बिना नुस्खे की चिकित्सा से सफलतापूर्वक उपचार कर सकते हैं। परन्तु यदि यह कष्टदायी है तो आपको अधिक ताकतवर औषधि की आवश्यकता हो सकती है और वे केवल नुस्खे पर ही उपलब्ध होती हैं। यह आपके माइग्रेन को ठीक कार सकती है और उसे रोक सकती है।

माइग्रेन के बारे में अधिक अध्ययन करें।

गुच्छा सिरदर्द

गुच्छा सिरदर्द एक दुर्लभ प्रकार का सिरदर्द है जो प्रतिवर्ष उसी समय के आस-पास एक अथवा दो महीनों के लिये गुच्छे में होते हैं।

वे कष्टदायी रूप से दर्दनाक होते हैं जिससे एक आँख के इर्द-गिर्द अत्यंत दर्द होता है, और अक्सर वे आँख से पानी बहना अथवा लाल होना और बंद अथवा बहते नाक जैसे अन्य लक्षणों के साथ उत्पन्न होते हैं।

दवा-विक्रेता द्वारा दी गई औषधियाँ गुच्छा सिरदर्द के लक्षणों को कम नहीं करती, परन्तु दर्द को कम करने और भविष्य में दौरे रोकने के लिये डॉक्टर विशिष्ट उपचारों का नुस्खा दे सकता है।

गुच्छा सिरदर्द के बारे में अधिक अध्ययन करें।

चिकित्सा और दर्द-निवारक सिरदर्द

कुछ सिरदर्द किसी विशिष्ट औषधियाँ लेने का साइड इफैक्ट होते हैं। बारंबार होने वाले सिरदर्द कई दर्द-निवारक औषधियाँ लेने से भी हो सकते हैं। यह एक दर्द-निवारक अथवा औषधि-अतिउपयोग सिरदर्द के नाम से भी जाना जाता है।

सामान्यत: एक औषधि-अतिउपयोग सिरदर्द कुछ सप्ताहों में ही बेहतर हो जाता है जब आप इसके कारक दर्द-निवारकों को लेना छोड़ देते हैं, हालांकि आपका दर्द सुधार प्रारम्भ होने से पूर्व कुछ दिनों के लिये ये दर्द विकट हो सकता है।

दर्द-निवारक सिरदर्द.के बारे में अधिक अध्ययन करें।

हारमोन सिरदर्द

महिलाओं में सिरदर्द अक्सर हारमोनों से उत्पन्न होता है, और अधिकतर महिलाएं इसका सम्बंध उनके मासिक-धर्म से जोड़ती हैं। संयुक्त गर्भनिरोधक गोली, रजोनिवृत्ति और गर्भाधान भी संभावित प्रेरक हैं।

अपना मानसिक तनाव स्तर कम करना, एक नियमित नींद पैटर्न होना और सुनिश्चित करना कि आप ठीक से आहार ले रही हैं, आपके मासिक-धर्म से जुड़े सिरदर्दों को कम करने में सहायक हो सकता है।

हारमोन सिरदर्द के बारे में अधिक अध्ययन करें।

सिरदर्द के अन्य कारण

सिरदर्दों के निम्न अन्य कई कारण भी हो सकते हैं :

● अत्यधिक मदिरापान करना

● सिर की चोट और संघट्टन

● जुकाम अथवा फ़्लू

● कर्णपटी एवं अधोहनु संबंधी विकार - “चबाने" की मांसपेशियों और निचले जबड़े और खोपड़ी के बेस के बीच जोड़ों को प्रभावित करती समस्याएं

● साइनसाइटिस - साइनस की परत की सूजन; साइनस सिरदर्दों के बारे मैं अधिक अध्ययन करें

● कार्बन मोनो-ऑक्साइड विषाक्तीकरण

नींद अश्वसन - एक परिस्थिति जिसमें गले की दीवारें विश्राम करती हैं और नींद के दौरान तंग हो जाती हैं, जिससे सामान्य सांस लेने में रुकावट उत्पन्न होती है

क्या यह कुछ गंभीर हो सकती थी?

अधिकांश मामलों में सिरदर्द किसी गंभीर समस्या का संकेत नहीं है। परन्तु, कभी कभार, यह स्ट्रोक (लकवा), मस्तिष्क-ज्वर और मस्तिष्क ट्यूमर जैसी परिस्थिति का लक्षण हो सकता है।

निम्न परिस्थितियों में सिरदर्द गंभीर हो है :

● जब यह अचानक उत्पन्न हो जाये और अत्यंत कष्टदायी हो - अक्सर एक अंधा करने वाला दर्द जिसे पहले कभी अनुभव न किया गया हो

● जब jयह ठीक नहीं होती और समय के साथ विकट हो जाती है

● जब यह किसी जोरदार सिर की चोट के बाद उत्पन्न होती है

● जब यह खांसने, हंसने, छींकने, मुद्रा परिवर्तन, अथवा शारीरिक श्रम के कारण अचानक शुरू हो जाती है

● जब आपके लक्षण किसी प्रकार की कमजोरी, लड़खड़ाती आवाज़, व्याकुलता, याददाश्त में कमी, और उनींदापन सहित आपके मस्तिष्क अथवा नाड़ी प्रणाली में समस्या सुझा रहे हों

● जब आप में उच्च ज्वर (बुखार), गर्दन में अकड़न, चकत्ता, चबाते समय जबड़े में दर्द, दृष्टि समस्याएं, कष्टप्रद खोपड़ी और आँख में लाली जैसे अतिरिक्त लक्षण हों

यदि आपको लगता है कि आपका सिरदर्द चिंताजनक है, तो आपको तुरन्त चिकित्सीय परामर्श लेना चाहिये। यथासंभव शिघ्रातिशीघ्र अपने डॉक्टर से संपर्क करें, अथवा अपने निकटतम दुर्घटना और आपातकाल (A&E) विभाग में जायें।

NHS Logo
शीर्ष पर लौटें