बदबूदार पैर कैसे रोके

बदबूदार पैर किसी को भी अच्छे नहीं लगते हैं, उनके लिए एक प्रभावकारी, सरल और सस्ता उपचार उपलब्ध है जिसेका आप घर पर प्रयोग कर सकते हैं और जो एक सप्ताह में ही पैर की बदबू दूर कर सकता है।

चिकित्साशास्त्र में इसे ब्रोमोडोसिस के नाम से जाना जाता है। बदबूदार पैर पूरे वर्ष में होने वाली आम समस्या है।

इसका मुख्य कारण है पसीने वाले पैर और प्रतिदिन वही जूते पहनना।

पैरों में पसीना क्यों आता है

किसी के भी वर्ष में किसी भी तापमान अथवा समय पर पसीना वाले पैर हो सकते हैं। फिर भी किशोरों और गर्भवती महिलाओं में इसकी संभावना अधिक रहती है क्योंकि उन्हें हारमोन परिवर्तन के कारण अधिक पसीना आता है।

यदि आप अपने पैरो पर दिन भर खड़े रहते हैं, या आप अत्यंत तनाव में रहते हैं अथवा आप हाईपरहाईड्रोसिस नामक एक चिकित्सीय परिस्थिति से ग्रसित हैं जिसमें आपको सामान्य से अधिक पसीना आता है, तो आपको पैरो में पसीना आने की अधिक संभावना है। ऐथलिट्स फुट जैसे फफूंदीय संक्रमण भी पैरों में दुर्गंध उत्पन्न कर सकते हैं।

पादचिकित्सक, लोर्राइन जोन्स, के अनुसार जब जूते पसीने से भीग जाते हैं और उन्हें आपके द्वारा पुन: पहने जाने से पूर्व सुखाया नहीं जाता, तो पैर दुर्गधमय हो जाते है।

छिद्रों में से प्रवेश करते समय त्वचा पर उपस्थित जीवाणु पसीना छोड़ते हैं। पसीना सड़ने से भी एक निम्न स्तर की गंध उत्पन्न होती है।

“पूरा दिन आपके पैर आपके जूतों में पसीना छोड़ते हैं जिस कारण वे गीले हो जाते हैं और जीवाणुओं में बढ़ोतरी आरम्भ हो जाती है। जूते उतारने के पश्चात जीवाणुओं का प्रजनन चालू रहता है, विशेषत: यदि आप उन्हें किसी अन्धकारमय अलमारी में रख देते हैं। तत्पश्चात, अगले दिन जब आप उन्हें पहनते हैं, चाहे आपने अभी-अभी शावर लिया हो, फिर भी भीगे हुये जूतों में जब आप अपने पैर डालते हैं तो यह जीवाणुओं को पनपने की आदर्श परिस्थिति - गर्म, अंधकारमय और कुछ भीगी हुई - होती है।”

बदबूदार पैरों का उपचार कैसे करे

संयोग से बदबूदार पैरो के लिये एक सरल, शीघ्रगामी और निश्चित हल उपलब्ध है।

● हिबिस्क्रब नामक एक जीवाणु-रोधक साबुन से अपने पैर धोयें। आपके स्थानीय दवा-विक्रेता के यहां बहुत सारे बिना नुस्खे के बेचे जाने वाले पैर स्वच्छता उत्पाद उपलब्ध होते हैं, परन्तु हिबिस्क्रब सर्वश्रेष्ठ है।

● हिबिस्क्रब को कुछ मिनट के लिये लगा रहने दें और फिर धो दें।

लोरेन के अनुसार, “यदि आप ऐसा दिन में दो बार करें, तो आप निश्चित ही एक सप्ताह के भीतर बदबूदार पैरों से निजात पा लेंगे/लेंगी।"

वह आगे कहती है कि यदि आपकी त्वचा में एकजिमा जैसी फटी-त्वचा वाली परिस्थिति है तो आपको पैरो पर हिबिस्क्रब का प्रयोग नहीं करना चाहिये।

बदबूदार पैरो की रोकथाम

पैरो को स्वच्छ और सुगंधित बनाये रखना - कुशल निजी स्वच्छता और जूतों को नियमित रूप से बदलते रहने पर निर्भर है। पैरो को स्वच्छ रखने के लिये :

● कभी भी जूतों का वही जोड़ा लगातार दो दिन न पहनें इसके स्थान पर, हर एक दिन भिन्न जूते पहनें ताकि उन्हें सूखने के लिये 24 घंटों का समय मिल जाये।

● सुनिश्चित करें की किशोरों के पास दो जोड़ी ट्रेनर हैं ताकि उन्हें वही जूते लगातार दो अथवा अधिक दिन न पहनने पड़ें।

● अपने पैर प्रतिदिन धोयें और सुखायें और अपनी जुराबे (आदर्शत: ऊनी अथवा सूती, नाइलॉन नहीं) दिन में कम से कम एक बार बदलें।

● अपने पंजो के नाखून छोटे और साफ रखें और किसी पैर के रेती से सख्त त्वचा को हटा दें। जीवाणुओं के लिये गीलापन जैसी आदर्श परिस्थिति सख्त त्वचा को दलदली बनती है।

यदि आपके पैरों में अत्यंत पसीना आता है तो यह एक अच्छा सुझाव है कि :

● शावर अथवा स्नान के बाद अपने पंजो के बीच थोड़ी सी सर्जिकल स्पिरिट में डूबी सूती ऊन से थपकी दें - सर्जिकल स्पिरिट पंजों की बीच त्वचा को अच्छी तरह से सुखाने में सहायता प्रदान करती है - एवं उन्हें एक तौलिये से पोंछे।

● अपने पैरों पर किसी डीयोडरैंट अथवा एंटिपर्सपीरैंट (जिससे पसीना कम हो) का स्प्रे करें - एक साधारण अंडरआर्म डीयोडरैंट अथवा एंटिपर्सपीरैंट भी विशिष्ट पैर-उत्पाद जितना ही प्रभावशाली होता है और उसकी कीमत भी कम होती है

● अपने जूतों में औषधीय पतावें लगायें जो आपके जूतों में सुगन्ध उत्पन्न करने वाला प्रभाव उत्पन्न करते हैं

● फीट-फ्रेश जुराबें पहनें - कुछ खेल जुराबों में पैरों को सूखा रखने के लिये हवादार पैनल होते हैं, और एंटि-बैकटेरियल जुराबों में पसीने से गंध उत्पन्न करने वाले जीवाणुओं को निरुत्साह करने वाले रसायन डालें जाते हैं

● चमड़े अथवा कैनवस के जुतें पहनें क्योंकि वे प्लास्टिक जूतों की तुलना में आपके पैरों को अधिक सांस लेने देते हैं

● गर्मियों में खुले-पंजे वाले सैंडल पहनें और शाम को घर में नंगे पैर घूमें

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिये

बदबूदार पैर हानिरहित समस्या है जो साधारणत: ठीक हो जाती है। लेकिन कभी-कभी यह एक चिकित्सीय बीमारी का संकेत हो सकती है।

यदि आपके पैर की बदबू कम करने के लिये साधारण कार्यवाहियाँ सहायक नहीं होती हैं अथवा यदि आप अपने पसीने के असामान्य रूप से उच्च स्तर से चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

आपके डॉक्टर आपको एक ताकतवर एंटिपर्सपीरैंट का परामर्श दे सकते हैं अथवा आपको आईओंटोफोरेसिस नामक उपचार, जो अतिशय पसीना आने की समस्या से निपटने हेतु पानी के माध्यम से आपके पैरों को हल्की विद्युत तरंगे भेजता है, के लिये रेफ़र कर सकते हैं।

पैरों की देखभाल के लिये टिप्स.

NHS Logo
शीर्ष पर लौटें