होंठ या त्वचा नीली होना

यदि व्यक्ति की त्वचा या होंठ नीले हो जाते है, यह सामान्यतः रक्त में निम्न ऑक्सीजन स्तर या खराब परिचालन का चिह्न है।

परिचय

यदि व्यक्ति की त्वचा या होंठ नीचे हो जाते हैं, यह सामान्यतः रक्त में निम्न ऑक्सीजन स्तर या खराब परिचालन के कारण होता है। यह एक गंभीर समस्या का चिह्न हो सकता है, इसलिए चिकित्सीय सलाह लेना महत्वपूर्ण है।
जब रक्त में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है, तो यह चमकीले लाल रंग से गहरे रंग में परिवर्तित हो जाता है, जिसके कारण त्वचा और होंठ नीले रंग के दिखाई देते हैं।
गहरे रंग की त्वचा वाले व्यक्तियों में, होंठ, मसूड़ों तथा आंखों के आस-पास नीले रंग का अधिक आसानी से पता लगाया जा सकता है।
इस नीले रंग के लिए चिकित्सीय नाम साइनोसिस है।

क्या करना है

यदि आप एक वयस्क व्यक्ति या बच्चे को अचानक नीले रंग में बदलते गौर करते हैं, विशेषकर जब उनमें सांस लेने में कठिनाई या छाती में दर्द होने जैसे अन्य लक्षण हों। यह जीवनघातक समस्या भी हो सकती है। यदि आपको सायनोसिस है जो बहुत धीरे-धीरे आता है, अथवा उंगलियों, हाथों, पैरों के नाखूनों या पैरों को प्रभावित करता है तो अपने डॉक्टर से मिलें। यह सामान्यतः रक्त परिचालन के कारण कम गंभीर समस्या का परिणाम है, लेकिन फिर भी डॉक्टर द्वारा जांच कराना चाहिए।

सायनोसिस के आम कारण

सायनोसिस के कुछ मुख्य कारणों का वर्णन नीचे किया गया है, लेकिन आपको इसका उपयोग अपने खुद के रोग की पहचान करने के लिए नहीं करना चाहिए- इसे सदैव डॉक्टर को ही करना चाहिए।

सायनोसिस जो बस हाथ, पैर या टांगों को प्रभावित करता है

यदि केवल उंगलियां, पैर की उंगलियां या टांगे ही नीली हुई हैं तथा सर्दी लग रही है, तो इसे परिधीय सायनोसिस के रूप में जाना जाता है।

इसका कारण सामान्यतः खराब परिचालन होता है जोकि निम्नलिखित कारणों से होता है:

  • रेनौड का घटनाक्रम- जब सामान्यतः ठंडे तापमान के संपर्क में आने पर, शरीर के कुछ अंगों, सामान्यतः उंगलियों और पैर की उंगलियों के लिए रक्त की आपूर्ति अस्थायी रूप से कम हो जाती है
  • परिधीय धमनी की बीमारी (पीएडी)- जहां धमनियों में वसायुक्त एकत्रित सामग्री का निर्माण टांगों के लिए रक्त की आपूर्ति रोकती है
  • बीटा अवरोधक- उच्च रक्तचाप का उपचार करने के लिए सामान्यतः दवाइयों का प्रयोग किया जाता है
  • टांगों के लिए या टांगों से रक्त की आपूर्ति को रोकने वाला रक्त का थक्का

सायनोसिस सामान्यतः त्वचा और/अथवा होठों को प्रभावित करती है

जब सभी त्वचा और/अथवा होंठ नीले रंग के हो जाते हैं, तो इसे केन्द्रीय सायनोसिस के रूप में जाना जाता है, तथा यह सामान्यतः रक्त में ऑक्सीजन का कम स्तर होने का संकेत होता है। केन्द्रीय सायनोसिस के आम कारणों को नीचे सूचीबद्ध किया गया है।
फेफड़ों के साथ समस्या:

  • लंबे समय से फेफड़े की खराब हो रही हालत, जैसे अस्थमा या क्रॉनिक ऑब्स्ट्रक्टिव पल्मोनरी बीमारी (सीओपीडी)
  • फेफड़ों का संक्रमण, जैसे निमोनिया, ब्रॉंकियोलाइटिस या कुकुर खांसी
  • ब्रॉंकिएक्टसिस- जहां फेफड़ों में वायुमार्ग असामान्य रूप से चौड़ा हो जाता है
  • पल्मोनरी एम्बोलिज्म – फेफड़ों की धमनियों में रक्त का थक्का
  • नवजात श्वसन पीड़ा सिंड्रोम (एनआरडीएस) या तीव्र श्वसन पीड़ा सिंड्रोम (एआरडीएस) – जहां फेफड़े बाकी शरीर के लिए पर्याप्त ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं करा सकते हैं
  • डूबना या लगभग डूबना

वायु मार्ग के साथ समस्या:

  • श्वास मार्ग में अवरोध- यदि कोई अवरोध पैदा कर रहा है तो क्या करना है उसे पढ़ें
  • क्रूप (बच्चों में गले का रोग) – आमतौर पर एक वायरस द्वारा पैदा की गयी, बचपन की एक स्थिति, जो वायुमार्ग को प्रभावित करती है तथा अत्यंत तीव्र खांसी पैदा करती है
  • एपिग्लोटाइटिस – आमतौर पर संक्रमण के कारण उत्पन्न गले के पीछे ऊतक के फ्लैप का प्रदाह और सूजन
  • एनाफिलेक्सिस –एक गंभीर एलर्जिक प्रतिक्रिया जो वायुमार्गों को रोक सकती है

हृदय के साथ समस्या:

  • हृदय की विफलता – जहां हृदय शरीर के चारों ओर पर्याप्त रक्त को पंप करने में विफल रहता है
  • जन्मजात हृदय की बीमारी – जन्म के समय मौजूद हृदय दोष जो हृदय और शरीर के चारों ओर रक्त के जाने के ढंग को प्रभावित कर सकता है
  • हृदय गति रुकना – जहां हृदय धड़कना बंद कर देता है

अन्य कारण:

  • ठंडी हवा या पानी से संपर्क
  • अधिक ऊंचाई पर होना
  • चक्कर आना (दौरे पड़ना) जोकि लंबे समय तक रहते हैं
  • रक्त के साथ समस्या, जैसे असामान्य हीमोग्लोबीन (रक्त पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं ले सकता है) या लाल रक्त कोशिकाओं का उच्च जमाव (पॉलीसिथायमिया)


द्वारा उपलब्ध कराई गई विषय वस्तु NHS Choices