महिलाओं में स्तन कैंसर

स्तन कैंसर (महिला)

U.K. में स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाला सबसे आम कैंसर है। अधिकतर महिलाएँ जिनका स्तन कैंसर के लिए निदान किया जाता है 50 वर्ष से अधिक आयु की होती हैं।

लगभग आठ में से एक महिला का उसके जीवन काल में स्तन कैंसर के लिए निदान किया जाता है। यदि आंरभिक चरणों में इसकी खोज की जा सके तो स्वास्थ्य लाभ का एक अच्छा अवसर होता है।

इसी कारण यह महत्वपूर्ण है कि महिलाएँ अपने स्तनों में किसी भी तरह के परिवर्तन की नियमित जाँच करवाएं और किसी भी प्रकार के बदलाव का अपने डॉक्टर द्वारा निरीक्षण करवाएं।

दुर्लभ मामलों में, पुरुषों का भी स्तन कैंसर के लिए निदान हो सकता है। इसके बारे में पढ़ें ](https://www.your.md/condition/cancer-of-the-breast-female/#living-with)[पुरुषों में स्तन कैंसर.

स्तन कैंसर के लक्षण

स्तन कैंसर के अनेक लक्षण हो सकते हैं, लेकिन पहला ध्यान देने योग्य लक्षण प्राय: एक गांठ या गाढ़ा स्तन ऊत्तक क्षेत्र होता है।

अधिकतर ](https://www.your.md/condition/cancer-of-the-breast-female)[स्तन गांठें](https://www.your.md/condition/breast-lump) [कैंसरजन्य नहीं होती हैं, लेकिन उनकी आपके डॉक्टर द्वारा जाँच करवाना बेहतर होता है।

यदि निम्नलिखित में से आपको कुछ भी दिखाई दे तो आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए:

  • एक या दोनों स्तनों के आकार या आकृ‍ति‍ में परिवर्तन होना
  • आपके एक या दोनों निप्पलों से स्राव, जिसमें रक्त भी हो सकता है
  • आपकी किसी भी बगल में एक गांठ या सूजन
  • आपके स्तनों की त्वचा का पतला होना
  • आपके निप्पलों पर या आसपास चक्कते होना
  • आपके निप्पलोंं के दिखने में बदलाव, जैसे आपके स्तनों में धंसे हुए होना

स्तन (वक्ष) पीड़ा कैंसर का लक्षण नहीं होता है।

इसके बारे में और अधिक पढ़ें ](https://www.your.md/condition/cancer-of-the-breast-female)[स्तन कैंसर के लक्षण.

स्तन कैंसर के कारण

स्तन कैंसर के सही कारण अभी तक पूरी तरह समझ नहीं आए हैं। परंतु, अनेक ऐसे कारक हैं जिन्हें स्तन कैंसर के जोखिम बढ़ाने वाला माना जाता है।

इनमें शामिल हैं:

  • आयु – आपकी आयु बढ़ने के साथ जोखिम बढ़ता जाता है
  • स्तन कैंसर का परिवार का इति‍हास
  • स्तन कैंसर के लिए पहले किया गया निदान
  • पहले की अबुर्द स्तन गांठ
  • लंबा, अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त होना
  • अल्कोहल का अत्यधिक उपयोग करना

इसके बारे में और अधिक पढ़ें ](https://www.your.md/condition/cancer-of-the-breast-female)[स्तन कैंसर के कारण.

स्तन कैंसर का रोग-निदान करना

आपके स्तनों की जाँच करने के बाद आपके डॉक्टर आगामी परीक्षणों के लिए आपको एक विशेषज्ञ स्तन कैंसर क्लिनिक को रेफर कर सकते हैं। इसमें स्तन स्क्रीनिंग (मेमोग्राफी) या एक ](https://www.your.md/condition/cancer-of-the-breast-female)[बायोप्सीशामिल हो सकते हैं।

इसके बारे में पढ़ें ](https://www.your.md/condition/cancer-of-the-breast-female)[स्तन कैंसर का रोग-निदान कैसे होता है

स्तन कैंसर के प्रकार

स्तन कैंसर के विभिन्न प्रकार होते हैं जो स्तन के अलग-अलग हिस्सों में विकसित हो सकते हैं।

स्तन कैंसर को अक्सर इस तरह विभाजित किया जाता है:

  • गैर-आक्रामक स्तन कैंसर (कार्सिनोमा इन सीटू) – स्तन की नलिकाओं (डक्टल कार्सिनोमा इन सीट, DCIS) में पाया जाता है और इसमें स्तन से बाहर फैलने की क्षमता नहीं होती है। इसे आमतौर पर एक मेमोग्राम के दौरान खोज लिया जाता है और कभी-कभार एक स्तन गांठ दर्शाता है।
  • आक्रामक स्तन कैंसर – आमतौर पर कोशिकाओं में विकसित होता है जो स्तन नलिकाओं के साथ लाइन में होती है (इनवेसिव डक्टल ब्रेस्ट कैंसर) और सबसे समान्य किस्म का स्तन कैंसर है। यह स्तन से बाहर फैल सकता है, यद्यपि इसका मतलब यह जरूरी नहीं है कि इसका फैलाव हो गया है।

स्तन कैंसर के अन्य कम सामान्य प्रकारों में शामिल हैं:

  • इनवेसिव (और प्री-इनवेसिव) लोब्युलर स्तन कैंसर
  • सूजनयुक्त स्तन कैंसर
  • Paget के स्तन के रोग

स्तन कैंसर का फैलाव शरीर के अन्य हिस्सों में संभव है, जो आमतौर पर रक्तप्रवाह या बगलों के लिम्फ नोड्स द्वारा होता है। ये छोटी लिम्फेटिक ग्रंथियां हैं जो स्तन ग्रंथि से बैक्टीरिया और कोशिकाओं को फ़िल्टर करती हैं।

यदि ऐसा होता है, इसे सेकण्डरी या मेटास्टेटिक स्तन कैंसर के रूप में जाना जाता है।

स्तन कैंसर स्क्रीनिंग

मेमोग्राफिक स्क्रीनिंग, जिसमें स्तन की एक्स-रे छवियां ली जाती हैं, एक आरंभिक स्तन घाव का पता लगाने का सबसे आम उपलब्ध तरीका है।

परंतु, आपको जानकारी होनी चाहिए कि एक मेमोग्राम कुछ स्तन कैंसरों का पता लगाने में विफल हो सकता है।

इससे आपके सर्जरी सहित अ‍त‍िरिक्त परीक्षण और हस्तक्षेप किए जाने के अवसर बढ़ सकते हैं, चाहे आप स्तन कैंसर से प्रभावित नहीं भी हों।

स्तन कैंसर विकसित होने के औसत-से-अधिक जोखिम वाली महिलाओं में ऐसी स्थिति के लिए स्क्रीनिंग और जेनेटिक परीक्षण करने की पेशकश की जा सकती है।

स्तन कैंसर का उपचार

यदि एक शुरूआती चरण में कैंसर का पता लग जाता है, इसका शरीर के अन्य हिस्सों में फैलने से पहले उपचार किया जा सकता है।

स्तन कैंसर का उपचार इनके संयोजन द्वारा किया जाता है:

सर्जरी आमतौर पर पहले प्रकार का उपचार है जो आपको दिया जाएगा, इसके बाद कैमोथैरेपी या रेडियोथैरेपी या कुछ मामलों में हार्मोन या बायोलॉजिकल उपचार किया जाता है।

सर्जरी का प्रकार और बाद में आपको मिलने वाला उपचार आपके स्तन कैंसर के प्रकार पर निर्भर करता है। आपके डॉक्टर आपके लिए बेहतर उपचार योजना की चर्चा करेंगे।

महिलाओं की बहुत कम संख्या में, स्तन कैंसर की खोज इसके शरीर के अन्य भागों में फैलने (मेटास्टेटिक स्तन कैंसर) के बाद हो पाती है।

सेकण्डरी कैंसर, इसे एडवांस्ड या मेटास्टेटिक कैंसर भी कहा जाता है, का इलाज नहीं किया जा सकता, इसलिए उनचार का लक्ष्य छुटकारा (लक्षणों में आराम) प्राप्त करना है।

इसके बारे में पढ़ें स्तन कैंसर का उपचार.

स्तन कैंसर के साथ जीवन

स्तन कैंसर का रोग-निदान अनेक तरीकों से दिनचर्या को प्रभावित कर सकता है, जो इस पर निर्भर करता है यह कौन से चरण में है और आप क्या उपचार ले रहे हैं।

महिलाएं अपने रोग-निदान और उपचार का सामना कैसे कर पाती हैं यह प्रत्येक व्यक्ति में अलग-अलग होता है। आपको आश्वस्त किया जा सकता है कि यदि आपको जरूरत हुई तो सहायता के अनेक प्रकार उपलब्ध हैं।

उदाहरणार्थ:

  • आपके परिवार और दोस्त एक शक्तिशाली सहायता सिस्टम हो सकते हैं
  • आप ऐसी ही स्थिति वाले अन्य लोगों के साथ बातचीत कर सकते हैं
  • आपकी स्थिति के बारे में यथासंभव अधिक से अध‍िक जानें
  • स्वयं अपने साथ बहुत अधिक या अतिविशेषज्ञता करने की कोशिश न करें
  • अपने लिए समय निकालें

इसके बारे में पढ़ें ](https://www.your.md/condition/cancer-of-the-breast-female)[स्तन कैंसर के साथ जीवन.

स्तन कैंसर की रोकथाम

क्योंकि स्तन कैंसर के कारण पूरी तरह समझे नहीं गए हैं, अभी यह जानकारी होना संभव नहीं है कि इसकी रोकथाम कैसे की जा सकती है।

यदि आपको यह स्थिति विकसित होने के जोखिम बढ़े हुए हैं तो जोखिम कम करने के लिए कुछ उपचार उपलब्ध हैं।

अध्ययनों में स्तन कैंसर और भोजन के बीच कड़ी पर प्रकाश डाला है। यद्यपि कोई निश्चित निष्कर्ष नहीं है लेकिन उन महिलाओं के लिए फायदे हैं जो:

  • एक स्वस्थ वजन बनाए रखती हैं
  • नियमित व्यायाम करती हैं
  • संतृप्त वसा और अल्कोहल का कम सेवन करती हैं

यह सुझाव दिया जाता है कि नियमित व्यायाम आपके स्तन कैंसर के जोखिम को तीसरे के जितना ही कम कर सकता है। नियमित व्यायाम और स्वस्थ जीवन शैली स्तन कैंसर से प्रभावित लोगों के दृष्टिकोण में भी सुधार कर सकते हैं।

यदि आप रजोनिवृत्ति से गुजर रही हैं, यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है कि आप अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त नहीं हैं।

इसका कारण यह है कि अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त होने के कारण अधिक एस्ट्रोजन उत्पन्न होते हैं जो स्तन कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

इसके बारे में पढ़ें स्तन कैंसर की रोकथाम करना.

लक्षण

Try checking your symptoms with our AI-powered symptom checker.

महिलाओं को नजर आने वाला स्तन कैंसर का पहला लक्षण उनके स्तनों में एक गांठ या गाढ़े ऊत्तक का एक क्षेत्र होता है।

अधिकतर ](https://www.your.md/condition/cancer-of-the-breast-female)[स्तन गांठें](https://www.your.md/condition/breast-lump) [(90%) कैंसरजन्य नहीं होती हैं, लेकिन हमेशा उनकी आपके डॉक्टर द्वारा जाँच करवाना बेहतर होता है।

यदि निम्नलिखित में से आपको कोई भी दिखाई दे तो आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए:

  • किसी भी स्तन में एक नई गांठ या गाढ़े ऊत्तक का एक क्षेत्र जो पहले वहां नहीं था
  • एक या दोनों स्तनों के आकार या आकृ‍ति‍ में परिवर्तन होना
  • रक्तयुक्त स्राव आपके किसी भी निप्पल से
  • आपकी किसी भी बगल में एक गांठ या सूजन
  • आपके स्तनों की त्वचा का पतला होना
  • आपके निप्पलों पर या आसपास चक्कते होना
  • आपके निप्पलोंं के दिखने में बदलाव, जैसे आपके स्तनों में धंसे हुए होना

स्तन (वक्ष) पीड़ा आमतौर पर एक कैंसर का लक्षण नहीं होता है।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : बदलावों को देखना और अनुभव करना
  • स्तन कैंसर अभी : स्तन कैंसर के चिह्न और लक्षण
  • कैंसर रिसर्च UK : स्तन कैंसर लक्षण
  • Macmillan कैंसर सहायता : स्तन कैंसर के चिह्न और लक्षण

स्तन संबंधी जागरूकता

स्तन की जागरूकता होना महत्वपूर्ण है ताकि आप किसी भी बदलाव को जल्दी पकड़ सकें।

जानकारी होना कि आपके लिए क्या सामान्य है – उदाहरण, आपके जीवन में विभिन्न समय के दौरान आपके स्तन अलग तरह से दिखाई दे सकते हैं या महसूस हो सकते हैं। यह संभावित समस्याओं की पहचान करना बहुत आसान बना देता है।

कारण

स्तन कैंसर के कारण पूरी तरह समझ नहीं पाए हैं, इसलिए यह बता पाना कठिन है कि एक महिला को स्तन कैंसर क्यों हो जाता है और दूसरी को क्यों नहीं हो पाता।

परंतु, कुछ जोखिम कारक हैं जिन्हें स्तन कैंसर होने की संभावना के रूप में जाना जाता है। इनमें से कुछ के बारे में आप कुछ नहीं कर सकते, लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जिन्हें आप बदल सकते हैं।

आयु

स्तन कैंसर होने के जोखिम आयु के साथ बढ़ते जाते हैं। यह स्थिति 50 वर्ष से अधिक आयु की उन महिलाओं में बहुत आम है जोरजोनिवृत्ति से गुजर चुकी हैं। स्तन कैंसर के लगभग 10 में से 8 मामले 50 से अधिक आयु की महिलाओं में होते हैं।

सभी महिलाएं जिनकी आयु 50 से 70 वर्ष है उनकी प्रत्येक तीन वर्ष में NHS ब्रेस्ट कैंसर स्क्रीनिंग प्रोग्राम के हिस्से के रूप में स्तन कैंसर की स्क्रीनिंग होनी चाहिए।

70 वर्ष से अधिक आयु की महिलाएं भी स्क्रीनिंग के लिए योग्य हैं और इसकी उनके डॉक्टर या स्थानीय स्क्रीनिंग यूनिट के माध्यम व्यवस्था की जा सकती है।

इसके बारे में और पढ़ें स्तन स्क्रीनिंग.

परिवार का इ‍ति‍हास

यदि आपके निकट संबंधी हैं जिन्हें स्तन कैंसर या गर्भाशय कैंसरहो चुका है तो आपको स्तन कैंसर होने के उच्च जोखिम हैं।

परंतु, क्योंकि स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाला सबसे आम कैंसर है, यह संभव है कि यह संयोग से परिवार में एक से अधिक सदस्यों को हो जाए।

स्तन कैंसर के अधिकतर मामले परिवारों में निरंतर जारी नहीं रहते, लेकिन BRCA1 और BRCA2 के रूप में ज्ञात विशेष जीन स्तन और गर्भाशय कैंसर दोनों उत्पन्न करने के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। यह संभव है कि ये जीन एक माता-पिता से उनके बच्चे में गुजरते रहें।

अन्य नए खोजे गए जीन, जैसे TP53 और CHEK 2 भी स्तन कैंसर का जोखिम बढ़ाने से जुड़े हुए हैं।

उदाहरण, यदि आपके परिवार में एक ओर के दो या अधिक निकट संबंधियों - जैसे आपकी माता, बहन या बेटी - को 50 वर्ष की आयु से पहले कैंसर हो चुका है तो आप स्तन कैंसर की निगरानी में रखे, जाने या ऐसे जीनों की जेनेटिक स्क्रीनिंग के योग्य हो सकते हैं जिनसे स्तन कैंसर होने की ज्यादा संभावना होती है।

यदि आप अपने परिवार में स्तन कैंसर के इतिहास से चिंतित हैं तो अपने डाक्टर के साथ इसकी चर्चा करें।

स्तन कैंसर के लिए पहले किया गया निदान

यदि आपको पहले स्तन कैंसर हो चुका है या गैर-आक्रामक कैंसर कोशिका ने स्तन नलिकाओं में बदलाव किया है, आपको दूसरे स्तन में या उसी स्तन में इसके दोबारा होने का उच्च जोखिम है।

पहले की अबुर्द स्तन गांठ

एक अबुर्द स्तन गांठ का मतलब यह नहीं होता कि आपको स्तन कैंसर है, लेकिन कुछ विशेष प्रकारों की गांठ इसके होने के जोखिम को थोड़ा बढ़ा देती हैं।

आपके स्तन ऊतकों में कुछ विशेष अबुर्द बदलाव जैसे नलिकाओं में असामान्य रूप से बढ़ने वाली कोशिकाएं (एटिपिकल डक्टल हाइपरप्लासिया), या आपके स्तन के अंदर असामान्य कोशिकाएं (लोब्यूलर कार्सिनोमा इन सीटू), स्तन कैंसर होने की अधिक संभावना बना सकती हैं।

स्तन की सघनता

आपके स्तन हजारों सूक्ष्म ग्रंथियों (लोब्यूल) से बने होते हैं जो दूध पैदा करते हैं। अन्य ऊत्तकों की अपेक्षा इन ग्रंथि ऊत्तकों में स्तन कोशिकाओं की उच्च सांद्रता होती है जो इसे सघन बनाती है।

सघन स्तन ऊत्तकों वाली महिलाओं में स्तन कैंसर होने के उच्च जोखिम होता हैं क्योंकि और कोशिकाएं होती हैं जो कैंसर जनक हो सकती हैं।

सघन स्तन ऊत्तक एक स्तन स्कैन (मेमोग्राफ) का अध्ययन मुश्किल बना सकते हैं, क्योंकि अनेक गांठों या असामान्य ऊत्तकों के क्षेत्रों को पहचानना मुश्किल होता है।

युवा महिलाओं में स्तन सघन होते हैं। जब आपकी आयु बढ़ती जाती है, आपके स्तनों में ग्रंथि ऊतकों की मात्रा में कमी होती है और इनका स्थान वसा ले लेती है, इसलिए आपके स्तन कम सघन होते हैं।

एस्ट्रोजन के साथ संपर्क

महिला हार्मोन एस्ट्रोजन कभी-कभी स्तन कैंसर कोशिकाओं को उत्प्रेरित कर सकता है और उनके बढ़ने का कारण बनता है।

अंडाशय, जिसमें आपके अंडे संग्रहित होते हैं, जब आपकायौवन आरंभ होता है तो मासिक धर्म को नियमित करने के लिए एस्ट्रोजन पैदा करना शुरू कर देते हैं।

आपके शरीर के एस्ट्रोजन की मात्रा के संपर्क में आने के साथ आपके स्तन कैंसर होने के जोखिम में हल्की वृद्धि हो जाती है।

उदाहरण, यदि आपके मासिकधर्म एक छोटी आयु में शुरू हुए हैं और रजोनिवृत्ति एक बड़ी आयु में हुई है तो आप एस्ट्रोजन के संपर्क में एक लंबी समय अवधिक तक रहे हैं।

इसी प्रकार, बच्चे पैदा नहीं करना या जीवन में बड़ी आयु में बच्चे पैदा करना स्तन कैंसर के जोखिम को थोड़ा और बढ़ा सकता है क्योंकि एस्ट्रोजन के साथ संपर्क गर्भावस्था के कारण बाधित नहीं होता है।

अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त होना

यदि आपकी रजोनिवृत्ति हो चुकी है और अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त हैं तो आपको स्तन कैंसर होने का अधिक जोखिम हो सकता है।

इसे आपके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा के साथ जुड़ा हुआ माना जाता है, क्योंकि रजोनिवृत्ति के बाद अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त होने के कारण अधिक एस्ट्रोजन उत्पन्न होता है।

अल्कोहल

आपके अल्कोहल का सेवन करने की मात्रा के साथ आपके स्तन कैंसर होने के जोखिम में वृद्धि होती है।

शोध दर्शाते हैं कि प्रत्येक 200 महिलाएं जो नियमित रूप से प्रतिदिन अल्कोहल के दो ड्रिंक लेती है, उनमें ऐसी महिलाओं की अपेक्षा स्तन कैंसर से पीड़ि‍त तीन अधिक महिलाएं होती हैं जो बिल्कुल मदिरा सेवन नहीं करती हैं।

रेडिएशन

विभिन्न चिकित्सा प्रक्रियाएं जिनमें रेडिएशन उपयोग होता है, जैसे एक्स-रे और कम्प्युटराज्ड टोमोग्राफी (CT) स्कैन, जो आपके स्तन कैंसर होने के जोखिम में बहुत हल्की वृद्धि करता है।

यदि आपके बचपन में हॉजकिन लिंफोमा के लिए आपके वक्ष क्षेत्र की रेडियोथैरेपी हुई है, आपको डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ से पहले ही आपको एक विशेषज्ञ के साथ आपके स्तन कैंसर होने के बढ़े हुए जोखिम के बारे में सलाह करने के लिए निमंत्रण प्राप्त हुआ होगा।

यदि आपसे संपर्क नहीं किया गया था या आपने एक सलाह में भाग नहीं लिया है तो अपने डॉक्टर के साथ मुलाकात करें। आमतौर पर आप एक MRI स्कैन के साथ ही स्तनों की जाँच करवाने के हकदार हैं।

यदि आपको वर्तमान में हॉजकिन लिंफोमा के लिए रेडियोथैरेपी करवाने की जरूरत है तो आपके विशेषज्ञ को आपका उपचार शुरू करने से पहले स्तन कैंसर के जोखिम की चर्चा करनी चाहिए।

हार्मोन रिप्लेसमेंट थैरेपी (HRT)

हार्मोन रिप्लेसमेंट थैरेपी (HRT) के साथ स्तन कैंसर होने के जोखिम जुड़ हैं।

संयुक्त HRT और केवल-एस्ट्रोजन HRT आपके स्तन कैंसर होने के जोखिम को बढ़ा सकते हैं, यद्यपि जोखिम थोड़ा अधिक होता है जब आप संयुक्त HRT करवाते हैं।

यह अनुमान है कि 10 वर्षों तक संयुक्त HRT करवाने वाली प्रत्येक 1,000 महिलाओं में स्तन कैंसर के 19 अतिरिक्त मामले होंगे। जितने लंबे समय तक HRT करवाया जाए तो यह जोखिम थोड़ा बढ़ जाता है, लेकिन जब इस बंद कर दिया जाए तो दोबारा सामान्य हो जाता है।

आमतौर पर लंबे समय तक HRT के इस्तेमाल का सिफारिश नहीं की जाती है, विशेष रूप से जब यह ज्ञात होता है कि आपके लिए रजोनिवृत्ति के लक्षणों का सामना करना संभव है।

गर्भनिरोधक गोली

शोध दर्शाते हैं कि गर्भनिरोधक गोली लेने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर होने का जोखिम थोड़ा बढ़ जाता है।

परंतु, गोली लेना बंद करने के साथ ही जोखिम कम होना आरंभ हो जाता है, और बंद करने के 10 वर्षों के बाद आपका स्तन कैंसर का जोखिम दोबारा सामान्य हो जाता है।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : क्या मुझे स्तन कैंसर होने का जोखिम है?
  • कैंसर रिसर्च UK : स्तन कैंसर जोखिम और कारण

Macmillan कैंसर सहायता : स्तन कैंसर कारण और जोखिम कारक

रोग-निदान

स्तन कैंसर क्लिनिक में परीक्षण

यदि आपको स्तन कैंसर की आशंका है, क्योंकि आपके लक्षणों के कारण या इस कारण कि आपके मेमोग्राम ने एक असामान्य स्थिति दिखाई है, आपको आगामी परीक्षणों के लिए एक स्पेशलिस्ट स्तन कैंसर क्लिनिक को रेफर किया जाएगा।

मेमोग्राम और स्तन अल्ट्रासाउंड

यदि आपके लक्षण हैं और आपके डॉक्टर द्वारा एक स्पेशलिस्ट स्तन कैंसर यूनिट को रेफर किया गया है, आपको संभवत: एक मेमोग्राम के लिए बुलाया जाएगा, जोकि आपके स्तनों का एक एक्स-रे है। आपको एक अल्ट्रासाउंड स्कैन की भी जरूरत हो सकती है।

आपके डाक्टर सुझाव दे सकते हैं कि यदि आपकी आयु 35 वर्ष से कम है तो आपको केवल अल्ट्रासाउंड स्कैन करवाना होगा। इसका कारण यह है कि युवा महिलाओं में सघन स्तन होते हैं, जिसका मतलब है कैंसर को खोज पाने में एक मेमोग्राम इतना प्रभावी नहीं है जितना अल्ट्रासउंड हेाता है।

अल्ट्रासाउंड आपके स्तनों के अंदर की एक छवि बनाने के लिए उच्च-आवृत्ति की ध्वनि तरंगों का उपयोग करती है, जो कोई भी गांठ या असामान्य स्थिति को दर्शाती है।

आपके स्पेशलिस्ट एक स्तन अल्ट्रासाउंड का सुझाव भी दे सकते हें यदि उन्हें यह जानने की जरूरत हो कि क्या आपके स्तन में गांठ ठोस है या इसमें तरल है।

इसके बारे में और पढ़ें स्तन स्क्रीनिंग.

बायोप्सी

एक बायोप्सी वह है जिसमें आपके स्तन में ऊत्तक कोशिकाओं से एक नमूना लेकर यह जाँच करने के लिए परीक्षण किया जाता है कि क्या यह कैंसरजन्य है।

आपकी बगल (कांख) का स्कैन और लिम्फ नोड्स से एक सूई जाँच करने की जरूरत भी यह देखने के लिए हो सकती है कि क्या वे भी प्रभावित हैं।

बायोप्सी विभिन्न तरीकों से की जा सकती है, और आपके लिए इसका प्रकार इस पर निर्भर करेगा जो आपके डॉक्टर आपकी स्थिति के बारे में जानते हैं।

बायोप्सी करने के विभिन्न तरीकों की चर्चा नीचे की गई है।

निडल एस्पाइरेशन का उपयोग आपकी स्तन कोशिका से कैंसर के लिए एक नमूने का परीक्षण करने या द्रवयुक्त गांठ (अबुर्द पुट्टी) से एक थोडा़ सा तरल निकालने के लिए किया जा सकता है।

आपके डॉक्टर एक छोटी सूई का उपयोग कोई भी ऊत्तक निकाले बगैर कोशिकाओं से एक नमूना लेने के लिए करेंगे।

बायोप्सी का सबसे आम प्रकार सूई द्वारा बायोप्सी है। एक बड़ी सूई इस्तेमाल करते हुए आपके स्तन में गांठ से ऊत्तक का एक नमूना लिया जाता है।

आपको एकस्थानीय निश्चेतक दिया जाएगा, जिसका मतलब है आप इस प्रक्रिया के दौरान जागते रहेंगे, परंतु आपका स्तन सुन्न होगा।

आपके डॉक्टर सुझाव दे सकते हैं कि आपकी एक गाइडेड निडल बायोप्सी करनी होगी, आमतौर पर यह अल्ट्रासाउंड या एक्स-रे, लेकिन कभी-कभी MRI द्वारा निर्देशित होती है, जो कैंसर का एक अधिक परिष्कृत और विश्वसनीय रोग-निदान प्राप्त करने के लिए की जाती है।

यह इसको एक गैर-आक्रामक बदलाव विशेषकर डक्टल कार्सिनोमा इन सिटू (DCIS) से भी अलग करता है, विशेषकर डक्टल कार्सिनोमा इन सिटू (DCIS)

वैक्यूम-एसोसिएटेड बायोप्सी जिसे मेमोटोन बायोप्सी के नाम से भी जाना जाता है, एक अन्य प्रकार की बायोप्सी होती है।

इस प्रक्रिया के दौरान, एक हल्के चूषक के साथ सूई जोड़ी जाती है जो नमूना लेने में और उस क्षेत्र में किसी रक्तस्राव को साफ करने में मदद करती है।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : एक स्तन क्लिनिक को रेफरल
  • स्तन कैंसर देखभाल : आपकी पैथोलॉजी रिपोर्ट
  • कैंसर रिसर्च UK : स्तन कैंसर का रोग-निदान
  • Macmillan: महिलाओं में स्तन कैंसर का रोग-निदान कैसे किया जाता है

स्तन कैंसर के लिए आगामी परीक्षण

यदि एक स्तन कैंसर के रोग-निदान की पुष्टि हो जाती है तो कैंसर का चरण और श्रेणी निर्धारित करने, और उपचार का बेहतर तरीका तैयार करने के लिए और परीक्षण करने की जरूरत होगी।

स्कैन और एक्स-रे

कम्पुटराज्ड टोमोग्राफी (CT) स्कैन या वक्ष एक्स-रे और लीवर के अल्ट्रासउंड स्कैन की जरूरत यह जाँ करने के लिए हो सकती है क्या कैंसर का फैलाव हुआ है।

स्तन के MRI स्कैन की जरूरत परिणामों को स्पष्ट करने या स्तन के अंदर स्थिति का आकलन करने के लिए जरूरत हो सकती है।

यदि आपके डॉक्टर का विचार है कि कैंसर आ फैलाव आपकी हड्डि‍यों तक हो गया है, आपको एक अस्थि स्कैन की जरूरत हो सकती है।

एक अस्थि स्कैन करने से पहले, एक रेडिएशनयुक्त पदार्थ की थोड़ी सी मात्रा जिसे आइसोटॉप के रूप में जानते हैं, आपकी बांह की शिरा में इंजेक्शन द्वारा दिया जाता है।

इसे आपकी अस्थि द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है, यदि यह कैंसर द्वारा प्रभावित हो। अस्थि का प्रभावित क्षेत्र अस्थि स्कैन में प्रकाशित क्षेत्र के रूप में दिखाई देगा, जिसे एक विशेष कैमरा इस्तेमाल करके किया जाता है।

विशेष प्रकार के उपचार निर्धारित करने के लिए परीक्षण

आपको ऐसे परीक्षणों की भी जरूरत होगी जो यह दर्शाते हैं कि क्या कैंसर विशेष प्रकार के उपचार पर प्रतिक्रिया करेगा।

इन परीक्षणों के परिणाम आपके डॉक्टर को आपके कैंसर के प्रकार और इसका बेहतर उपचार कैसे किया जाए इसका एक संपूर्ण त्रि प्रदान करेगा।

आपको प्रस्तावित किए जाने वाले परीक्षणों के प्रकारों पर नीचे चर्चा की गई है।

कुछ मामलों में, स्तन कैंसर कोशिकाएं आपके शरीर में प्राकृतिक रूप से उत्पन्न होने वाले हार्मोनों जैसे एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन द्वारा वृद्धि होने को उत्प्रेरित होती हैं।

यदि ऐसी स्थिति है तो कैंसर का उपचार हार्मोनों के प्रभावों को रोकने या आपके शरीर में इन हार्मोनों के लेवल को कम करके किया जा सकता है। इसे हार्मोन थैरेपी के रूप में जाना जाता है।

एक हार्मोन रिसेप्टर परीक्षण के दौरान, आपके स्तन से कैंसर कोशिकाओं का एक नमूना लिया जाएगा और यह देखने के लिए परीक्षण किया जाएगा कि क्या वे एस्ट्रोजन या प्रोजेस्ट्रोन में से किसी के प्रति प्रतिक्रिया करते हैं।

यदि एक हार्मोन रिसेप्टर के उपयोग द्वारा हार्मोन कैंसर कोशिकाओं के साथ संलग्न होने में सक्षम है तो उन्हें हार्मन रिसेप्टर पॉजिटिव के रूप में जाना जाता है।

जबकि हार्मोन कुछ प्रकार के स्तन कैंसर के पैदा होने को प्रोत्साहित करते हैं, अन्य प्रकार के कैंसर एक प्रोटीन द्वारा उत्प्रेरित होते हैं जिन्हें ह्युमन एपिडर्मल ग्रोथ फैक्टर रिसेप्टर 2 (HER2) कहा जाता है।

इस प्रकार के कैंसरों का रोग-निदान एक HER2 परीक्षण उपयोग करके किया जाता है और HER2 के प्रभावों को अवरूद्ध करने वाली दवाओं के साथ उपचार किया जाता है। इसे एक बायोलॉजीकल या लक्षित थैरेपी के रूप में जाना जाता है।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : स्तन कैंसर रोगनिदान

स्तन कैंसर के चरण और श्रेणी

स्तन कैंसर के चरण

जब आपके स्तन कैंसर का रोग-निदान किया जाता है तो डॉक्टर इसका एक रण निर्धारित करता है। यह चरण कैंसर के आकार और यह कहां तक फैला हुआ है इसे निर्धारित करता है, और दृष्टिकोण का अनुमान लगाने में मदद करता है।

डक्टल कार्सिनोमा इन सिटु (DCIS) को कभी-कभी चरण 0 के रूप में वर्णित किया जाता है। स्तन कैसर के अन्य चरण आक्रामक स्तन कैंसर वर्णित करते हैं:

  • चरण है – ट्युमर "इन सिटु" है और आक्रामक होने का कोई सबूत नहीं है (प्री इनवेसिव)
  • चरण 1 – ट्युमर का आकार 2 सें.मी. से कम होता है और बगलों में लिम्फ नोड्स प्रभावित नहीं होते हैं; कोई चिह्न नहीं होते कि कैंसर शरीर के किसी अन्य हिस्से मेंं फैला हुआ है
  • चरण 2 – ट्युमर का आकार 2-5 सें.मी. होता है और बगलों में लिम्फ नोड्स प्रभावित होते हैं; कोई चिह्न नहीं होते कि कैंसर शरीर के किसी अन्य हिस्से मेंं फैला हुआ है
  • चरण 3 – ट्युमर का आकार 2-5 सें.मी. होता है और स्तन की संरचना जैसे त्वचा या आसपास के ऊत्तकों से जुड़ा हो सकता है, और बगलों में लिम्फ नोड्स प्रभावित होते हैं; कोई चिह्न नहीं होते कि कैंसर शरीर के किसी अन्य हिस्से मेंं फैला हुआ है
  • चरण 4 – ट्युमर किसी भी आकार का होता है और कैंसर का फैलाव शरीर के अन्य हिस्सों में होता है (मेटास्टेटिस)

यह एक सरलीकृत गाइड है। प्रत्येक चरण को आगे श्रेणियों में बांटा गया है: A, B और C. यदि आप आश्वस्त नहीं है कि आपका कौन से चरण में है तो अपने डॉक्टर से पूछें।

TNM स्टेजिंग प्रणाली

TNM स्टेजिंग प्रणाली को भी स्तन कैंसर को वर्णित करने में उपयोग किया जा सकता है, क्योंकि यह रोग-निदान के बारे में सटीक जानकारी प्रदान करती है:

  • T – ट्युमर का आकार
  • N – क्या कैंसर का फैलाव लिम्फ नोड्स तक हुआ है
  • M – क्या कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैला हुआ है

स्तन कैंसर के ग्रेड

ग्रेड कैंसर कोशिकाओं के दिखाई देने को वर्णित करता है।

  • लो ग्रेड (G1) – कोशिकाएं, यद्यपि असामान्य होती हैं, धीरे-धीरे पैदा होती दिखाई देती हैं
  • मिडीयम ग्रेड (G2) – कोशिकाएं लो ग्रेड कोशिकाओं की अपेक्षा ज्यादा असामान्य नजर आती हैं
  • हाई ग्रेड (G3) – कोशिकाएं और भी असामान्य दिखाई देती हैं और तेजी से बढ़ने की अधिक संश्राावना होती है

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : कैंसर आकार और ग्रेड
  • कैंसर रिर्सच UK : TNM ब्रेस्ट कैंसर स्टेजिंग

कैंसर रिसर्च UK: स्तन कैंसर के संख्या चरण

उपचार

उपचार अवलोकन

स्तन कैंसर के लिए सर्जरी आमतौर पर पहले प्रकार का उपचार है। सर्जरी का प्रकार जिससे आप गुजरते हैं वह आपके स्तन कैंसर के प्रकार पर निर्भर करता है।

सर्जरी के बाद प्राय: कैमोथैरपी या रेडियोथैरेपी या कुछ मामलों में हार्मोन या बायोलॉजिकल उपचार किया जाता है। दोबारा, आपको जो उपचार दिया जाएगा वह आपके स्तन कैंसर के प्रकार पर निर्भर करता है।

आपके डॉक्टर आपके लिए सबसे उपयुक्त उपचार योजना की चर्चा करेंगे। कभी-कभी कैमोथैरपी या हार्मोन थैरेपी पहला उपचार होता है।

सेकण्डरी स्तन कैंसर

ज्यादातर स्तन कैंसर इस स्थिति के शुरूआती चरणा में खोज लिए जाते हैं। परंतु, थोड़ी सी संख्या में महिलाएं स्तन कैंसर की खोज इसके शरीर के अन्य भागों में फैलने (मेटास्टेटिक) के बाद कर पाती हैं।

यदि ऐसी स्थिति है तो आपके उपचार का प्रकार अलग हो सकता है। सेकण्डरी कैंसर को "एडवांस्ड" या "मेटास्टेटिक" कैंसर भी कहा जाता है, और यह इलाज योग्य नहीं है।

उपचार का लक्ष्य छुटकारा पाना है, जिसमें कैंसर सिकुड़ या अदृश्य हो जाता है, और आप सामान्य महसूस करते हैं और जीवन का पूरा आनंद लेने में सक्षम होते हैं।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : सेकण्डरी स्तन कैंसर
  • ब्रेस्ट कैंसर नॉउ : सेकण्डरी स्तन कैंसर नियंत्रण करना

सर्जरी

स्तन कैंसर सर्जरी/शल्यक्रिया के दो मुख्य प्रकार हैं:

  • स्तन-संरक्षण सर्जरी – कैंसरयुक्त गांड (ट्युमर) को निकाल दिया जाता है
  • मैसटेक्टोमी – संपूर्ण स्तन को निकालने के लिए सर्जरी

बहुत से मामलों में, स्तन उच्छेदन के बाद एक पुर्नरचना सर्जरी की जा सकती है जो निकाले गए स्तन के स्थान पर फिर से एक उभार निर्मित करने के प्रयास में की जाती है।

अध्ययन दर्शाते हैं कि आरंभिक-चरण के स्तन कैंसर के उपचार में रेडियोथैरेपी के बाद स्तन-संरक्षण सर्जरी इतनी ही सफल है जितनी संपूर्ण स्तन उच्छेदन में है।

स्तन-संरक्षण सर्जरी

स्तन-संरक्षण सर्जरी एक लेम्पेक्टॉमी या चौड़े स्थानिक छेदन से लेकर, जहां सिर्फ ट्यूमर और थोड़ा आसपास के स्तन ऊतक को हटा दिया जाता है, आंशिक मास्टेक्टॉमी या क्वाड्रंटेक्टोमी तक होती है, जहां एक चौथाई तक स्तन को निकाल दिया जाता है।

यदि आपकी स्तन-संरक्षण सर्जरी हुई है तो आपके निकाले जाने वाले स्तन ऊतकों की मात्रा इस निर्भर करेगी:

  • आपके कैंसर का प्रकार
  • ट्यूमर का आकार और आपके स्तन में यह कहां पर है
  • आसपास के ऊत्तकों की मात्रा जिन्हें निकालने की जरूरत है
  • आपके स्तनों का आकार

आपके सर्जन हमेशा कैंसर के चारों ओर के स्वस्थ स्तन ऊतकों का एक क्षेत्र निकालेंगे, जिसका कैंसर के निशान खोजने के लिए परीक्षण किया जाएगा।

यदि स्वस्थ ऊतक में काई केंसर मौजूद नहीं है तो दोबारा कैंसर होने की कम संभावना होगी।

यदि आपास के ऊतक में कैंसर कोशिकाएं पाई जाती हैं तो आपके स्तन से और ऊतक निकालने की जरूरत हो सकती है।

स्तन-संरक्षण सर्जरी किए जाने के बाद किसी शेष रही गई कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए आपको आमतौर पर रेडियोथैरेपी करने का प्रस्ताव दिया जाता है।

स्तन-उच्छेदन

स्तन-उच्छेदन में निप्पल सहित सभी स्तन ऊतकों को निकाला जाता है।

यदि कोई स्पष्ट चिह्न नहीं है कि कैंसर आपके लिम्फ नोड्स में फैल गया है, आपका स्तन-उच्छेन किया जा सकता है, जिसमें एक सेंटीनल लिम्फ नोड बायोप्सी के साथ ही आपके स्तन को निकाला जाता है।

यदि कैंसर आपके लिम्फ नोड्स में फैल गया है तो आपको अपनी बांह के नीचे बगल में शायद और अधिक व्यापक लिम्फ नोड्स निकलवाने (सफाई) की जरूरत होगी।

पुर्नरचना

स्तन पुर्नरचना एक नया स्तन आकृति तैयार करने की सर्जरी है जो यथा संभव अधिक से अधिक आपके दूसरे स्तन की तरह दिखाई देती है।

पुर्नरचना स्तनउच्छेदन के समय ही (तत्काल पुर्नरचना) की जा सकती है , या इसे बाद में (विलंबित पुर्नरचना) किया जा सकता है।

इसे एक स्तन इंप्लांट डालकर या आपके शरीर के अन्य हिस्से से ऊतक का उपयोग करके किया जा सकता है।

लिम्फ नोड सर्जरी

यह ज्ञात करने के लिए क्या कैंसर का फैलाव हुआ है, एक सेंटीनल लिम्फ नोड बायोप्सी नाम की एक प्रक्रिया की जा सकती है।

सेंटीनल लिम्फ नोड्स पहली लिम्फ नोड्स हैं जो यदि कैंसर कोशिकाएं फैलें तो इन तक पहुँचती हैं। वे बांह के नीचे (आक्ज‍िलरी लिम्फ नोड्स) लिम्फ नोड्स का हिस्सा होती हैं।

सेंटीनल लिम्फ नोड्स की स्थिति में विभिन्नता होती है, इसलिए उन्हें एक रेडियोआइसोटॉप और एक ब्ल्यू आई के संयोजन का उपयोग करके चिह्नित किया जाता है।

सेंटीनल लिम्फ नोड्स की लेबोरेट्री में यह देखने के लिए जाँच की जाती है कि क्या कोई कैंसर कोशिका मौजूद है। यह एक अच्छा संकेतक है कि क्या कैंसर का फैलाव हुआ है।

सेंटीनल नोड्स में यदि कैंसर कोशिकाएं हैं तो आपको बांह के नीचे से और अधिक लिम्फ नोड्स निकालने के लिए सर्जरी की जरूरत हो सकती है।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : स्तन पुर्ननिर्माण
  • कैंसर रिसर्च UK: स्तन कैंसर सर्जरी के प्रकार
  • पूर्वानुमान: स्तन कैंसर सर्जरी के बाद उपचार के सही कोर्स का निर्णय किया जाता है

रेडियोथैरेपी

रेडियोथैरेपी में कैंसर कोशिकाओं को समाप्त करने के लिए रेडिएशन की नियंत्रित मात्रा उपयोग की जाती है। इसे आमतौर पर सर्जरी और कैमोथैरेपी के बाद शेष बची हुई किसी कैंसर कोशिकाओं को समाप्त करने के लिए दिया जाता है।

यदि आपको रेडियोथैरेपी की जरूरत होती है तो आपके शरीर को स्वास्थ्य लाभ का अवसर देते हुए आपका उपचार आपकी सर्जरी या कैमोथैरेपी के लगभग एक माह बाद शुरू होगा।

आपके रेडियोथैरेपी के सत्र संभवत: सप्ताह में तीन से पाँच दिनों तक, तीन से लेकर छह सप्ताह तक होंगे। प्रत्येक सत्र कुछ मिनट का होता है।

आपकी रेडियोथैरेपी का प्रकार आपके कैंसर और आपकी की गई सर्जरी पर निर्भर करेगा। कुछ महिलाओं में रेडियोथैरेपी की बिल्कुल जरूरत नहीं हो सकती है।

इसके उपलब्ध प्रकार हैं:

  • स्तन रेडियोथैरेपी – स्तन पुर्नरचना थैरेपी के बाद, बाकी बचे संपूर्ण स्तन ऊतकों पर रेडिएशन लागू किया जाता है
  • चेस्ट वॉल रेडियोथैरेपी – स्तनउच्छेन के बाद वक्षभित्ती पर रेडियथैरेपी की जाती है
  • ब्रेस्ट बूस्ट – कुछ महिलाओं के लिए उन क्षेत्रों में रेडियोथैरेपी के उच्च-डोज का बूस्ट देने का प्रस्ताव किया जाता हैं जहां से कैंसर निकाला गया है; परंतु, बूस्ट स्तनों की दिखावट को प्रभावित कर सकता है, विशेषकर यदि आपके स्तन बड़े हों, और कभी-कभी अन्य दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं, जिनमें स्तन ऊतकों का कठोर होना (फाइबरोसिस) भी शामिल है
  • लिम्फ नोड्स की रेडियोथैरेपी – जहां रेडियोथैरेपी बगलों (कांख) और आसपास के क्षेत्र में किसी कैंसर कोशिका को नष्ट करने के लिए लक्षित होती है जो लिम्फ नोड्स में मौजूद हो सकते हैं

रेडियोथैरेपी के दुष्प्रभावों में शामिल हो सकते हैं:

  • जलन और आपके स्तन पर त्वचा का काला पड़ना, जिससे खराश, लाल, रूखी त्वचा हो सकती है
  • अत्यधिक थकावट (थकान)
  • आपकी बांह के नीचे अत्यधिक तरल का निर्माण जिसके कारण आपकी बांह के नीचे लिम्फ नोड्स अवरूद्ध हो जाती हैं(लिम्फोडेमा)

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : प्राथमिक स्तन कैंसर के लिए रेडियोथैरेपी
  • कैंसर रिसर्च UK: स्तन कैंसर के लिए रेडियोथैरेपी
  • Macmillan: महिलाओं में स्तन कैंसर के लिए रेडियोथैरेपी

कैमोथैरपी

कैमोथैरेपी में कैंसर कोशिकाओं को समाप्त करने के लिए कैंसर-रोधी (साइटोटॉक्षिक) दवाओं का उपयोग शामिल है।

इसे आमतौर पर सर्जरी के बाद उन कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में इस्तेमाल किया जाता है जिन्हें निकाला नहीं गया हो। इसे एडजुवेंट कैमोथैरेपी कहा जाता है।

कुछ मामलों में आपकी सर्जरी से पहले कैमोथैरेपी की जाती है, जिसे अक्सर एक बड़े ट्यूमर को सिकोड़ने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे नियो-एडजुवेंट कैमोथैरेपी कहा जाता है।

कैमोथैरेपी में विभिन्न प्रकार की अनेक दवाएं उपयोग की जाती हैं, और वे अक्सर एक साथ दी जाती हैं।

दवाओं का चयन और संयोजन स्तन कैंसर के प्रकार और इसका विस्तार कितना है इस पर आधारित होता है।

कैमोथैरेपी आमतौर पर एक बाह्या रोगी उपचार के रूप में दी जाती है, इसका मतलब है आपको रात्रि में हॉस्पिटल में नहीं रहना होता है। यह दवाइयां अक्सर एक ड्रिप द्वारा एक शिरा के माध्यम से सीधे रक्त में दी जाती हैं।

कुछ मामलों में, आपको गोलियां दी जा सकती हैं जो आप घर ले जा सकते हैं। कैमोथैरेपी के सत्र दो या तीन सप्ताह में एक बार, आपके शरीर को उपचार के बीच में विश्राम देते हुए चार से लेकर आठ माह की अवधि तक हो सकते हैं।

कैमोथैरपी के मुख्य दुष्प्रभाव सामान्य, स्वस्थ कोशिकाओं, जैसे रोग प्रतिरोधी कोशिकाएंं पर उसके प्रभाव के कारण होते हैं।

दुष्प्रभावों में शामिल हैं:

  • संक्रमण
  • भूख में कमी
  • मिचली और उल्टी करना
  • थकावट
  • बालों की क्षति
  • मुँह में छाले

बहुत से दुष्प्रभावों की दवाइयों द्वारा रोकथाम या नियंत्रण किया जा सकता है जिन्हें आपका डॉक्टर प्रिस्क्राइब कर सकता है।

कैमोथेरपी की दवा आपके शरीर में एस्ट्रोजन के उत्पादन की रोकथाम कर सकती हैं, जिसे कुछ स्तन कैंसरों की उत्पत्ति में वृद्धि करने वाला माना जाता है।

यदि आपकी रजोनिवृत्ति नहीं हुई है तो कैमोथैरपी उपचार में रहने के दौरान आपके मासिकधर्म रूक सकते हैं।

आपके कैमोथैरेपी कोर्स पूरा करने के बाद आपका गर्भाशय फिर से एस्ट्रोजन का उत्पादन करना शुरू कर सकता है।

परंतु, यह हमेशा नहीं होता है और आप एकसमयपूर्व रजोनिवृत्तिअवस्था में प्रवेश कर सकते हैं। इसकी 40 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं में अधिक संभावना होती है क्योंकि वे रजोनिवृत्ति की आयु के नजदीक होती हैं।

आपके डॉक्टर उपचार का आपकी प्रजनन क्षमता पर होने वाले किसी प्रभाव के बारे में आपसे चर्चा करेंगे।

सैकण्डरी स्तन कैंसर के लिए कैमोथैरेपी

यदि स्तन कैंसर स्तन से बाहर और लिम्फ नोड्स/लसिकापर्व से शरीर के अन्य हिस्सों तक फैल गया है, कैमोथैरपी कैंसर का इलाज नहीं करेगी, परंतु यह ट्यूमर को सिकोड़ कर, लक्षणों को खत्म कर सकती है, और आपके जीवन काल को बढ़ाने में मदद कर सकती है।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : कैमोथैरेपी
  • कैंसर रिसर्च UK : स्तन कैंसर के लिए कैमोथैरेपी
  • Macmillan: महिलाओं में स्तन कैंसर के लिए कैमोथैरेपी
  • नैशनल इंस्टीट्युट फॉर हेल्थ एण्ड केयर एक्सिलेंस (NICE): एडवांस्ड ब्रेस्ट कैंसर

हार्मोन उपचार

कुछ स्तन कैंसर एस्ट्रोजन या प्रोजेस्टेरोन हार्मोनों द्वारा बढने के लिए प्रेरित होते हैं, जो कि आपके शरीर में प्राकृतिक रूप से मौजूद होते हैं।

इस प्रकार के कैंसर को हार्मोन रिसेप्टर-पॉजिटिव कैंसरों के रूप में जाना जाता है। हार्मोन थैरेपी आपके शरीर में हार्मोनों के स्तर को कम करके या उनके प्रभावों को रोकने के द्वारा कार्य करती है।

आपको प्राप्त होने वाली हार्मोन थैरेपी का प्रकार आपके कैंसर के चरण और श्रेणी पर निर्भर करता है, कौन से हार्मोन के प्रति यह संवेदनशील है, आपकी आयु, क्या आपको रजोनिवृत्ति हो चुकी है, और आप कौन से अन्य प्रकार के उपचार प्राप्त कर रहे हैं।

आपको सर्जरी और कैमोथैरपी के बाद संभवत: हार्मोन थैरेपी दी जाए, लेकिन कभी-कभी इसे एक ट्युमर को सिकोड़ने के लिए सर्जरी से पहले भी दिया जाता है जिससे इसे निकालना आसान हो जाता है।

हार्मोन ािैरेपी का उपयोग स्तन कैंसर के उपचार में केवल तब उपयोग किया जा सकता है जब आपका सामान्य स्वास्थ्य आपको सर्जरी, कैमोथैरेपी या रेडियोथैरेपी करवाने से रोकता है।

अधिकतम मामलों में, आपको हार्मोन थैरेपी की जरूरत सर्जरी करवाने के पाँच वर्ष बाद तक होती है। यदि आपका स्तन कैंसर हार्मोनों के प्रति संवेदनशील नहीं है तो हार्मोन थैरेपी का कोई प्रभाव नहीं होगा।

टेमोक्सिफेन

टेमोक्सिफेन एस्ट्रोजन को एस्ट्रोजन-रिसेप्टर-पॉजिटिव कैंसर कोशिकाओं को बांधने से रोकती है। इसे प्रतिदिन एक गोली या तरल के रूप में लिया जाता है।

इसके कारण अनेक दुष्प्रभाव हो सकते हैं, इनमें शामिल हैं:

  • थकावट
  • आपके मासिकधर्म में बदलाव
  • मिचली और उल्टी करना
  • गर्मी लगना
  • जोड़ों में दर्द
  • सिरदर्द
  • वजन बढ़ना

अरोमाटेसे अवरोधक

यदि आपको रजोनिवृत्ति हो चुकी है तो आपको एक अरोमाटेसे अवरोधक प्रस्तावित की जा सकती है।

इस प्रकार की दवा अरोमाटेसे को अवरूद्ध करके कार्य करती है, एक पदार्थ जो रजोनिवृत्ति के बाद शरीर में एस्ट्रोजन पैदा करने में मदद करता है। रजोनिवृत्ति से पहले, एस्ट्रोजन का निर्माण अण्डाशय द्वारा किया जाता है।

तीन अरोमाटेसे अवरोधक की पेशकश की जा सकती है। ये एनास्ट्रोज़ोल, एक्सटेस्टेन और लेट्रोज़ोल हैं। ये दिन में एक बार एक टेबलेट के रूप में लिए जाते हैं।

दुष्प्रभावों में शामिल हैं:

  • गर्मी लगना और पसीना
  • सेक्स में रूचि कम होना (कामेच्छा की कमी)
  • मिचली और उल्टी करना
  • थकावट
  • जोड़ों में दर्द और अस्थियों में पीड़ा
  • सिरदर्द
  • त्वचा पर चक्कते

डिंबग्रंथि पृथक्करण या दमन करना

ऐसी महिलाओं में जिन्हें रजोनिवृत्ति नहीं हुई है, एस्ट्रोजन का निार्मण अण्डाशों द्वारा होता है। डिंबग्रंथि पृथक्करण या दमन करना अण्डाशों को कार्य करने और एस्ट्रोजन पैदा करने से रोक देता है।

यह पृथक्करण सर्जरी या रेडियोथैरेपी उपयोग करके किया जा सकता है। यह डिंबग्रंथियों को स्थाई रूप कार्य करने से रोक देता है और इसका मतलब है आपको समयपूर्व रजोनिवृत्ति होती है।

डिम्बग्रंथि दमन में गोसेरेलिन नामक दवा का उपयोग करना शामिल है, जो एक ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन-रिलीजिंग हार्मोन एगोनिस्ट (एलएचआरएचएए) है।

जब आप इसे लेते हैं तो आपको मासिकधर्म रूक जाएंगे, यद्यपि आपका उपचार पूरा होने पर वे दोबारा शुरू हो जाएंगे।

यदि आपकी रजोनिवृत्ति की आयु के पास हैं (लगभग 50 वर्ष की आयु), आपके गोसेरेलिन लेना बंद करने के बाद आपका मासिक धर्म दोबारा फिर से शुरू नहीं हो सकता है।

जोसेरेलिन महीने में एक बार एक इंजेक्शन के माध्यम से ली जाती है और रजोनिवृत्ति के दुष्प्रभावों का कारण बन सकती हे, जिनमें शामिल हैं:

  • गर्मी लगना और पसीना
  • मूड बदलते रहना
  • निद्रा में परेशानी

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : हार्मोन थैरेपी
  • नैशनल इंस्टीट्युट फॉर हेल्थ एण्ड केयर एक्सिलेंस (NICE) : समर्य-पूर्व एस्ट्रोजन-रिसेप्टर-पॉजिटिव स्तन कैंसर के एडजुवेंट उपचार के लिए हार्मोनल थैरेपी

बायोलॉजीकल थैरेपी (लक्षित थैरेपी)

कुछ कैंसर एक प्रोटी द्वारा उत्पन्न होने के लिए प्रेरित होते हैं जिसे ह्युमन एपिडर्मल ग्रोथ फैक्टर रिसेप्टर 2 (HER2) कहा जाता है। इन कैंसरों को HER2-POSITIVE कहा जाता है।

बायोलॉजीकल थैरेपी HER2 के प्रभावों को रोकने के द्वारा कार्य करती है और कैंसर कोशिकाओं के साथ लड़ने में आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली की सहायता करती है।

यदि आपमें HER2 प्रोटीन का उच्च स्तर है और बायोलॉजीकल थैरेपी करवाने में समर्थ हैं, आपको संभवत: एक दवाइ प्रिस्क्राइब की जाए जिसे त्रास्तुज़ुमाब कहा जाता है।

त्रास्तुज़ुमाब को इसके ब्राण्ड नाम Herceptin नाम से भी जाना जाता है, जो आमतौर पर कैमोथैरेपी के बाद उपयोग की जाती है।

त्रास्तुज़ुमाब

त्रास्तुज़ुमाब एक बायोलॉजीकल थैरेपी का प्रकार है जिसे मोनोक्लोनल एंटीबॉडी के रूप में जाना जाता है।

एंटीबॉडी या रोग प्रतिरक्षी आपके शरीर में प्राकृतिक रूप से उत्पन्न होते हैं और आपकी प्रतिरक्षणा प्रणाली द्वारा हानिकारक कोशिकाओं जैसे वायरस और बैक्टीरिया को नष्ट करने के लिए पैदा किए जाते हैं।

त्रास्तुज़ुमाब एंटीबॉडी कैंसर कोशिकाओं को लक्षित और नष्ट करते हैं जो HER2-positive होती हैं।

त्रास्तुज़ुमाब को अक्सर एक ड्रिप के द्वारा अंत:शिरा में दिया जाता है। यह कभी-कभी त्वचा के नीचे एक इंजेक्शन (सबक्युटेनियस इंजेक्शन) के रूप में भी उपलब्ध होती है।

आपका उपचार हॉस्पिटल में किया जाएगा। प्रत्येक उपचार सत्र में एक घंटा तक लगता है और आपकी आवश्यकता के सत्रों की संख्या इस पर निर्भर करती है कि क्या आपको एक आरंभिक या अधिक एडवांस्ड स्तन कैंसर है।

औसतन, आपको आरंभिक स्तन कैंसर के लिए प्रत्येक तीन सप्ताह में एक सत्र की जरूरत होती है, यदि आपका कैंसर अधिक एडवांस्ड है तो साप्ताहिक सत्रों की आवश्यकता होती है।

त्रास्तुज़ुमाब के कारण ह्दय समस्याओं सहित दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इसका मतलब है कि यदि आपको हृदय संबंधी समस्याएं जैसे एंजिना , अनियंत्रित उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) , या हृदय वाल्व रोग हैं तो यह उपयुक्त नहीं है।

यदि आपको त्रास्तुज़ुमाब लेने की जरूरत है तो आपको यह सुनिश्चित करने के लिए नियमित हृदय संबंधी परीक्षण करावने होंगे कि यह कोई समस्या पैदा नहीं कर रही है।

त्रास्तुज़ुमाब के अन्य दुष्प्रभावों में शामिल हो सकते हैं:

  • दवा के प्रति एक आरंभिक एलर्जी संबंधी रिएक्शन, जिसके कारण मतली, घरघराहट, ठंड लगना और बुखार हो सकते हैं
  • दस्त
  • थकावट
  • दर्द और पीड़ा

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : लक्षित थैरेपी

क्लिनिकल ट्रायल

स्तन कैंसर उपचार में काफी प्रगति हुई है, और अब बहुत सी महिलाएं लंबा जीवन जी रही हैं और उपचार से कम दुष्प्रभाव होते हैं।

इन प्रगतियों की खोज क्लिनिकल परीक्षणों में हुई है, जहां नए उपचारों और उपार संयोजनों की तुलना मानक उपचारों से की जाती हैं।

UK में सभी क्लिनिकल ट्रायलों की सावधानपूर्वक निगरानी युह सुनिश्चित करने के लिए की जाती है कि वे उपयोगी हैं और सुरक्षित ढंग से संचालित किए जाते हैं। वास्तव में, क्लिनिकल ट्रायलों में प्रतिभागी कुल मिलाकर रू‍टीन देखभाल के बजाय बेहतर प्रदर्शन करते हैं।

यदि आपसे ट्रायल में भाग लेने के लिए कहा जाए तो आपको एक जानकारी पत्रक दिया जाएगा, और यदि आप भाग लेना चाहें तो आपको एक सहमति प्रपत्र पर हस्ताक्षर करने के लिए कहा जाएगा। आप अपनी देखभाल पर कोई प्रभाव पड़े बगैर एक क्लिनिकल ट्रायल से इन्कार कर सकते हैं या हट सकते हैं।

अधिक जानना चाहते हैं?

मनोचिकित्सकीय सहायता

कैंसर का सामना करना मरीजों और उनके परिवारों दोनों के लिए एक बड़ी चुनौती हो सकती है। इसके कारण भावनात्मक और व्यवहारिक मुश्किलें हो सकती हैं।

बहुत सी महिलाओं को एक स्तन का संपूर्ण या एक हिस्सा निकलवाने का सामना करना होता है, जो बहुत परेशान करने वाला हो सकता है।

आपकी भावनाओं या अन्य कठिनाईयों के बारे में एक प्रशिक्षित सलाहकार या थैरेपिस्ट के साथ बात करना प्राय: सहायक होता है। आप अपनी बीमारी के किसी भी चरण में इस प्रकार की सहायता के लिए आग्रह कर सकते हैं।

सहायता और मदद प्राप्त करने के अनेक तरीके हैं। आपके हॉस्पिटल के डॉक्टर, स्पेशलिस्ट नर्स या डॉक्टर आपको एक सलाहकार को रेफर कर सकते हैं।

यदि आप निराशा महसूस कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से बातचीत करें। अवसादरोधी दवाओं का कोर्स मदद कर सकता है, आपके डॉक्टर एक सलाहकार या मनोचिकित्सक के साथ मुलाकात की व्यवस्था कर सकते हैं।

किसी ऐसे व्यक्ति के साथ बात करना सहायक हो सकता जो उसी चीज से गुजरा है जिसमें आप हैं। बहुत से संगठन हेल्पलाइनें और ऑनलाइन फोरम संचालित करते हैं। वे आपको दूसरों लोगों के संपर्क में रख सकते हैं जिनका कैंसर के लिए उपचार हो चुका है।

अधिक जानना चाहते हैं?

अनुपूरक थैरेपियां

अनुपूरक थैरेपियां समग्र थैरेपियां होती हैं जो शारीरिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकती हैं।

उन्हें परम्परागत उपचार के साथ दिया जाता है और इनमें शामिल है:

अनुपूरक थैरेपी कुछ महिलाओं की रोग-निदान और उपचार का सामना करने में मदद कर सकती है, और उपचार प्लान से एक ब्रेक प्रदान करती है।

आपका हॉस्पिटल या ब्रेस्ट यूनिट अनुपूरक थैरेपियों तक पहुँच प्रदान करने में सक्षम हो सकते हैं या सुझाव दे सकते हैं आप उन्हें कहां प्राप्त कर सकते हैं।

यह महत्वपूर्ण है कि आपके स्तन कैंसर स्पेशलिस्ट नर्स के साथ अनुपूरक थैरेपी के बारे में बातचीत करें ताकि सुनिश्चित हो कि यह आपके परम्परागत उपचार में कोई हस्तक्षेप नहीं करती है।

अधिक जानना चाहते हैं?

स्तन कैंसर देखभाल : अनुपूरक उपचार

रोकथाम

क्योंकि स्तन कैंसर के कारण पूरी तरह समझे नहीं गए हैं, अभी यह जानकारी नहीं है कि क्या इसकी पूरी तरह रोकथाम की जा सकती है।

सामान्य महिलाओं की अपेक्षा यह स्थिति विकसित होने के उच्च जोखिम वाली उन महिलाओं के लिए जोखिम कम करने के कुछ उपचार उपलब्ध हैं।

आहार और जीवनशैली

नियमित व्यायाम और एक स्वस्थ, संतुलित आहार की सिफारिश सभी महिलाओं के लिए की जाती है क्योंकि यह उनके स्थितियों की रोकथाम करने में मदद करता है, जिनमें हृदय रोग, डायबिटीज और कैंसर के अनेक स्वरूप शामिल हैं।

अध्ययनों में स्तन कैंसर और आहार के मध्य कड़ी पर नजर डाली गई है और यद्यपि कोई निश्चित निष्कर्षों पर नहीं पहुँचे हैं, लेकिन उन महिलाओं के लिए फायदेमंद है जो :

  • एक स्वस्थ वजन बनाए रखती हैं
  • नियमित व्यायाम करती हैं
  • संतृप्त वसा और अल्कोहल का कम सेवन करती हैं

हमारे स्वस्थ वजन कैलकुलेटर का उपयोग यह जाँच करने के लिए करें क्या आप एक स्वस्थ वजन रखती हैं।

यह सुझाव भी दिया जाता है कि नियमित व्यायाम आपके स्तन कैंसर के जोखिम को तीसरे के जितना ही कम कर सकता है।

यदि आपरजोनिवृत्ति से गुजर रही हैं, यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है कि आप अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त नहीं हैं। इसका कारण यह है कि अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त होने के कारण आपका शरीर अधिक एस्ट्रोजन उत्पन्न करता है जो स्तन कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

स्तनपान करवाना

अध्ययन दर्शाते हैं कि जो महिलाएं स्तनपान करवाती हैं उन महिलाओं में स्तन कैंसर होने की संभावना उन महिलाओं की अपेक्षा कम होती हैं जो स्तनपान नहीं करवाती हैं।

इसके कारण पूरी तरह समझे नहीं गए हैं, लेकिन इसका कारण यह हो सकता है कि स्तनपान करवाने के दौरान उनमें नियमित तौर पर अंडाणु नहीं बनते और एस्ट्रोजन के स्तर स्थिर रहते हैं।

आपके जोखिम को कम करने वाले उपचार

यदि आपमें स्तन कैंसर होने के अधिक जोखिम हैं, आपके जोखिम को कम करने के उपचार उपलब्ध हैं।

आपका जोखिम विभिन्न कारकों जैसे आपकी आयु, आपके परिवार का चिकित्सा इतिहास, आनुवांशि‍की परीक्षणों के परिणामों पर निर्भर करता है।

आपको अक्सर एक आनुवांशिकी सेवा के लिए रेफर किया जाता है, यदि यह माना जाए कि आपमें स्तन कैंसर के जोखिम बढ़े हुए हैं। इन सेवाओं में कार्य कर रहे हेल्थ्‍केयर पेशेवर आपके साथ उपचार विकल्पों पर चर्चा करेंगे।

दो मुख्य उपचार स्तनों को निकालने के लिए सर्जरी (स्तन-उच्छेदन) या दवाइयां हैं। इन्हें और विस्तार से नीचे वर्णित किया गया है।

स्तन-उच्छेदन

एकमैसटेक्टोमीस्तन को निकालने के लिए सर्जरी है। इसे स्तन कैंसर का उपचार करने में इस्तेमाल किया जा सकता है और उच्च-जोखिम वाले परिवारों में थोड़ी संख्या में महिलाओं में यह स्थिति उत्पन्न होने के अवसरों को कम करती है।

यथा संभव अधिक से अधिक स्तन ऊतकों को निकालने के द्वारा, एक स्तन उच्छेदन आपके स्तन कैंसर होने के जोखिम को 90% तक कम कर देता है।

परंतु, सभी ऑप्रेशनों की तरह इसमें जटिलताओं का एक जोखिम होता है, और आपके स्तनों को निकालने पर आपके शरीर की छवि और यौन संबंधों पर काफी प्रभाव पड़ सकता है।

यदि आप चाहें, आमतौर पर आप स्तन उच्छेन ऑप्रेशन के दौरान या बाद में किसी दिन स्तन पुर्नरचना करवाने का चुनाव कर सकती हैं।

स्तन पुर्नरचना सर्जरी के दौरान, ब्रेस्ट इंप्लांट या आपके शरीर के किसी अन्य भाग से ऊतको का उपयोग करके आपके वास्तिक स्तन आकृति की पुर्नरचना की जाती है।

एक विकल्प कृत्रिम स्तन का उपयोग करना है। ये कृत्रिम स्तन होते हैं जिन्हें आप ब्रा के अंदर पहन सकती हैं।

स्तन-उच्छेदन का एक विकल्प एक निप्पल-संरक्षित स्तन उच्छेदन है जिसमें संपूर्ण स्तन ग्रंथियों को निकाल दिया जाता है, परंतु त्वचा के खोल को संरक्षित रखा जाता है। यह अभी व्यापक रूप से उपलब्ध नहीं है, लेकिन यह अक्सर इस्तेमाल किया जाता है और काफी अच्छे परिणाम हासिल किए जा सकते हैं।

दवाइयां

यह दवाइयां स्तन कैंसर के बढ़े हुए जोखिम वाली महिलाओं के लिए NHS पर उपलब्ध हैं:

  • टेमोक्सिफेन – उन महिलाओं के लिए जिनकी रजोनिवृत्ति हो गई या नहीं हुई है
  • एनास्ट्रोजोल – उन महिलाओं के लिए जो रजोनिवृत्ति से गुजर रही हैं
  • रेलोक्सीफेन – उन महिलाओं के लिए जो रजोनिवृत्ति से गुजर रही हैं

ये दवाइयां आमतौर पर दिन में एक बार पाँच वर्षों तक ली जाती हैं। ये उन्हें लेने के दौरान और संभवत: बाद में अनेक वर्षों तक आपके स्तन कैंसर के जोखिम को कम कर सकती हैं।

इन दवाइयों के दुष्प्रभावों में शामिल हो सकते हैं:

कुछ ज्यादा गंभीर समस्याओं का भी थोड़ा जोखिम होता है, जैसेकमजोर अस्थियां (एस्टोपोरोसिस), रक्त के थक्के या गर्भाशय का कैंसर

यदि आपके डॉक्टर स्तन कैंसर के जोखिम को कम करने के लिए दवाइयां लेने का सुझाव देते हैं तो उनसे प्रत्येक दवा के फायदों और जोखिम के बारे में पूछें।

नैशनल इंस्टीट्युट फॉर हेल्थ एण्ड केयर एक्सिलेंस के पास इस बारे में और जानकारी है स्तन कैंसर को जोखिम कम करने के लिए दवा उपचार.

अधिक जानना चाहते हैं?

कैंसर रिसर्च UK : स्तन कैंसर के लिए स्क्रीनिंग

इसके साथ जीवन

रिकवरी और फॉलो-अप

स्वास्थ्य-लाभ

स्तन कैंसर से पीड़ि‍त अधिकतर महिलाओं का उनके उपचार के रूप में ऑप्रेशन होता है। सर्जरी के बाद फिर से सामान्य होने में कुछ समय लग सकता है। यह महत्वपूर्ण है कि चीजों को सामान्य रूप से लें और स्वास्थ्य-लाभ के लिए स्वयं को समय दीजिए।

इस समय के दौरान, चीजों को उठाने से बचें – उदाहरण, बच्चे या भारी शॉपिंग बैग – और भारी घरेलू कार्यों को करने से बचें। आपको ड्राइव नहीं करने की सलाह भी दी जा सकती है।

इसके बोर में और पढ़ें एक ऑप्रेशन के बाद स्वास्थ्य-लाभ.

कुछ अन्य उपचार, खासतौर पर रेडियोथैरेपी औरकैमोथैरेपी आपको बहुत थकावट दे सकते हैं।

आपको कुछ समय के लिए अपनी सामान्य गतिविधियों से विश्राम लेने की जरूरत हो सकती है। परिवार और मित्रों से व्यवहारिक सहायता लेने से मत डरें।

फॉलो-अप

आपका उपचार समाप्त होने के बाद, आपको आमतौर पर पहले वर्ष में प्रत्येक तीन माह में नियमित चैक-अप करवाने के लिए आमंत्रित किया जाएगा।

यदि आपको पहले स्तन कैंसर हुआ है, आपकी हेल्थेकयर टीम आपके उपचार पूरा होने के बाद आपके साथ मिलकर एक देखभाल योजना पर सहमति प्रदान करेगी।

इस प्लान में आपके फॉलो-अप के विवरण होते हैं। आपको प्लान की एक प्रति प्राप्त होगी, जिसे आपके डॉक्टर को भी भेजा जाएगा।

चैक-अप के दौरान, आपके डॉक्टर आपकी जाँच करेंगे और यह देखने के लिए रक्त परीक्षण या एक्स-रे कर सकते हैं कि आपका कैंसर इलाज के प्रति कैसी प्रतिक्रिया करता है।

आपके उपचार के बाद पहले पाँच वर्षों के लिए आपको प्रत्येक वर्ष एक मेमोग्राम करवाने की पेशकश की जाएगी।

लंबी अवधि की जटिलताएँ

य‍द्यपि यह दुलर्भ होता है, स्तन कैंसर के लिए आपके उपचार के कारण नई समस्याएं पैदा हो सकती हैं, जैसे:

  • सर्जरी के बाद आपकी बांहों और कंधों में पीड़ा और कड़ापन पैदा हो सकते हैं, और इन क्षेत्रों में त्वचा सख्त हो सकती है
  • अतिरिक्त लिम्फ तरल का निर्माण जिसके कारण सूजन हो सकती है (लिम्फोडेमा) – यह पैदा हो सकते हैं यदि सर्जरी या रेडियोथैरेपी बगल में लिम्फेटिक प्रवाह प्रणाली को क्षतिग्रस्त कर देती है

यदि आपके ये अथवा उपचार के अन्य लंबी-अवधि के प्रभाव महसूस हों तो आपकी हेल्थकेयर टीम के साथ बातचीत करें।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : लिम्फोडेमा
  • कैंसर रिसर्च UK : स्तन कैंसर फॉलो-अप
  • Macmillan कैंसर सहायता : स्तन कैंसर उपचार के बाद फॉलो-अप

उपचार के बाद आपका शरीर और स्तन

आपके शरीर में बदलावों का सामना करना

स्तन कैंसर का रोग-निदान इसमें बदलाव कर सता है कि आप अपने शरीर के बारे में कैसे सोचते हैं। सभी महिलाएं शारीरिक बदलावों के बारे में अलग ढंग से सोचती हैं जो एक स्तन कैंसर उपचार के परिणामस्वरूप होते हैं।

कुछ महिलाएं सकारात्मक प्रतिक्रियाएं करती हैं, लेकिन अन्य के लिए इसका सामना करना मुश्किल होता है। यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने शरीर में होने वाले बदलावों के साथ सामान्य होने में स्वयं को समय दें।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : स्तन कैंसर उपचार के बाद आपका शरीर
  • healthtalk.org: शरीर की छवि
  • Macmillan कैंसर सहायता : स्तन कैंसर उपचार के बाद प्रभाव

समयपूर्व रजोनिवृत्ति

यद्यपि ज्यादातर मामलों में स्तन कैंसर 50 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं में होता है जिन्हें रजोनिवृत्ति हो चुकी है, कुछ युवा महिलाओं को भी कैंसर उपचार के बाद समयपूर्व रजोनिवृत्ति का सामना करना पड़ता है।

लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:

ऐसे किसी भी लक्षण के लिए आपकी हेल्थकेयर टीम के साथ बातचीत करें और वे सहायता करने में सक्षम होंगे।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : उपचार के बाद रजोनिवृत्ति संबंधी लक्षण
  • कैंसर रिसर्च UK : स्तन कैंसर और रजोनिवृत्ति संबंधी लक्षण
  • Macmillan कैंसर सहायता : स्तन कैंसर उपचार और रजोनिवृत्ति संबंधी लक्षण

कृत्रिम अंग

एक बाह्य ब्रेस्ट प्रोस्थीसिस एक कृत्रिम स्तन होता है, जिसे आपकी ब्रा के अंदर उस स्तन का स्थान भरने के लिए पहना जाता है जिसे निकाल दिया गया हो।

स्तन-उच्छेदन के शीघ्र बाद, आपको एक हल्के वजन का फोम से बना स्तन उस समय पहनने के लिए दिया जाता है जब तक सर्जरी या रेडियोथैरेपी से प्रभावित क्षेत्र ठीक नहीं हो जाता है।

इसके ठीक होने के बाद, आपको एक सिलिकोन कृत्रिम अंग की पेशकश की जाएगी। कृत्रिम अंग विभिन्न आकृतियों और आकारों में आते हैं और आप ऐसा खोजने में सक्षम होंगे जो आपके लिए अनुकूल हो।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : स्तन कृत्रिम अंग
  • कैंसर रिसर्च UK : आपकी स्तन कैंसर सर्जरी के बाद: आपके कृत्रिम स्तन की आकृति (प्रोस्थीसिस)

पुर्नरचना

यदि स्तन-उच्छेदन के तुरंत बाद आपके स्तन की पुर्नरचना नहीं की गई है तो, आपकी इसकी पुर्नरचना बाद में करवा सकते हैं। इसे विलंबित पुर्नरचना कहा जाता है।

स्तन पुर्नरचना की दो मुख्य विधियां हैं:

  • आपके अपने ऊतक इस्तेमाल करके पुर्नरचना
  • एक इंप्लांट उपयोग करके पुर्नरचना

आपके लिए सबसे अनुकूल प्रकार बहुत से कारकों पर निर्भर करेगा, इनमें आपका किया गया उपचार, कोई अन्य जारी उपचार, ओर आपके स्तनों का आकार शामिल हैं। अपनी हेल्थेकयर टीम से बात करें कि कौन सी पुर्नरचना आपके लिए अनुकूल है।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : स्तन पुर्ननिर्माण
  • कैंसर रिसर्च UK : स्तन पुर्नरचना के बारे में

संबंध और सेक्स

परिवार ओर दोस्तों के साथ संबंध

आपके लिए, या आपके परिवार और दोस्तों के लिए कैंसर के बारे में बात करना सहज नहीं है। आपको महसूस हो सकता है कि आपके आसपास कुछ लोग अजीब महसूस करते हैं या आपसे बचते हैं।

आप कैसा महसूस करते हैं इस बारे में खुले मन से स्वीकारें और आपके परिवार और दोस्त मदद करने के लिए क्या कर सकते हैं उन्हें सहज बनाएं। परंतु, उन्हें यह बताने से मत डरें कि आपको स्वयं अपने लिए कुछ समय चाहिए, यदि आपको ऐसा कुछ चाहिए।

अधिक जानना चाहते हैं?

आपकी सेक्स लाइफ

स्तन कैंसर और इसका उपचार आपकी सेक्स लाइफ को प्रभावित कर सकता है। स्तन कैंसर उपचार के बाद महिलाओं की सेक्स में रूचि नहीं होना बहुत सामान्य है।

आपका उपचार आपकी भावनाओं के लिए बहुत थकाने वाला होता है। कैंसर का निदान किए जाने की जानकारी होने पर आप हैरान, भ्रमित या निराश हो सकते हैं।

आप अपने शरीर में होने वाले बदलावों, या अपने स्तनों के ख़राब होने या कुछ मामलों में, प्रजनन क्षमता खोने से परेशान हो सकते हैं।

यह समझ में आता है कि इन सभी का सामना करते हुए आपका सेक्स करने को मन नहीं हो सकता है। अपने जीवनसाथी के साथ अपनी भावनाएँ साझा करने की कोशिश करें।

यदि आपको सेक्स में समस्याएं हैं जो समय के साथ ठीक नहीं हो रही हैं, आप एक सलाहकार या सेक्स थैरेपिस्ट से बात करने की इच्छा कर सकते हैं।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन केंसर देखभाल : संबंध और परिवार
  • Macmillan कैंसर सहायता : कैंसर और सेक्सुअलटी

अन्य लोगों के साथ बात करें

आपके डॉक्टर या नर्स आपके कैंसर या उपचार संबंधी किसी प्रश्नों का उत्तर देने में समर्थ हो सकते हैं।

एक प्रशिक्षित सलाहकार या मनोचिकित्सक के साथ, या एक स्पेशलस्टि हेल्पलाइन पर किसी से बातचीत करना आपको मददगार लग सकता है। आपके सर्जरी डॉक्टर के पास इनके बारे में जानकारी होगी।

कुछ लोगों के लिए अन्य लोगों के साथ बातचीत करना मददगार लगता है जिन्हें स्तन कैंसर हुआ हो, एक स्थानीय सहायता समूह में या एक इंटरनेट चैट रूम में।

अधिक जानना चाहते हैं?

  • स्तन कैंसर देखभाल : किसी व्यक्ति के साथ बात करें

Macmillan कैंसर सहायता : ऑनलाइन समुदाय

NHS Logo
शीर्ष पर लौटें