स्तन का फोड़ा

प्रस्तावना

स्तन का फोड़ा मवाद का एक दर्दनाक जमाव है जो स्तन में बनता है। अधिकतर फोड़े त्वचा के बिलकुल नीचे विकसित होते हैं और किसी जीवाणु संक्रमण से उत्पन्न होते हैं।

स्तन का फोड़ा मवाद का एक दर्दनाक जमाव होता है जो स्तन में बनता है।

अधिकतर फोड़े त्वचा के बिलकुल नीचे विकसित होते हैं और किसी जीवाणु संक्रमण से उत्पन्न होते हैं।

स्तन के फोड़े दर्दनाक, सूजे हुए उभार है जो निम्न भी हो सकते हैं :

● लाल

● गरम

● इर्द-गिर्द की त्वचा का सूजना

● उच्च ज्वर होना

स्तन का फोड़ा किस कारण होता है?

स्तन के फोड़े अक्सर स्तन की सूजन से जुड़े होते हैं, एक परिस्थिति जो स्तन में दर्द और सूजन उत्पन्न करती है, और समान्यत: [स्तनपान] करवाने वाली महिलाओं को पीड़ित करती है।

यदि जीवाणु आपके स्तन मांस-तंतु में प्रवेश करते हैं तो स्तनपान के दौरान, संक्रमण उत्पन्न हो सकता है, अथवा यदि दूध वाहिनी (छोटी ट्यूब जो दूध ले जाती है) बंद हो जाये। इससे स्तन में सूजन हो सकती है जो, यदि उपचार न किया जाये, फोड़ा बना सकती है।

स्तनपान न करवाने वाली महिलाओं के स्तन में भी सूजन हो सकती है। ऐसा मुमकिन है जब जीवाणु किसी सूजे अथवा क्रैक निप्पल के माध्यम से दूध वाहिनीयों अथवा किसी निप्पल के छेद में प्रवेश करते हैं

संक्रमण पर आक्रमण के लिए श्वेत रक्त कोशिकाएं भेजी जाती है जो संक्रमण के स्थान पर मांस-तन्तु को मार देतीे हैं। इससे एक छोटा, खोखला क्षेत्र बन जाता है जिसमें मवाद (एक फोड़ा) भर जाती है।

स्तन के फोड़े किस से बनते हैं के बारे में अधिक अध्ययन करें।

अपने डॉक्टर को कब संपर्क करें

यदि आपके स्तन लाल और सूजे हुये हैं तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यदि आपके स्तन में सूजन है, तो आपको संक्रमण के उपचार के लिये एंटिबायोटिक्स लेने का परामर्श किया जा सकता है।

एंटिबायोटिक्स लेने के पश्चात यदि आपके लक्षण बने रहते हैं, तो आपके डॉक्टर आपको एक अल्ट्रासाउंड स्कैन के लिये रेफ़र कर सकते हैं जिससे यह निश्चित होगा कि आपको स्तन का फोड़ा है। इस प्रकार का स्कैन आपके शरीर के भीतर का चित्र सृजन करने के लिये उच्च-बारंबारता ध्वनि तरंगो का प्रयोग करता है।

स्तन के फोड़ों का उपचार

यदि आपके स्तन में फोड़ा है तो इसे खाली करना ज़रूरी स्तन के छोटे फोड़ें एक सुई और सिरिन्ज का प्रयोग करके खाली किये जा सकते हैं। स्तन के अधिक बड़े फोड़ों के लिये, मवाद को खाली करने के लिये एक छोटा चीरा लगाना पड़ेगा।

दोनों पद्धतियों के लिये, सामान्यत: फोड़े के इर्द-गिर्द एक स्थानीय अनेस्थेटिक दिया जायेगा ताकि आप कोई दर्द अथवा असुविधा महसूस न करें।

स्तन के फोड़ों का उपचार कैसे किया जाता है इसके बारे में अधिक अध्ययन करें।

कारण

अधिकतर स्तन के फोड़े स्तन में सूजन की जटिलता से उत्पन्न होते हैं, यह एक जीवाणु-संबंधी संक्रमण है जो स्तन को लाल और सूजा हुआ बना देता है।

सामान्यत: स्तन में सूजन महिलाओं के स्तनपान को प्रभावित करता है परन्तु कभी-कभी यह उन महिलाओं में भी हो सकता है जो स्तनपान नहीं करवाती हैं।

सिगरेट पीने वाली महिलाओं में गैर-स्तनपान सूजन विकसित होने का अधिक जोखिम होता है। इस परिस्थिति को पेरिडक्टल मस्तितिस (मैस्टाइटिस) कहते है।

जीवाणु-संबंधी संक्रमण

अधिकतर फोड़े जीवाणु-संबंधी संक्रमण (बैक्टीरिआ) से उत्पन्न होते हैं। सामान्यत: स्तन में जीवाणु निप्पल की त्वचा में कभी-कभी स्तनपान के दौरान विकसित हुये छोटे क्रैकं अथवा दरारों से प्रवेश करते हैं।

दूध वाहनियों (स्तन के भीतर दूध ढोने वाली छोटी-छोटी ट्यूबें) के भीतर अहानिकारक जीवाणुओं की अतिवृद्धि से भी संक्रमण उत्पन्न हो सकता है। यदि ठहरा हुआ दूध दूध-वाहिनी में इकट्ठा हो जाता है तो जीवाणुओं की अतिवृद्धि हो सकती है।

जब आपके शरीर में जीवाणु प्रवेश करते हैं, तो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (शरीर की प्राकृतिक सुरक्षा) प्रभावित क्षेत्र में उनसे लड़ने के लिए श्वेत रक्त कोशिकाएं भेजने का प्रयास करती है। जब श्वेत रक्त कोशिकाएं जीवाणुओं पर आक्रमण करती हैं, तो संक्रमण के स्थान पर कुछ मांस-तन्तु मर जाते हैं जिससे एक छोटा, खोखला पॉकेट बन जाता है।

पॉकेट में मवाद भरनी आरम्भ हो जाती है जिससे फोड़ा बन जाता है। मवाद में मरे हुए मांस-तन्तु, श्वेत रक्त कोशिकाएं और जवाणुओं का मिश्रण होता है। जैसे-जैसे संक्रमण बढ़ता है, अधिक मवाद बनने से फोड़ा बड़ा और अधिक दर्दनाक होता जाता है।

उपचार

यदि आपका स्तन लाल और दर्दनाक है तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिये।

सामान्यत: स्तन का फोड़ा स्तन की सूजन के कारण उत्पन्न जटिलताओं के कारण बनता है।

यदि आपके स्तन में सूजन है, तो संक्रमण का उपचार करने के लिये एंटिबायोटिक्स लेने का परामर्श दिया जाता है। यदि आपके लक्षणों में सुधार नहीं आता है, तो आपको अपने डॉक्टर के पास लौटना होगा।

यदि आपका स्तन एंटिबायोटिक्स लेने के बाद भी सख्त, लाल और दर्दनाक है, तो आपके डॉक्टर स्तन के फोड़े के रोग-निदान की पुष्टि करने हेतु आपको किसी विशेषज्ञ स्तन यूनिट को रेफ़र कर सकते हैं।

सामान्यत: रोग-निदान की पुष्टि अल्ट्रासाउंड स्कैन के प्रयोग से की जाती है। इस प्रकार का स्कैन आपके शरीर के भीतर का चित्र सृजन करने के लिये उच्च-बारंबारता ध्वनि तरंगो का प्रयोग करता है।

स्तन के फोड़ों को खाली करना

यदि स्तन के फोड़े की पुष्टि हो जाती है, तो सामान्यत: इसे खाली करके सफलतापूर्वक उपचार किया जा सकता है।

छोटे फोड़ों को एक सुई और सिरिंज के प्रयोग से खाली किया जा सकता है। सुई को गंतव्य स्थान तक पहुँचाने के लिये अल्ट्रासाउंड का प्रयोग किया जा सकता है।

स्तन के अधिक बड़े फोड़ों के लिये, फोड़े में एक छोटा चीरा लगाया जा सकता है ताकि मवाद निकाली जा सके।

दोनों पद्धतियों के लिये, संक्रमित स्तन मांस-तन्तु के इर्द-गिर्द त्वचा के क्षेत्र को सुन्न करने के लिये स्थानीय अनेस्थेटिक का प्रयोग किया जा सकता है। यदि फोड़ा विशेष रूप से गहरा न हो, तो सामान्यत: जनरल अनेस्थेटिक की आवश्यकता नहीं होती है।

स्तन समस्याओं का रोग-निदान करना

यदि आप अपने स्तनों में स्तन ढेला अथवा आपके निप्पल से स्राव (द्रव रिसाव) जैसे कोई परिवर्तन महसून करें, तो सदैव अपने डॉक्टर से संपर्क करें। कुछ मामलों में इस प्रकार के लक्षण स्तन कैंसर के संकेत हो सकते हैं।

यदि आपके स्तन के ऊपर कोई ढेला है, तो अल्ट्रासाउंड स्कैन और मैमोग्राम (स्तन X-रे) सहित आंकलन के लिये आपको स्तन क्लीनिक में रेफ़र किया जायेगा।

NHS Logo
शीर्ष पर लौटें