क्या आप कोरोना वायरस को लेकर चिंतित हैं? इसके बारे में जानकारी हासिल करने के लिए हमारे कोरोनावायरस हब पर जाएँ.

×
Your.MD के सभी लेखों (A-Z) की समीक्षा प्रमाणित डॉक्टरों द्वारा की जाती है

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण(Bacterial vaginosis)

सामग्री

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण क्या है?

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण एक आम अवस्था है लेकिन इस अवस्था को कम ही समझा गया है. ऐसी अवस्था में योनि के अंदर के बैक्टीरिया के संतुलन बिगड़ जाते हैं.

सामान्यत BV(bacterial वैजिनोसिस) की वजह से योनि में खुजली या पीड़ा नहीं होता हैं लेकिन योनि से अस्वाभाविक स्राव हो सकता है. अगर आपको ऐसी समस्या है तो हो सकता है आपके स्राव में :

  • मछली जैसे तीव्र बदबू हो खास करके संभोग के बाद
  • आपका स्राव सफेद या भूरे रंग का हो
  • आपका स्राव पतला और पानी जैसा हो

ज्यादातर महिलाओं के लिए बैक्टीरीयल वैजिनोसिस घातक नहीं होता है यद्यपि यह चिंता क विषय बन सकता है अगर यह लक्षण गर्भ अवस्था में देखा जाता है और अगर आपको गर्भावस्था में समस्या होने की इतिहास हो.

आधे से ज्यादा औरतों मैं बैक्टीरीयल वैजिनोसिस के कारण कोई भी लक्षण नहीं दिखाई देता है।

डॉक्टर की सलाह कब कब लेनी चाहिए

अगर आप अपने योनि से किसी भी तरह के असामान्य स्राव देखते हैं खास करके अगर आप गर्भवती है तो आप अपने डॉक्टर या यौन स्वास्थ्य संबंधित या जननांग चिकित्सा क्लिनिक में जाए. यह इसलिए जरूरी है ताकि जांच से पता चले आपको दूसरे संक्रमण है या नहीं और उन समस्याओं से आपको बचाए जाए.

डॉक्टर आपको आपके लक्षणों के बारे में पूछेंगे और हो सकता है आपके योनि का भी जांच करें कुछ मामलों में प्लास्टिक लूप या स्वैब (swab) के सहायता से आपके योनि स्राव का नमूना लिया जाएगा जिससे इनमें बीवी (BV) के लक्षण है या नहीं यह जांच किया जा सके.

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण की पहचान के बारे में और पढ़ें

यह क्यों होता है

योनि में स्वाभाविक रूप से कई अलग-अलग जीवाणुओं का मिश्रण सम्मिलित होता है. बीवी(BV) के मामलों में, कुछ जीवाणुओं की संख्या बढ़ जाती है, जिससे योनि में रसायनों का संतुलन बिगड़ जाता है.

जीवाणुओं के स्तर में ये परिवर्तन किस वजह से होता है यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है. बीवी (BV) को यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) के रूप में वर्गीकृत नहीं किया जाता है, लेकिन यदि आप यौन सम्बन्ध में अधिक सक्रिय होते हैं तो संक्रमण बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है. बीवी(BV) से संक्रमित महिलाएं अन्य महिलाओं को भी संक्रमित कर सकती है जिनके साथ वे यौन संबंध रखती हैं, हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि यह कैसे होता है.

पर इसका कोई सबूत नहीं मिला है की बीवी (BV) से संक्रमित महिलाये अपने पुरुष साथी को यौन सम्बन्ध द्वारा संक्रमित कर सकती है. कई अन्य कारण भी हैं जो बीवी(BV) के विकास के जोखिम को बढ़ा सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • सुगंधित साबुन का उपयोग या बबल स्नान करना
  • एक इंट्रायूट्राइन डिवाइस (आईयूडी) का लगा होना
  • योनि दुर्गन्धरोधी स्प्रे का उपयोग करना

बीवी (BV) उन महिलाओं में अधिक आम है जो गर्भनिरोधक अंतर्गर्भाशयी यंत्र का उपयोग करती हैं जो योनि की सफाई(योनि को साफ करना) करती हैं. बैक्टीरीयल वैजिनोसिस के कारणों के बारे में और पढ़ें.

बैक्टीरीयल वैजिनोसिस का इलाज

बीवी (BV) का इलाज आप आमतौर पर एंटीबायोटिक (antibiotic) गोलियों के एक छोटे कोर्स या एंटीबायोटिक(antibiotic) मलहम को आप अपनी योनि के भीतर लगाकर सफलतापूर्वक इलाज कर सकते है.

ज्यादातर मामलों में, पांच से सात दिनों के लिए आपको दिन में दो बार एंटीबायोटिक(antibiotic) गोलियां लेने का निर्देश दिया जा सकता है.

हालाँकि, बीवी (BV) की पुनरावृति आम समस्या है. आमतौर पर तीन महीने के भीतर क्टीरीयल वैजिनोसिस का सफलतापूर्वक इलाज करने वाली आधी से अधिक महिलाओं को इनके लक्षण वापस दिखाई पड़ते हैं, जिन महिलाओं में बीवी(BV) के लक्षण निरंतर दिखाई पड़ते हैं, उन्हें जननांग चिकित्सा विशेषज्ञ(GUM) के पास भेजा जा सकता है.

योनि में बैक्टीरीयल वैजिनोसिस के इलाज के बारे में और पढ़ें.

योनि में बैक्टीरीयल वैजिनोसिस की समस्याएं

यदि बीवी (BV) गर्भावस्था में विकसित होती है, तो यह गर्भावस्था से संबंधित समस्याएं, जैसे समय से पहले बच्चे का जन्म या गर्भपात के खतरे को बढ़ा सकती है.

हालांकि, यह जोखिम छोटा है पर उन महिलाओं को ये संक्रमण होने की सम्भावना ज्यादा होती है, जिन्हें पिछली गर्भावस्था में ये समस्या हो चुकी हैं. बीवी (BV) के कारण अधिकांश प्रेग्नन्सी में कोई समस्या नहीं होती है.

एहतियात के तौर पर, यदि आप गर्भवती हैं और आपको योनि स्राव शुरू हो जाता है, तो आपको अपने डॉक्टर या जननांग चिकित्सा क्लिनिक से संपर्क करना चाहिए. (हालाँकि गर्भावस्था में योनि स्त्राव एक सामान्य प्रक्रिया है) योनि में बैक्टीरियल संक्रमण से आपको कुछ एसटीआई (STI) होने का खतरा भी बढ़ सकता है.

बैक्टीरीयल वैजिनोसिस की समस्यायों के बारे में और पढ़ें.

बैक्टीरीयल वैजिनोसिस को कैसे रोकें

बीवी (BV) के कारणों को पूरी तरह से समझा नहीं गया है, इसलिए इसे पूरी तरह से रोकना संभव नहीं है.

यदि आप इन चीज़ों से परहेज़ करते है तो आपको संक्रमण होने का खतरा कम हो जाएगा:

  • सुगंधित साबुन, सुगंधित झागदार स्नान और एंटीसेप्टिक तरल साबुन का उपयोग करना
  • योनि दुर्गन्धरोधी स्प्रे का उपयोग करना
  • योनि को धोना(Vaginal douching)
  • अपने अंडरवियर को धोने के लिए कड़े डिटर्जेंट पाउडर का उपयोग करना

ये आपकी योनि में नैसर्गिक बैक्टीरिया के संतुलन को बिगाड़ सकते हैं, जिससे बैक्टीरीयल वैजिनोसिस (BV) होने का खतरा बढ़ सकता है

जीवाणु(bacteria)

जीवाणु छोटे, एक-कोशिका वाले जीव हैं जो शरीर में रहते हैं. कुछ बीमारी और रोग का कारण बन सकते हैं, और कुछ आपके शरीर के लिए अच्छे होते हैं.

यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई,STI)

एसटीआई (STI) ऐसी बीमारी है जो यौन सम्बन्ध बनाने से फैलती है, जैसे कि योनि, ओरल या गुदा संबंध द्वारा

योनि

योनि मांसपेशी की एक नलिका है जो गर्भाशय ग्रीवा (गर्भ द्धार) से लेकर योनिमुख (बाहरी यौन अंग) तक संचालित होती है.

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण की पहचान

यदि आपके योनि से असामान्य स्राव हो रहा है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करे या किसी यौन स्वास्थ्य या जननांग संबंधी चिकित्सा (जीयूएम) क्लिनिक में जाएं.

यह निर्धारित करना महत्वपूर्ण होता है कि कही आपको बैक्टीरीयल वैजिनोसिस(BV) तो नहीं है या फिर इसी के सामान कोई और लक्षण जैसे कि ट्राइकोमोनिएसिस( trichomoniasis) या गोनोरिया(gonorrhoea). ये दोनों भी असामान्य योनि स्राव का कारण बन सकते हैं.

महिलाओं को बैक्टीरीयल वैजिनोसिस का परीक्षण कभी-कभी गर्भावस्था के दौरान या कुछ चिकित्सीय प्रक्रियाओं से पहले कराया जाता है.

परिक्षण

आपका डॉक्टर या पेशेवर स्वास्थ्यकर्मी आपके लक्षणों के विवरण से और आपकी योनि की जांच करके बीवी (BV) की पहचान कर सकते है. विशेष रूप से, इस पर गौर करेंगे:

  • पतला और भूरा योनि स्राव
  • दुर्गंध

कुछ मामलों में, यह आपके संक्रमण की पहचान करने के लिए पर्याप्त हो सकता है. हालाँकि, आपको अन्य परीक्षणों की आवश्यकता हो सकती है यदि आप यौन संबंध में सक्रिय हैं तो आपको इसके अलावा यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) भी हो सकता है

जांच

आपके योनि के दीवार से एक प्लास्टिक लूप या स्वैब के सहायता से आपके कोशिकाओं का एक नमूना लिया जा सकता है. स्वैब एक कॉटन बड के तरह दिखता है लेकिन छोटा नरम और गोलाकार होता है.

एक स्वैब या लूप, स्राव और कोशिकाओं के नमूने को संग्रह करता है. इस प्रक्रिया में ज्यादा समय नहीं लगता है और इससे कोई दर्द नहीं होता है. यद्यपि कुछ पल के लिए आपको थोड़ा अटपटा अनुभव हो सकता है.

इन नमूनों की जांच से बैक्टीरीयल वैजिनोसिस(BV) के लक्षणों का पता लगाया जाता है. कुछ केंद्रों में, परिणाम तुरंत उपलब्ध हो सकता है, लेकिन यदि प्रयोगशाला में नमूना भेजा जाता है तो परिणाम प्राप्त करने में एक सप्ताह तक का समय लग सकता है.

आपकी योनि की एसिडिटी (पीएच) का स्तर भी मापा जा सकता है. आपकी योनि के अंदर से स्वैब लिया जाएगा और उसे रासायनिक कागज के एक टुकड़े पर परखा जाएगा. यह रासायनिक पेपर आपके पीएच स्तर के आधार पर रंग बदलता है. 4.5 से अधिक पीएच स्तर होने का संकेत है कि आप बैक्टीरीयल वैजिनोसिस (BV) से ग्रसित हो सकते है.

जीवाणु

जीवाणु छोटे, एक-कोशिका वाले जीव हैं जो शरीर में रहते हैं. कुछ बीमारी और रोग का कारण बन सकते हैं, और कुछ आपके शरीर के लिए अच्छे होते हैं.

यौन संचारित संक्रमण (STI)

एसटीआई (STI) ऐसी बीमारी है जो यौन सम्बन्ध बनाने से संक्रमित होती है, जैसे कि योनि, ओरल या गुदा संबंध द्वारा

योनि

योनि मांसपेशी की एक नलिका है जो गर्भाशय ग्रीवा (गर्भ द्धार) से लेकर योनिमुख (बाहरी यौन अंग) तक संचालित होती है.

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण का इलाज

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण (बीवी) (BV) को एंटीबायोटिक दवाओं से सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है.

वर्तमान में कोई सबूत नहीं है कि प्रोबायोटिक्स (probiotic), जो कुछ योगहर्ट्स में पाए जाते हैं, वह बीवी (BV) का इलाज या रोकथाम करने में सक्षम हैं.

एंटीबायोटिक्स

बीवी (BV) के उपचार के लिए मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) सबसे आम और पसंदीदा एंटीबायोटिक दवा है. यह तीन रूपों में उपलब्ध है. वो इस प्रकार हैं:

- दिन में दो बार पांच से सात दिनों तक गोलियां लेनी पड़ सकती है 
- एक बड़ी मात्रा वाली गोली जो आप केवल एक बार ले सकते है 
- एक मलहम जो आप अपनी योनि पर दिन में एक बार पांच दिन तक लगा सकते हैं.

ज्यादातर मामलों में, पांच से सात दिनों तक मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) की गोली खाने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इन्हे सबसे प्रभावी उपचार माना जाता है. यदि आप में गर्भवती होने के दौरान बीवी (BV) के लक्षण पाए जाते हैं तो इन्हें लिया जा सकता है.

यदि आप स्तनपान करा रही हैं, तो आमतौर पर मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) जेल की सलाह दी जाती है, क्योंकि गोलियां आपके स्तन के दूध को प्रभावित कर सकती हैं.

कभी-कभी, मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) के बजाय एक वैकल्पिक एंटीबायोटिक की सलाह दी सकती है, जैसे कि क्लींडामाइसिन (clindamycin) क्रीम. इसे सात दिनों के लिए दिन में एक बार योनि के भीतर लगाना होता है. उदहारण के लिए, अगर मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) से अतीत में आपको इस दवा से कोई रिएक्शन हुआ हो तो क्रीम लगाने की सलाह दी जा सकती है.

जो भी एंटीबायोटिक्स का कोर्स आपको दिया जाए उसे पूरा करना ज़रूरी है. भले ही आप बेहतर महसूस करना शुरू कर दें. इससे इन लक्षणों को जड़ से ख़त्म करने और इसकी पुनरावृति को रोकने में मदद मिलेगी.

दुष्प्रभाव

मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) से आपको मतली, उल्टी और मुँह में मामूली धातु का स्वाद महसूस हो सकता है. खाना खाने के बाद इसे लेना सबसे बेहतर है. यदि आपको दवा लेने से उल्टी शुरू हो जाती हैं तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें. वे उपचार के अन्य विकल्प को आजमाने की सलाह दे सकते हैं.

मेट्रोनिडाजोल(Metronidazole) एंटीबायोटिक दवा के कोर्स के दौरान और समाप्त करने के बाद कम से कम 48 घंटे तक शराब न पिए. इस दवा को लेने के दौरान शराब पीने से अधिक गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं.

अन्य उपाय

कुछ महिलाओं का प्रारंभिक उपचार का कोर्स करने से बीवी (BV)का इलाज़ नहीं हो पाता है.

यदि आपका प्रारंभिक उपचार असफल रहा है, तो आपके डॉक्टर को यह जांचने की आवश्यकता होगी कि आपने दवा को सही तरीके से लिया है या नहीं. यदि आपने दवा नियमित ली है तो आपको ऊपर दिए गए अन्य विकल्पों में से एक निर्धारित किया जा सकता है.

यदि आपके शरीर में इंट्रायूट्राइन डिवाइस (आईयूडी) (intrauterine device (IUD) लगा है जो आपके बीवी (BV) में योगदान दे सकता है. तो आपके डॉक्टर इसे हटाने और गर्भनिरोधक के अन्य विकल्पों का उपयोग करने की सलाह दे सकते है.

योनि पीएच सुधार उपचार

योनि पीएच सुधार उपचार, बीवी (BV) के इलाज का एक नया तरीका है. इसमें आमतौर पर आपकी योनि के भीतर एक मलहम लगाया जाता है जो एसिड संतुलन को बदल देता है, जिससे यह हानिकारक बैक्टीरिया के लिए प्रतिकूल वातावरण बनाता है. अधिकांश योनि पीएच सुधार उपचार की दवा आप केमिस्ट से बिना पर्ची के ले सकते है.

हालाँकि, यह स्पष्ट नहीं है कि ये उपचार बीवी (BV) के इलाज के लिए कितना प्रभावी हैं. कुछ अध्ययनकर्ताओ ने सुझाव दिया है कि ये प्रभावी हो सकता हैं, जबकि अन्य लोगों का सुझाव है कि ये बिलकुल अप्रभावी हैं या एंटीबायोटिक दवाओं की तुलना में कम प्रभावी हैं.

एक विशेषज्ञ से परामर्श लेना

यदि आपको कम समय में बार-बार बीवी (BV). की पुनरावृति होती है, तो आपके डॉक्टर आपको आगे की जांच और उपचार के लिए एक जननांग चिकित्सा विशेषज्ञ के पास भेज सकते है.

यदि आप गर्भवती हैं, तो आपको अपने दाई या प्रसूति रोग विशेषज्ञ (गर्भावस्था में एक विशेषज्ञ) के पास भेजा जा सकता है, जो आपके उपचार के अन्य विकल्पों पर चर्चा कर सकते हैं.

जीवाणु

जीवाणु छोटे, एक-कोशिका वाले जीव हैं जो शरीर में रहते हैं. कुछ बीमारी और रोग का कारण बन सकते हैं, और कुछ आपके शरीर के लिए अच्छे होते हैं.

सूजन

सूजन आपके शरीर में हुए संक्रमण, जलन या चोट की प्रतिक्रिया है, जिसकी वजह से लालिमा, सुजन, दर्द और कभी-कभी घाव की जगह में जलन उत्पन्न करता है.

यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई, STI)

एसटीआई ऐसी बीमारी है जो यौन सम्बन्ध बनाने से संक्रमित होती है, जैसे कि योनि, ओरल या गुदा संबंध द्वारा

योनि

योनि मांसपेशी की एक नलिका है जो गर्भाशय ग्रीवा (गर्भ द्धार) से लेकर योनिमुख (बाहरी यौन अंग) तक संचालित होती है.

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण के कारण

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण (बीवी) (BV) तब होता है जब आपकी योनि में बैक्टीरिया के नैसर्गिक संतुलन में बदलाव होता है.

आपकी योनि में लैक्टोबैसिली (lactobacilli) नामक बैक्टीरिया होना चाहिए, जो लैक्टिक एसिड का उत्पादन करता है. यह योनि को थोड़ा अम्लीय बनाता है, जो अन्य बैक्टीरिया को वहां बढ़ने से रोकता है. बैक्टीरीयल वैजिनोसिस से ग्रसित महिलाओं में लैक्टोबैसिली की अस्थायी कमी हो जाती है, जिसका अर्थ है कि उनकी योनि उतनी अम्लीय नहीं है जितनी होनी चाहिए. जिसकी वजह से अन्य प्रकार के बैक्टीरिया पनपने लगते हैं.

यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि इस परिवर्तन का क्या कारण है, यद्यपि आपका खतरा बढ़ जाता है अगर आप:

- यौन संबंध में सक्रिय हैं, खासकर के अगर आप किसी एक या कई साथी के साथ यौन संबंध में लिप्त है. 
- एक इंट्रायूट्राइन डिवाइस (आईयूडी) का उपयोग करना - एक गर्भनिरोधक उपकरण जो गर्भ के अंदर स्थापित किया जाता है.
- धूम्रपान करती हैं

इनके कारण अस्पष्ट हैं, बीवी (BV) अन्य जातीय समूहों की तुलना में अश्वेत महिलाओं में होना अधिक आम है.

क्या बीवी (BV) एक एसटीआई (STI) है?

आम तौर पर बीवी (BV) को यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) नहीं माना जाता है, हालाँकि, इस विषय पर परस्पर विरोधी प्रमाण हैं.

साक्ष्य से पता चलता है कि बीवी (BV) एक एसटीआई (STI) हो सकता है:

- बीवी (BV) का अनुपात उन महिलाओं में अधिक हैं जिनके कई लोगों के साथ यौन संबंध हैं.
- बीवी (BV) का अनुपात उन महिलाओं में कम है जो सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करती हैं.

इस बात के भी सबूत हैं कि बीवी (BV) से संक्रमित महिलाएं उन महिलाओं को भी संक्रमित कर सकती हैं, जिनके साथ वे सेक्स करती हैं. हालांकि यह कैसे होता है यह अभी तक स्पष्ट नहीं है. हालाँकि, इसका भी प्रमाण है कि बीवी (BV) एक एसटीआई (STI) नहीं हो सकता है जैसे:

- पुरुषों में बीवी का कोई समकक्ष नहीं है.
  • एंटीबायोटिक दवाओं से पुरुष साथी का इलाज बीवी (BV) की पुनरावृत्ति को नहीं रोक पाता है.
  • बीवी (BV) का अनुपात अलग-अलग जातीय समूहों में अलग-अलग हो सकता हैं, जिन्हें अकेले यौन गतिविधि द्वारा समझा नहीं जा सकता है.
  • बीवी (BV). कभी-कभी उन महिलाओं में भी हो सकता है जो यौन रूप से सक्रिय नहीं हैं

कई विशेषज्ञों का मानना है कि यौन संबंध भी बीवी (BV). में एक भूमिका निभाते है, लेकिन अन्य कारक भी इस संक्रमण के लिए जिम्मेदार हैं.

जीवाणु

जीवाणु छोटे, एक-कोशिका वाले जीव हैं जो शरीर में रहते हैं. कुछ बीमारी और रोग का कारण बन सकते हैं, और कुछ आपके शरीर के लिए अच्छे होते हैं.

यौन संचारित संक्रमण (STI)

एसटीआई ऐसी बीमारी है जो यौन सम्बन्ध बनाने से संक्रमित होती है, जैसे कि योनि, ओरल या गुदा संबंध द्वारा

गर्भाशय

गर्भाशय (या गर्भ) एक महिला में खोखला, नाशपाती के आकार का अंग है जहां गर्भावस्था के दौरान बच्चा विकसित होता है.

योनि

योनि मांसपेशी की एक नलिका है जो गर्भाशय ग्रीवा (गर्भ द्धार) से लेकर योनिमुख (बाहरी यौन अंग) तक संचालित होती है.

योनि में बैक्टीरियल संक्रमण की समस्याएं

बहुतांश महिलाओं का योनि के बैक्टीरियल संक्रमण (बीवी (BV)) का आसानी से इलाज किया जा सकता है और इससे कोई अन्य समस्या नहीं होती है. हालांकि, अगर इसका इलाज ना किया जाये तो इन लक्षणों का विकसित होने का खतरा हो सकता है.

गर्भावस्था के दौरान समस्याएं

कुछ सबूतों के आधार पर ऐसा पाया गया है की बीवी (BV) के लक्षणों का इलाज़ ना करने के कारण गर्भावस्था के दौरान गर्भ से सम्बंधित समस्याओँ का जोखिम बढ़ सकता है, खासकर अगर आपको ये समस्या अतीत में भी हो चुकी हो.

गर्भावस्था संबंधी समस्याएं जो बीवी (BV) से जुड़ी हैं, उनमे शामिल है:

- **समय** **से** **पहले** **जन्म** - जब गर्भावस्था के 37 वें सप्ताह से पहले बच्चे का जन्म होता है
- **गर्भपात** - पहले 23 सप्ताह के दौरान गर्भपात होना 
- **एमनियोटिक** **थैली** **का** **बहुत** **जल्दी** **खुल** **जाना**  - एमनियोटिक थैली तरल पदार्थ का बैग होता है जहाँ एक अजन्मे बच्चे का विकास होता है
- **कोरियोएम्नियोनाइटिस(Chorioamnionitis)** – कोरियोन (chorion) और एमनियन (amnion) झिल्ली (एमनियोटिक थैली को बनाने वाली झिल्ली) और एम्नियोटिक द्रव (भ्रूण के चारों ओर तरल पदार्थ) में संक्रमण 
- **प्रसवोत्तर** **एंडोमेट्रैटिस(Postpartum endometritis)** - जन्म देने के बाद गर्भ परत पर संक्रमण और सूजन, विशेष कर सीजेरियन होने के बाद

अगर आप गर्भवती हैं और आप में बीवी (BV) के लक्षण है तो जल्द से जल्द डॉक्टर को दिखाएं या किसी यौन स्वास्थ्य या जेनिटूरिनरी केंद्र में जाए .यद्यपि आपको समस्या होने का खतरा कम ही है फिर भी चिकित्सा से यह खतरा और भी कम हो सकता है.

अगर बैक्टीरीयल वैजिनोसिस (BV) के कोई लक्षण नहीं है तो यह प्रमाणित नहीं है कि यह आपके गर्भ अवस्था में कोई समस्या पैदा करेगा. अगर आपके गर्भधारण के वक्त यह पता चलता है कि आपको बैक्टीरीयल वैजिनोसिस(BV) है लेकिन उसके कोई लक्षण नहीं है तो आपको इलाज कराने की सलाह नहीं दी जाएगी.

यौन रूप से संक्रामित संक्रमण

इस बात का सबूत हैं कि बीवी (BV). होने से आप यौन संक्रमण (एसटीआई) जैसे क्लैमाइडिया के शिकार हो सकते है. यह संभवतः इसलिए होता है क्योंकि आपकी योनि के अंदर बैक्टीरिया के स्तर में परिवर्तन होने लगता है जिससे संक्रमण के खिलाफ आपकी सुरक्षा में कमी आ जाती है.

पेल्विक इन्फ़्लैमटॉरी डिज़ीज़(Pelvic inflammatory disease)

हालांकि यह लिंक पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है, कुछ सबूत बताते हैं कि बैक्टीरीयल वैजिनोसिस आपके श्रोणि सूजन बीमारी(पीआईडी) के विकास के जोखिम को बढ़ा सकती है. पीआईडी की वजह से संक्रमण और ऊपरी महिला जननांग पथ में सूजन आ जाती है,जिनमे गर्भ, फैलोपियन ट्यूब और अंडाशय शामिल हैं.

पीआईडी(PID) के लक्षणों में शामिल हैं:

- पेट के नीचे  या पेल्विक के आसपास दर्द
- श्रोणि के अंदर सेक्स के दौरान असुविधा या दर्द
- मासिक धर्म के बाद और सेक्स के बाद रक्तस्राव

यदि पीआईडी(PID) की पहचान प्रारंभिक अवस्था में हो जाती है, तो इसका इलाज़ एंटीबायोटिक दवा के कोर्स से सफलतापूर्वक किया जा सकता है. हालांकि, फैलोपियन ट्यूब पर गंभीर घाव के कारण महिलाओं में बांझपन हो सकता है.

यदि आपको पीआईडी (PID) के किसी भी लक्षण का अनुभव होता है, तो अपने डॉक्टर से मिले. उपचार में देरी या पीआईडी (PID) के बार-बार होने से आपमें बांझपन का खतरा बढ़ सकता है.

इन विट्रो फर्टिलाइजेशन(In vitro fertilisation)

जिन महिलाओं को बीवी (BV) है और वे इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) का उपयोग कर रही हैं, उनमें कम सफलता दर और जल्दी गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है.

यदि आप आईवीएफ करवा रहे हैं और बीवी (BV) के लक्षण मिलते हैं, तो अपने डॉक्टर को मिले या अपने प्रजनन विशेषज्ञ से सलाह ले.

बीवी (BV) की पुनरावृति

एंटीबायोटिक दवा से इलाज के बाद बीवी (BV). की पुनरावृति होना आम बात है.

ऐसा अनुमान है कि बीवी (BV). के इलाज के बाद आधी से अधिक महिलाओं में तीन महीने के भीतर फिर से इस के लक्षण विकसित हो जाते है

यदि आपको फिर से बीवी (BV). होता है, तो उपचार के अन्य विकल्पों पर सलाह लेने के लिए अपने चिकित्सक या यौन स्वास्थ्य विशेषज्ञ या जीयूएम क्लिनिक में जाए

जीवाणु

जीवाणु छोटे, एक-कोशिका वाले जीव हैं जो शरीर में रहते हैं. कुछ बीमारी और रोग का कारण बन सकते हैं, और कुछ आपके शरीर के लिए अच्छे होते हैं.

सूजन

सूजन आपके शरीर में हुए संक्रमण, जलन या चोट की प्रतिक्रिया है, जिसकी वजह से लालिमा, सुजन, दर्द और कभी-कभी घाव की जगह में जलन उत्पन्न करता है.

गर्भपात

पहले 23 सप्ताह के दौरान गर्भपात होना

यौन संचारित संक्रमण (STI)

एसटीआई ऐसी बीमारी है जो यौन सम्बन्ध बनाने से संक्रमित होती है, जैसे कि योनि, ओरल या गुदा संबंध द्वारा

ऊतक

शरीर के ऊतक कोशिकाओं के समूहों से बने होते हैं जो एक विशिष्ट कार्य करते हैं, जैसे कि संक्रमण से शरीर की रक्षा करना, गति उत्पन्न करना या वसा का भंडारण करना.

गर्भाशय

गर्भाशय (या गर्भ) एक महिला में खोखला, नाशपाती के आकार का अंग है जहां गर्भावस्था के दौरान बच्चा विकसित होता है.

योनि

योनि मांसपेशी की एक नलिका है जो गर्भाशय ग्रीवा (गर्भ द्धार) से लेकर योनिमुख (बाहरी यौन अंग) तक संचालित होती है.

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk

क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

ऊपर जाएँ

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।