क्या आप कोरोना वायरस को लेकर चिंतित हैं? इसके बारे में जानकारी हासिल करने के लिए हमारे कोरोनावायरस हब पर जाएँ.

×
Your.MD के सभी लेखों (A-Z) की समीक्षा प्रमाणित डॉक्टरों द्वारा की जाती है

गर्भाशय से असामान्य रक्त्स्त्राव (ऐब्नॉर्मल यूटराइन ब्लीडिंग)

विषय-सूची

गर्भाशय से माहवारी के अलावा होनेवाले किसी भी असामान्य या अनियमित ख़ून का आना(ब्लीडिंग) को गर्भाशय का असामान्य रक्त्स्त्राव कहते हैं। ये आपकी माहवारी की नियमितता में होने वाला बदलाव हो सकता है, या ख़ून की मात्रा और/ या इसकी अवधि में में बदलाव हो सकता है । ये भी हो सकता है कि आपको अपनी दो महवारियों के बीच रक्त्स्त्राव (ब्लीडिंग) हो जाए।

एयूबी एक आम समस्या है जो गर्भधारण कर सकने की उम्र वाली तीन महिलाओं में से एक को प्रभावित करती है।

यदि आपके गर्भाशय से किसी भी तरह से रक्त्स्त्राव हो रहा है जो आपकी सामान्य माहवारी से अलग है तो ये महत्वपूर्ण है की आप अपने डॉक्टर से मिलें। अगर डॉक्टर रक्त्स्त्राव की कोई ख़ास वजह नहीं पता लगा सकें, तो इलाज के रूप में एंटी इंफ्लेमेटरी दवाएं और हॉर्मोन थेरेपी जैसे विकल्प उपलब्ध हैं।

लक्षण

एयूबी से हर महिला अलग तरह से प्रभावित होती है। कुछ महिलाओं के लिए, एयूबी निरंतर चलने वाली समस्या हो सकती है जो महीनों तक जारी रह सकती है। कुछ महिलाओं के लिए यह अचानक होने वाला रक्त्स्त्राव हो सकता है, जिसे रोकने के लिए शीघ्र इलाज किया जाना ज़रूरी है।

एयूबी के लक्षणों में शामिल हैं:

  • माहवारी में अधिक रक्त्स्त्राव - इतना अधिक रक्त्स्त्राव होना कि आपके काम और सामाजिक जीवन पर असर पड़े और आपकी शारीरिक और भावनात्मक सेहत पर विपरीत प्रभाव हो।
  • अनियमित माहवारी - आपकी माहवारी सामान्य से कम या ज्यादा हो सकती हैं या बिना किसी नियम के किसी भी समय हो सकती है।
  • माहवारी बिल्‍कुल नहीं आना (3 महीने या उससे अधिक के लिए)
  • औसत से अधिक माहवारी (8 दिन से अधिक) या उससे कम (3 दिन से कम)
  • माहवारी के बीच के दिनों में अनियमित रक्त्स्त्राव
  • यौन संबंध के बाद खून आना
  • आपकी माहवारी शुरू होने से ठीक पहले या खत्म होने के बाद रक्त्स्त्राव होना
  • मीनोपॉज़ (रजोनिवृत्ति) से गुज़रने के बाद ख़ून आना
  • 9 साल की उम्र से पहले रक्त्स्त्राव

कारण

एयूबी के कई कारण हो सकते हैं। एयूबी के कारणों में शामिल हैं :

  • जो होर्मोन आपके अंडाशय से डिम्‍ब (एग) के निकलने की प्रक्रिया (ओव्‍यूलेशन) को नियंत्रित करते हैं, यदि उसके साथ कोई समस्या हो।
  • आपके गर्भाशय या सर्विक्स(cervix) में शारीरिक विषमताएँ(फ़िज़िकल ऐबनोर्मलिटीस) जैसे कि फाइब्रॉइड , पॉलि‍प्स (छोटे टिश्युज़ की ज्‍यादा वृद्धि) या एडेनोमयोसिस (जब गर्भाशय की लाइनिंग के छोटे टुकड़े गर्भाशय के मसल लेयर(muscle layer) में पाए जाएँ)
  • कुछ मेडिकल स्थितियों या खून को पतला करने वाली दवाओं के कारण रक्त्स्त्राव या खून के थक्के जमने की समस्या
  • सर्विक्‍स या गर्भाशय का कैंसर या प्री-कैन्सर
  • कुछ उपचार या दवा, जैसे कि गर्भ निरोधकों या हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी में उपयोग किए जाने वाले हार्मोन
  • सर्विक्‍स या गर्भाशय की लाइनिंग में संक्रमण या सूजन
  • कुछ मेडिकल कंडीशन, जैसे कम सक्रिय थायरॉयड (हाइपोथायरायडिज्म) या यकृत (लीवर) रोग
  • आनुवंशिक स्थितियाँ, जैसे टर्नर सिंड्रोम

बीमारी की पहचान

आपके डॉक्टर आपके लक्षणों और आपके दैनिक जीवन और सामान्य स्वास्थ्य पर पड़ने वाले उनके प्रभाव के में पूछेंगे और साथ ही साथ आपकी मेडिकल हिस्ट्री(कोई पूर्व समस्या या कंडीशन) , यौन(सेक्स) सम्बंधित हिस्ट्री, पिछला गर्भधारण, पारिवारिक मेडिकल हिस्ट्री, दवा और अन्य ज़रूरी बातों के बारे में पूछ कर एयूबी की पहचान कर सकते हैं।

आपके डॉक्टर इन चीजों के द्वारा भी आपकी जांच कर सकते हैं :

  • आपके पेट को छूकर देखना
  • आपकी योनि की अंदरूनी जांच करना (यह स्पेकुलम नामक उपकरण के उपयोग द्वारा किया जाता है)

यदि आपको महिला डॉक्टर से जांच कराने में अधिक आराम महसूस होता है तो आपको इसका विकल्प दिया जा सकता है।

अन्य कारणों की जांच के लिए आम तौर पर किए गए परीक्षणों में शामिल हैं :

  • गर्भावस्था परीक्षण - यदि आप यौन सम्बंध बनाने में सक्रिय हैं (भले ही आप गर्भनिरोधक का उपयोग कर रही हों), ये पता लगाने के लिए की कहीं रक्त्स्त्राव का कारण प्रेग्नन्सी तो नहीं।
  • ब्लड टेस्ट –रक्त्स्त्राव या ऐबनोर्मल खून के थक्कों के आने के बाद एनीमिया की जांच करने के लिए और/या आपके हार्मोन के स्तर को मापने के लिए।
  • गर्भाशय की इमेजिंग - इसमें अल्ट्रासाउंड स्कैन या सोनोहिस्टेरोग्राफी (अल्ट्रासाउंड स्कैन जिसके दौरान थोड़ी सी मात्रा में स्टेरेलाईज़्ड सॉल्‍ट युक्‍त पानी को आपके गर्भाशय में डाला जाता है) शामिल हो सकता है।
  • हिस्टेरोस्कोपी - कैमरे द्वारा आपके गर्भाशय के अंदर का परीक्षण।

इलाज

बिना कारण होने वाले रक्त्स्त्राव परेशान करने वाली समस्या है, पर , ज़्यादातर महिलाओं में उपचार द्वारा इसे ठीक किया जा सकता है।

एयूबी के नियंत्रण के लिए कई तरीकों का उपयोग किया जाता है। ये रक्त्स्त्राव को नियंत्रित करने, आपकी माहवारी को वापस सामान्य करने और एनीमिया जैसी जटिलताओं का इलाज या रोकथाम करने पर केंद्रित हैं।

यदि आपको एयूबी है, तो आपका उपचार विभिन्न बातों पर निर्भर करेगा, जिनमें शामिल हैं :

  • आपकी उम्र
  • आपके रक्त्स्त्राव की मात्रा
  • क्‍या रक्त्स्त्राव का कोई कारण पता है
  • क्या इमेजिंग स्कैन में गर्भाशय की लाइनिंग मोटी दिखाई देती है।
  • क्‍या आप भविष्य में बच्चा पैदा करने की योजना बना रही हैं।

जब रक्त्स्त्राव के सही कारण का पता लगे तो इसका इलाज उसी कारण को ध्यान में रखकर किया जाता है।

उदाहरण के लिए :

  • गर्भाशय में संक्रमण के इलाज के लिए एंटीबायोटिक्स का उपयोग किया जा सकता है
  • सर्विक्स, एंडोमेट्रियल या गर्भाशय के कैंसर के इलाज के लिए सर्जरी, रेडियोथेरेपी या कीमोथेरेपी का उपयोग किया जा सकता है
  • फाइब्रॉइड , पॉलि‍प्स और एडेनोमायोसिस के लिए हार्मोन थेरेपी, सर्जरी की जा सकती है, या बिना किसी उपचार के भी वो ठीक हो सकते हैं।
  • दवा के कारण जो असामान्य खून के थक्के बनते हैं, उनकी वजह से दवा के प्रकार या खुराक में बदलाव की आवश्यकता पड़ सकती हैं, जबकि आनुवंशिक ब्लड क्लॉटिंग डिसऑर्डर में वो दवाएँ दी जा सकती हैं जो खून का थक्का बनने में मदद करती हैं।
  • डॉक्टर किसी भी दवा या उपचार की खुराक, प्रकार, या दवा लेने के समय में बदलाव कर सकते हैं, अगर उन्हें लगे की इसकी वजह से आपको रक्त्स्त्राव हो रहा हो।

यदि डॉक्टरों द्वारा रक्त्स्त्राव के किसी विशेष कारण का पता नहीं चल पता है, तो खून के बहाव को नियंत्रित करने के लिए पांच तरह के उपचार किए जा सकते हैं :

हार्मोन (प्रोजेस्टोजेन और इस्ट्रोजेन)

प्रोजेस्टोजेंस और इस्ट्रोजेन जैसे हार्मोन किसी भी प्रजनन हार्मोन, जो आपके लक्षणों को और बढ़ा सकते हैं, के असंतुलन को ठीक करने में मदद कर सकते हैं । ये हार्मोन माहवारी को नियमित रख सकते हैं, और माहवारी में होने वाले अत्यधिक रक्त्स्त्राव का इलाज कर सकते हैं।

अक्सर इसके लिए कंबाइंड मौखिक गर्भनिरोधक गोली का उपयोग किया जाता है। प्रोजेस्टेरोन उन महिलाओं में रक्त्स्त्राव को कम करने में मदद कर सकता है जिनमें नियमित ओव्यूलेशन नहीं होता है। यह विभिन्न प्रकार में उपलब्ध है, जैसे कि खाने वाली गोलियां, इम्‍प्‍लांट, इंजेक्शन, या प्रोजेस्टेरोन युक्त अंतर्गर्भाशयी प्रणाली (आईयूएस)।

एंटी इंफ्लेमेटरी दवाएँ

कुछ महिलाओं के लिए हार्मोन थेरेपी उपयुक्त नहीं है। उन मामले में, गैर-स्टेरायडल एंटी इंफ्लेमेटरी दवा (एनएसएआईडी) नामक एंटी इंफ्लेमेटरी दवाओं का उपयोग किया जाता है। ये शरीर में हार्मोन जैसे पदार्थ प्रोस्टाग्लैंडीन के उत्पादन को कम करके एयूबी के लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

रक्त्स्त्राव में कमी लाने के लिए दवा

आपके डॉक्टर आपको ट्रैनेक्‍सेमिक एसिड लेने के लिए कह सकते हैं। ये गर्भाशय में खून को थक्के बनने में मदद कर रक्त्स्त्राव की दर को कम कर सकते हैं।

सर्जरी

यदि रक्त्स्त्राव किसी उपचार से नियंत्रित नहीं हो रहा हो तो डॉक्टर सर्जरी कराने का परामर्श दे सकते हैं। यदि आप आगे बच्चे नहीं पैदा करना चाहती हैं तो एंडोमेट्रियल एब्लेशन (गर्भाशय की लाइनिंग के हिस्से को हटाने के लिए हीट या लेज़र का उपयोग करना) या गर्भाशय को पूरी तरह से हटाने की सलाह दी जा सकती है।

यदि रक्त्स्त्राव फाइब्रॉइड या पॉलि‍प्स के कारण होता है, तो इन चीज़ों को हिस्टेरोस्कोपी नामक कीहोल प्रक्रिया के दौरान हटाया जा सकता है ।

यदि डॉक्टरों को लगता है की रक्त्स्त्राव की मात्रा बहुत अधिक है तो आपको उपचार के लिए तत्काल अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता है। इमर्जेन्सी देखभाल में तरल पदार्थ देना शामिल हो सकता है (जिसे ड्रिप के माध्यम से आपकी नसों में दिया जाता है), दवा दी जा सकती है, और अधिक गंभीर मामलों में, अंतिम उपाय के रूप में सर्जरी की जाती है।

माहवारी को टालने की दवा

यदि आपके एयूबी के इलाज के लिए आपको हार्मोन उपचार, सर्जरी, या एंटी इंफ्लेमेटरी दवा नहीं दी जा सकती हैं तो डॉक्टर एक प्रकार की दवा का सुझाव कर सकते हैं जो आपके माहवारी को टाल देती है.

जटिलताएं

एयूबी कितना गंभीर और जटिल हो सकता है ये इस बात पर निर्भर करता है कि आपको कितने समय से रक्त्स्त्राव हो रहा है और खून की कितनी क्षति हुई है।

एयूबी से जुड़ी आम समस्याएँ हैं :

खून की कमी (एनीमिया)

एयूबी से प्रभावित कुछ महिलाओं में अत्यधिक या लंबे समय तक रक्त्स्त्राव होने से आयरन की कमी की वजह से एनीमिया हो सकता है। इसकी पहचान आसानी से खून के परीक्षण द्वारा की जा सकती है और आयरन की गोलियों या नस या मांसपेशी में आयरन इंजेक्‍शन देकर इसका इलाज किया जा सकता है। एनीमिया के अधिक गंभीर मामलों में खून चढ़ाने(ट्रांसफ्यूजन) की आवश्यकता हो सकती है।

गर्भाशय की लाइनिंग की असामान्य वृद्धि

यदि एयूबी को कई वर्षों तक इलाज के बिना छोड़ दिया जाए तो गर्भाशय की लाइनिंग में असामान्य वृद्धि होने का जोखिम होता है। इससे एंडोमेट्रियल हाइपरप्लासिया नामक स्थिति उत्पन्न हो सकती है (जब गर्भाशय की लाइनिंग असामान्य रूप से मोटी हो जाती है) जिससे एंडोमेट्रियल कैंसर होने का जोखिम बढ़ जाता है

दृष्टिकोण

एयूबी एक सामान्य स्थिति है जो गर्भधारण कर सकने की उम्र की हर तीन महिलाओं में से एक को प्रभावित करती है। यह स्थिति चिंताजनक हो सकती है जिसका आपके जीवन की शारीरिक, सामाजिक और भावनात्मक गुणवत्ता पर प्रभाव पड़ सकता है।

यदि आप चिंतित हैं कि आपको एयूबी हो सकता है तो आपको जल्द से जल्द डॉक्टर को दि‍खाना चाहिए।

स्वास्थ्य संबंधी अन्य प्रश्नों के उत्तर जानने के लिए, हमारे स्वास्थ्य A-Z देखें

द्वारा कॉन्टेंट प्रोड्यूस किया गयाYOURMD लोगो

क्या ये लेख आपके लिए उपयोगी है?

ऊपर जाएँ

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।